ब्लॉग

उयपुर में फंसे 241 लोगों को अस्थाई पुल बनाकर किया रेस्क्यू

केलांग-उदयपुर : केलांग-उदयपुर सड़क पर शांशा नाले पर भारी बाढ़ से क्षतिग्रस्त पुल के चलते उदयपुर की तरफ फंसे लोगों को अस्थायी पैदल पुल बनाकर रेस्क्यू किया गया। उदयपुर सड़क पर शांशा नाले पर भारी बाढ़ से हुए क्षतिग्रस्त पुल के चलते उदयपुर की तरफ फंसे करीब 241 लोगों को आज चलाए गए अभियान में रेस्क्यू करके इस ओर किरतिंग पहुंचा दिया गया। किरतिंग से आगे सड़क आवाजाही के लिए पूरी तरह से बहाल है। दोपहर तक चले इस पूरे अभियान की निगरानी स्वयं तकनीकी शिक्षा, जनजातीय विकास एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ रामलाल मारकंडा ने की। अभियान को पुलिस, होमगार्ड और अग्निशमन के जवानों की टीम द्वारा अंजाम दिया गया जिसकी अगुवाई डीएसपी केलांग हेमंत कुमार ने की। डॉ. रामलाल मारकंडा ने अभियान में जुटी टीम की तारीफ करते हुए कहा कि आपदा के समय जवानों द्वारा किया गया कार्य काबिले तारीफ है। उन्होंने बताया कि जिन लोगों को रेस्क्यू किया गया है, उन्हें हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम की बस के जरिए केलांग भेज दिया गया है। यहां से वे अपने गंतव्य को रवाना हो जाएंगे। 

प्रदेश में RTPCR रिपोर्ट की अनिवार्यता खत्म, राठौर बोले: प्रदेश के लिए हो सकता है बड़ा खतरा साबित

कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रदेश के अस्तित्व को चैलेंज देने और मुख्यमंत्री को राष्ट्रीय ध्वज न फहराने की धमकी पर जताई चिंता

शिमला:. कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने सोशल मीडिया में एक तथाकथित खालिस्तान समर्थक द्वारा प्रदेश के अस्तित्व को चैलेंज देने और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को राष्ट्रीय ध्वज न फहराने बारे दी गई धमकी पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए इस व्यक्ति को तुरंत गिरफ्तार करने व इसे कड़ी सज़ा देने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि इस प्रकार का कोई भी बयान किसी भी स्तर पर सहन नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा है कि हिमाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है और हिमाचल का पूरा भू-भाग प्रदेश का हिस्सा है, जिस पर प्रदेश का अपना पूरा अधिकार है।
राठौर ने मुख्यमंत्री से इस प्रकार की धमकी देने वाले को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि यह प्रदेश के अस्तित्व और उसके स्वाभिमान को चुनौती दी गई है जो सहन नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा है कि प्रदेश में सुरक्षा एजेंसियों को सतर्क करते हुए किसी भी ऐसे व्यक्ति को जो ऐसे बयानों का समर्थन करता हो, उसके खिलाफ देश द्रोह जैसा मामला बना कर उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जानी चाहिए। उन्होंने इस पूरे मामले की जांच करने की मांग करते हुए कहा है कि इसकी तह में जाने की जरूरत है कि कहीं यह कोई राजनीतिक चाल बाजी तो नहीं है। सुरक्षा एजेंसियों को तुरंत इस मामलें की गम्भीरता को देखते हुए प्रदेश में अधिक चौकसी बरतने की भी बहुत जरूरत है।

स्वास्थ्य अधोसंरचना की मजबूती के लिए 24110.40 लाख रुपये का बजट प्रस्तावित

शिमला: कोविड-19 महामारी की संभावित तीसरी लहर से निपटने और स्वास्थ्य संस्थानों के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए राज्य स्वास्थ्य सोसाइटी की कार्यकारिणी समिति ने 24110.40 लाख रुपये का बजट प्रस्तावित किया है।

स्वास्थ्य विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि स्वास्थ्य सचिव की अध्यक्षता में हुई कार्यकारिणी समिति की बैठक में कोविड पाॅजिटिव मामलों के उपचार के लिए आवश्यक दवाओं की खरीद, बफर स्टाॅक के रखरखाव और आवश्यक दवाओं के प्रबंधन के लिए निदेशक स्वास्थ्य सेवाएं और निदेशक, चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान को 12 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि लाहौल और स्पीति और किन्नौर जिलों के लिए 32 बिस्तरों वाली एक समर्पित बाल चिकित्सा देखभाल इकाई का प्रस्ताव किया गया है। इसके अलावा क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर, कुल्लू, सोलन, ऊना, जोनल अस्पताल मंडी, धर्मशाला और शिमला, आईजीएमसी शिमला, मेडिकल काॅलेज और अस्पताल मंडी, टांडा, नाहन, चंबा और हमीरपुर के लिए 42 बिस्तरों वाली बाल चिकित्सा देखभाल इकाई की स्थापना का प्रस्ताव किया गया है। सिविल अस्पताल काजा, पांगी, उदयपुर, डोडरा, भरमौर, शिलाई, कुपवी, नेरवा और पूह में 20 बिस्तरों वाली इकाइयां प्रस्तावित की गईं हैं। यह भी निर्णय लिया गया है कि शिमला, मंडी, टांडा, नाहन, चंबा और हमीरपुर मेडिकल काॅलेजों में 20 अतिरिक्त आईसीयू बिस्तर स्थापित किए जाएंगे।

इसके अलावा, नागरिक अस्पताल देहरा, चौपाल, सरकाघाट, करसोग, अर्की, बगश्याड़, घुमारवीं, डलहौजी, चुवाड़ी, सराहन और पांवटा साहिब में पांच बिस्तरों वाले आईसीयू भी स्थापित किए जाएंगे। इंदौरा, हमीरपुर और नाहन में 100 बिस्तरों वाले फील्ड अस्पताल प्रस्तावित किए गए हैं। इन गतिविधियों के लिए 11935.39 लाख रुपये प्रस्तावित किए गए हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए 1280 लाख रुपये का प्रस्ताव किया गया है। नाहन, हमीरपुर, धर्मशाला, ऊना, कुल्लू, बिलासपुर, सोलन, पालमपुर, खनेरी, चंबा, किन्नौर और रिकोंगपियो में 10 किलो लीटर क्षमता के लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने का प्रस्ताव है। आईजीएमसी शिमला, नेरचैक और चम्याना में 20 किलोलीटर क्षमता के एलएमओ की यूनिट प्रस्तावित की गई है। सरकाघाट और देहरा के लिए भी एलएमओ प्रस्तावित किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य ने पीजी रेजीडेंट्य, यूजी इंटर्न और एमबीबीएस, जीएनएम और बी.एससी विद्यार्थियों को शामिल करे अतिक्ति मानव संसाधन की उपलब्धता बढ़ाने का प्रस्ताव भी दिया है। इसके लिए 2294.10 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। राज्य के सभी 12 जिला अस्पतालों, 36 नागरिक अस्पतालों, आईजीएमसी शिमला की तीन इकाइयों-आईजीएमसी शिमला, केएनएच और चम्याना सहित दो मेडिकल काॅलेजों में ई-अस्पतालों को कार्यान्वित करने के लिए 1428.04 लाख रुपये का प्रस्ताव किया गया है।

राज्य में टेली-मेडिसिन को मजबूत करने की दृष्टि से, मेडिकल काॅलेजों में दो अतिरिक्त हब बनाने का प्रस्ताव किया गया है, जिसके लिए 43.42 लाख रुपये का प्रस्ताव किया गया है। बाल चिकित्सा कोविड-19 प्रबंधन, आईटी हस्तक्षेप और व्यवसासियों के सीएमई पर क्षमता निर्माण और प्रशिक्षण के लिए 96.94 लाख रुपये के प्रावधान का प्रस्ताव किया गया है। इन प्रस्तावों को मंजूरी के लिए भारत सरकार को भेजा गया है।

Himachal Coronavirus Update: प्रदेश में आज कोरोना के आये 146 मामले, 100 मरीज हुए स्वस्थ

हिमाचल: प्रदेश में आज कोरोना पॉजिटिव के 146 नये मामले आए हैं। जिनमें बिलासपुर में 4,  चंबा में 32, हमीरपुर में 9, कांगड़ा में 18,  किन्नौर में 3, कुल्लू में 18, लाहुल स्पीति 0, मण्डी 27, शिमला में 20,  सिरमौर में 3, सोलन में 4 और ऊना में 8  मामले आये हैं।

वहीं प्रदेश में आज 100 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिनमें बिलासपुर 7,  चंबा से 20,  हमीरपुर में 0, कांगड़ा में 13, किन्नौर से 2, कुल्लू में 2, लाहुल स्पीति 0, मण्डी 32,  शिमला 17, सिरमौर से 1,  सोलन में 2  और ऊना में 4 लोग स्वस्थ हुए हैं।

प्रदेश में आज किसी भी व्यक्ति की कोरोना संक्रमण से मौत नहीं हुई है।

प्रदेश में अब कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 205874 पहुंच गया है जबकि सक्रिय मामले 1137 हैं। अब तक 201199 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि 3504 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 18 प्रदेश से बाहर जा चुके हैं।

कोविड-19 से संबद्ध उपचार और प्रबंधन पर एडवाइजरी जारी

शिमला में आज कोरोना के 25 मामले..

शिमला: शिमला में आज कोरोना के 25 मामले हैं, जिनमें:-

  • मतियाना में 2

  • कुमारसैन में 1

  • कोटखाई में 11

  • रोहडू में 4

  • रामपुर में 2

  • टिक्कर में 2

  • जतोग में 1

  • सुन्नी में 1

  • आईजीएमसी में 1

मुख्यमंत्री ने नाचन विधानसभा क्षेत्र को दी 75.50 करोड़ रुपये की सौगात

शिमला: मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने गत सांय नाचन विधानसभा के जय देवी में जनसभा को संबोधित करते हुए, इस विधानसभा क्षेत्र के लिए लगभग 75.50 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं को समर्पित करने के उपरान्त उन्होनें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जाच को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्तरोन्नत करने और सेली और जय देवी में नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने की घोषणा की। उन्होंने अटगढ़ में नया कनिष्ठ अभियंता जल शक्ति खंड खोलने और आईटीआई चच्योट में दो नए ट्रेड़स आरम्भ करने की घोषणा की। उन्होंने विधानसभा क्षेत्र की 12 नई पंचायतों को पंचायत भवनों के निर्माण लिए 10-10 लाख रुपये देने, किलिंग में नया पटवार सर्कल खोलने और घरोट और घिनवी में आयुर्वेदिक औषधालय खोलने की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला अटगढ़ और चैल चैक में स्टेडियम निर्माण के लिए 50-50 लाख रुपये जारी किए गए हैं। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जय देवी और पंगवास के लिए भी पर्याप्त धनराशि जारी कर दी गई है। उन्होंने कहा कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला परवाउ एवं किलिंग को 10-10 लाख रुपये प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला किलिंग में विज्ञान प्रयोगशाला के निर्माण और वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला शाल्ली और बाग्गी में विज्ञान कक्षाएं आरम्भ की घोषणा की। उन्होनें उच्च विद्यालय पलाहोट्टा और चंबी को वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला और माध्यमिक पाठशाला, जाच तथा दोलधार को उच्च विद्यालय में स्तरोन्नत करने की घोषणा की।

जय राम ठाकुर ने लोगों से कोविड -19 महामारी के खिलाफ स्वयं का टीकाकरण सुनिश्चित करवाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बावजूद राज्य सरकार ने विकास की गति को निर्बाध रूप से सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि नाचन विधानसभा क्षेत्र के लोगों को आज 75.50 करोड़ रुपये की 15 विकास परियोजनाओं को समर्पित किया गया है। यह विधानसभा क्षेत्र प्रगति और समृद्धि के पथ पर आगे बढ़ रहा है और सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि विकास परियोजनाओं के लिए पर्याप्त धन उपलब्ध करवाया जाए।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने जय देवी में 2.33 करोड़ की लागत के 33 केवी सब स्टेशन, ग्राम पंचायत पलोहटा में 3.54 करोड रुपये की लागत की छनेरी नेहरा, पलोहटा उठाऊ जल आपूर्ति योजना और बीबीएमबी कालोनी से सुसान ज्वाला तक नाबार्ड सड़क का लोकार्पण किया।

जय राम ठाकुर ने 17.01 करोड़ की लागत की जल आपूर्ति योजना बहली महादेव और जल आपूर्ति योजना नेरी कांगर का संवर्धन, जल जीवन मिशन के अंतर्गत चैक, महादेव, अपर बहली, चंबी, पलोहटा, जय देवी और भलाना पंचायतों के लिए 3.08 करोड रुपये की उठाऊ जल आपूर्ति योजना,  सुंदरनगर तहसील में गिरि, भलाना, जय देवी, चंबी से महादेव के लिए 2.08 करोड़ रुपये की लागत की जल आपूर्ति योजना,  51 लाख रुपये की लागत से घंगल खड्ड पर भराडी माता मंदिर से बीबीएमबी कालोनी सुंदरनगर तक निर्मित होने वाले 19.75 मीटर लंबे मोटर योग्य पूल की आधारशिला रखी।

विधायक नाचन विनोद कुमार ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए उन्हें क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों से अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि नाचन विधानसभा ने पिछले साढ़े तीन वर्षों में अभूतपूर्व विकास हुआ है और क्षेत्र के लोगों की सुविधा के लिए नाचन विधानसभा क्षेत्र में 12 नई पंचायतों का गठन किया गया है।

कुल्लू: भुंतर से लाहौल के लिए हवाई सेवा शुरू

लाहौल में पर्यटकों को रेस्क्यू करने के लिए हेलीकॉप्टर तैयार, मौसम साफ होते ही हेलीकॉप्टर होगा रवाना

हिमाचल: प्रदेश के लाहौल जिले में बाढ़ आने से फंसे 221 लोगों को रेस्क्यू करने में मौसम के खराब होने के चलते दिक्कत आ रही है। शुक्रवार सुबह खराब मौसम के कारण चंडीगढ़ से हेलीकॉप्टर लाहौल के लिए उड़ान नहीं भर सका है। सीएम जयराम ठाकुर ने मंडी के सुंदरनगर में आयोजित प्रेसवार्ता में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा की लाहौल में प्रभावित क्षेत्रों का दौरा खराब मौसम के चलते रद्द करना पड़ा है। पर्यटकों को रेस्क्यू करने के लिए प्रदेश सरकार का नया हेलीकॉप्टर चंडीगढ़ में तैयार है। मौसम साफ होते ही हेलीकॉप्टर रवाना हो जाएगा।

 

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री का मुफ्त वैक्सीन की घोषणा व प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की समय सीमा बढ़ाने पर किया आभार व्यक्त

मुख्यमंत्री वायरल ऑडियो मामले पर बोले: 15 अगस्त को जरूर फहराया जाएगा ‘तिरंगा झंडा’

शिमला: हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को 15 अगसत को झंडा न फहराने देने की धमकी भरा एक ऑडियो प्रदेश के कुछ पत्रकारों को भेजा गया है। खालिस्तानी समर्थकों की संस्था सिख फॉर जस्टिस से जुड़े गुरपतवंत पन्नू ने हिमाचल में तिरंगा नहीं फहराने की धमकी दी है। ऑडियो मैसेज के जरिये मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को तिरंगा न फहराने देने की धमकी दी गयी है। मैसेज में कहा गया है कि हिमाचल पहले पंजाब का हिस्सा था। एसजेएफ पंजाब में जनमत संग्रह करवा रहा है। इसके बाद हिमाचल में भी यही होगा।

वहीं मामले को लेकर मण्डी दौरे के दौरान सुंदरनगर में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ने कहा कि मामला उनके ध्यान में आया है। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त के दिन जहां भी उनका कार्यक्रम होगा वहां तिरंगा झंडा जरूर फहराया जाएगा। उन्होंने कहा कि मामले को लेकर जांच एजेंसी के माध्यम से भी मामले की गहनता से जांच करवाई जाएगी।

ऑडियो मैसेज वायरल होने के बाद हिमाचल पुलिस के डीजीपी की तरफ से बयान में कहा गया है कि पुलिस ऐसे तत्वों से निपटने में सक्षम है। इस संबंध में हिमाचल पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। डीजीपी संजय कुंडू की ओर से जारी एक बयान में यह बताया गया है कि कुछ लोगों को इस तरह के फोन आ रहे हैं. जिसमें खालिस्तान संगठन सिख फॉर जस्टिस सरेआम धमकी दे रहा है कि 15 अगस्त को जयराम सरकार को तिरंगा नहीं फहराने दिया जाएगा।

इग्नू में जुलाई, 2021 सत्र के लिए पुनः पंजीकरण (Re-registration) प्रक्रिया शुरू

शिमला: इग्नू की सत्रांत परीक्षाएं 3 अगस्त से

शिमला: इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) की जून 2021 सत्रांत परीक्षाएं 3 अगस्त, 2021 से शुरू होंगी और 9 सितम्बर, 2021 तक चलेंगी। हिमाचल प्रदेश में यह परीक्षाएं विभिन्न जिलों में स्थापित 27 इग्नू अध्ययन केन्द्रों/परीक्षा केन्द्रों में आयोजित की जाएंगी जिसमें लगभर 15 हजार छात्र परीक्षा देंगे। विश्वविद्यालय द्वारा इस परीक्षा के लिए पात्र छात्रों को प्रवेश-पत्र (Hall Ticket) जारी किए जा चुके हैं। प्रवेश-पत्र इग्नू की वैबसाईट (www.ignou.ac.in) पर उपलब्ध हैं। छात्र अपना प्रवेश-पत्र (Hall Ticket) वैबसाईट से डाउनलोड कर परीक्षा दे सकते हैं।

 छात्रों को सलाह दी जाती है कि परीक्षा के दौरान विश्वविद्यालय/सरकार द्वारा जारी वैद्य पहचान-पत्र (Identity Card) उनके पास होना चाहिए। परीक्षा हॉल के अन्दर मोबाइल फोन की अनुमति नहीं है। परीक्षा सम्बन्धी अधिक जानकारी के लिए इग्नू परीक्षा केन्द्र/अध्ययन केन्द्र या इग्नू क्षेत्रीय केन्द्रशिमला के दूरभाष संख्या 0177-2624612 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

 शूलिनी विवि के कर्मचारियों व ड्राइवरों के लिए वाहनों के रखरखाव पर 5 दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

  • कार्यशाला का उद्देश्य वाहन चालकों के प्रशिक्षण मानकों को लगातार प्रशिक्षित करना 

  • कार्यशाला का संचालन स्कूल ऑफ मैकेनिकल एंड सिविल इंजीनियरिंग के सहायक प्रोफेसर डॉ. अभिलाष पठानिया द्वारा किया गया

  • ड्राइवरों को वाहनों की विभिन्न प्रणालियों, जैसे स्टीयरिंग, ब्रेकिंग, ट्रांसमिशन और सस्पेंशन सिस्टम, इंजन के काम करने, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम और भी कई तरह की बारीकियों को गया समझाया 

सोलन: स्कूल ऑफ मैकेनिकल, सिविल और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग शूलिनी विश्वविद्यालय द्वारा शूलिनी विश्वविद्यालय के कर्मचारियों और ड्राइवरों के लिए वाहनों के रखरखाव पर 5 दिवसीय कार्यशाला का आज समापन हुआ।

कार्यशाला का उद्देश्य वाहन चालकों के प्रशिक्षण मानकों को लगातार प्रशिक्षित करना और उनका आंकलन करना और यह सुनिश्चित करना कि वे वाहन की विभिन्न प्रणालियों और उनके कामकाज को अच्छी तरह से समझते हैं। नियमित रखरखाव कार्यक्रम को बनाए रखने से महंगी मरम्मत को रोकने और वाहन के जीवन काल को बढ़ाने में मदद मिलती है, जो सुरक्षा की दृष्टि

कार्यशाला का उद्देश्य वाहन चालकों के प्रशिक्षण मानकों को लगातार प्रशिक्षित करना

से भी महत्वपूर्ण है।
कार्यशाला का संचालन स्कूल ऑफ मैकेनिकल एंड सिविल इंजीनियरिंग के सहायक प्रोफेसर डॉ. अभिलाष पठानिया द्वारा किया गया। ड्राइवरों को वाहनों की विभिन्न प्रणालियों, जैसे स्टीयरिंग, ब्रेकिंग, ट्रांसमिशन और सस्पेंशन सिस्टम, इंजन के काम करने, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम और भी कई तरह की बारीकियों को समझाया गया।
ब्रिगेडियर  नीरज पराशर  इंजीनियरिंग संकाय के डीन ने कहा कि शूलिनी विश्वविद्यालय गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए समर्पित है और भविष्य में भी इस तरह की कार्यशालाएं आयोजित की जाएंगी।
डॉ. अभिलाष पठानिया ने साझा किया कि ड्राइवरों के साथ वाहन की अद्यतन तकनीकों और ज्ञान को साझा करना हमारी जिम्मेदारी है।