जरूरतमंद गरीब लोगों को नि:शुल्क गर्म वस्त्र प्रदान करेगा जिला प्रशासन

कुफरी मार्गों की मुरम्मत व रखरखाव के लिए 17 लाख रूपए के प्रारूपों को स्वीकृति प्रदान

शिमला: कुफरी घोड़ा चालक पर्यटन स्थल कुफरी की स्वच्छता एवं सफाई बनाए रखने में अपना पूर्ण सहयोग दें। उपायुक्त शिमला रोहन चंद ठाकुर ने आज कुफरी घोड़ा मालिकों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह विचार व्यक्त किए।

उन्होंने पिछली बैठक की समीक्षा करते हुए कहा कि घोड़ा मालिकों के गठित आठों समूहों को 50 रूपए शुल्क प्रति घोड़ा अदा करने बारे जो निर्देश दिए गए थे, उनकी अनुपालना दृढ़तापूर्वक हो। उन्होंने कहा कि इस आदेश की पालना सभी घोड़ा मालिक सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि साडा को सफाई से प्राप्त होने वाली राशि 11 हजार रूपए प्रति माह से बढ़कर अब इस माह से 40 हजार रूपए हो गई है।

उन्होंने बताया कि कुफरी में घोडो को मुख्य मार्ग के बदले वैकल्पिक मार्ग के लिए रास्ते मुरम्मत का कार्य जल्द पूरा करने के लिए सम्बन्धित विभाग को निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि बैठक में इन मार्गो की मुरम्मत व रखरखाव के लिए 17 लाख रूपए के प्रारूपों को भी स्वीकृति प्रदान की गई हैं। उन्होंने कुफरी में घोड़ा चालकों की गतिविधियों पर नजर रखने व पर्यटकों की सुविधा के लिए मुख्य स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के आदेश भी दिए। रोहन चंद ठाकुर ने सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को आगामी बैठक में कुफरी में पर्यटकों को और बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए घुड़सवारी के व्यवसायियों के लिए आवश्यक नियमावली तैयार कर प्रस्तुत करने को कहा। उपायुक्त ने बताया कि कुफरी में यातायात के नियंत्रण व पर्यटकों की सुविधा के लिए अतिरिक्त पुलिस जवान तैनात किए जाएंगे।

बैठक में सुरेन्द्र जस्टा, उप निदेशक पर्यटन, सदस्य सचिव राजेन्द्र सिंह चौहान, रेंज ऑफिसर प्रवीण शर्मा, एसएचओ कुफरी बाबूराम शर्मा, कनिष्ठ अभियंता नीरज गुप्ता, सफाई निरीक्षक अशोक वर्मा व समस्त घोड़ा समूह के प्रमुख उपस्थित थे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *