ब्लॉग

सोलन: 18 से 44 वर्ष आयुवर्ग के टीकाकरण के लिए पंजीकरण अनिवार्य

21 मई को नियमित डिग्री हेतु पंजीकरण आईटीआई सोलन में

सोलन: जिला रोजगार अधिकारी संदीप ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि एचसीएल टेक्नोलॉजी ने युवाओं को बीआईटीएस पिलानी विश्वविद्यालय तथा एमिटी विश्वविद्यालय की ओर से नियमित डिग्री करवाने का फैसला लिया है।

उन्होंने बताया कि इस प्रयोजन हेतु उक्त आईटी कम्पनी द्वारा विस्तृत जानकारी उपलब्ध करवाने तथा पात्र अभ्यार्थियों के पंजीकरण हेतु राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सोलन में 21 मई, 2022 को प्रातः 10.00 बजे का समय निश्चित किया गया है।

उन्होंने बताया कि इसमे केवल वही अभ्यार्थी पात्र होंगे जिन्होंने गणित में वर्ष 2021 में 12वीं कक्षा में 60 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण की हो।

उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में अधिक जानकारी के लिए मोबाईल नम्बर 70183-86074 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

सोमवार को शिमला के इन क्षेत्रों की बिजली रहेगी बंद....

सोलन: 24 मई को इन क्षेत्रों में रहेगी विद्युत आपूर्ति बाधित

सोलन: विद्युत मण्डल सोलन के वरिष्ठ अधिशाषी अभियंता राहुल वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि 11 के.वी. फीडर सोलन नम्बर 1, 2, 3, पेयजल सप्लाई फीडर, कण्डाघाट फीडर, चम्बाघाट फीडर, सराहन फीडर, राजगढ़ फीडर तथा 11 के.वी शिवालिक फीडर के आवश्यक मुरम्मत एवं रख-रखाव के दृष्टिगत इसके अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों सोलन शहर, अप्पर बाजार, मालरोड, कोट कॉपलेक्स, एम.ई.एस क्षेत्र, क्लीन, सन्नी साईड, राजगढ़ रोड़, जोणाजी रोड़, मोहन पार्क, शिल्ली रोड़, बजरोल, नदोह, मधुबन कॉलोनी, टैंक रोड़, शामती, डिग्री कॉलेज, ऑफिसर कॉलोनी, कशिश अपार्टमेंट, तहसील ऑफिस, कोटला नाला, खलीफा लॉज़, जोणाजी, दमकरी, अश्वनी खड्ड, शिल्ली, चम्बाघाट, सलोगड़ा, हॉट, मनसर, ब्रयूरी, गलांग, मतीयूल, डमरोग, शूलिनी नगर, शक्ति नगर, चेस्टर हिल्ज, क्षेत्रीय अस्पताल, उपायुक्त कार्यालय, कथेड़, सोलन बाईपास, पुलिस लाईन और शिवालिक बीई मेटल में 24 मई, 2022 को प्रातः 09.00 बजे से सांय 06.00 बजे तक विद्युत आपूर्ति बाधित रहेगी।

उन्होंने कहा कि मौसम खराब होने की स्थिति या अन्य परिस्थितियों में निर्धारित समय तथा तिथि में बदलाव किया जा सकता है। उन्होंने इस दौरान असुविधा के लिए उपरोक्त क्षेत्र के समस्त विद्युत उपभोक्ताओं से सहयोग की अपील की है।

जिला में आंगनबाड़ी केंद्र प्रातः 8 से दोपहर 1 बजे तक खुलेंगेः राघव शर्मा

ऊना: जिला दंडाधिकारी राघव शर्मा ने जिला ऊना में बढ़ती हुई गर्मी को देखते हुए जिला ऊना के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों के समय में बदलाव किया है। उन्होंने आदेश जारी करते हुए कहा कि जिला ऊना में सभी आंगनबाड़ी केंद्र प्रातः 8 बजे से दोपहर 1 बजे तक खोले जाएंगे। यह आदेश तुरंत प्रभाव से लागू होंगे।

जिला रोजगार कार्यालय चंबा में 1 और 3 अप्रैल को होगा कैंपस इंटरव्यू का आयोजन

आईटीआई नाहन में 23 मई को कैम्पस इंटरव्यू, भरे जाएंगे 220 पद

नाहन : जिला सिरमौर के औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान नाहन में आगामी 23 मई को प्रातः 10 बजे कैम्पस इंटरव्यू का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें विभिन्न कंपनियों को लगभग 220 अभ्यर्थियों की आवश्यकता है। यह जानकारी जिला रोजगार अधिकारी अक्षय शर्मा ने दी।

उन्होंने बताया कि मैसर्ज वर्धमान टेक्सटाइल लिमिटेड बद्दी को 8वीं से 12वीं तक की शैक्षणिक योग्यता के युवाओं की ट्रेनी अप्रेंटिस के लिए आवश्यकता है तथा एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस कम्पनी नाहन को स्नातक या स्नातकोत्तर शैक्षणिक योग्यता के युवाओं व युवतियों की आवश्यकता है। इसके अतिरिक्त, पशुपति स्पिनिंग मिल्स कालाअंब को 6 ट्रेनी ऑपरेटर की आवश्यकता है जिनकी योग्यता आईटीआई फिटर, टर्नर व मैकेनिकल होनी चाहिए। इसके अतिरिक्त, न्यूनतम वेतन 9000 और अधिकतम वेतन अनुभव के आधार पर दिया जाएगा।

जिला रोजगार अधिकारी ने बताया कि अभ्यर्थी की आयु 20 से 35 वर्ष होनी चाहिए तथा कैम्पस इंटरव्यू के लिए वह अपने साथ दो (2) पासपोर्ट साइज फोटो व मूल प्रमाण पत्र एवं अपना बायोडाटा की कॉपी तथा अनुभव प्रमाण पत्र साथ ले कर आए।

प्रदेश में आज आये कोरोना के 656 मामले,  ठीक हुए 1444 मरीज

हिमाचल कोरोना अपडेट..

हिमाचल: प्रदेश में आज कोरोना पॉजिटिव के 18 नये मामले आए हैं। जिनमें बिलासपुर में 0,  चंबा में 0, हमीरपुर में 2, कांगड़ा में 7,  किन्नौर में 0, कुल्लू में 0, लाहुल स्पीति 0, मण्डी 1, शिमला में 5,  सिरमौर में 0, सोलन में 3 और ऊना में 0  मामले आये हैं।

वहीं प्रदेश में आज 13 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिनमें बिलासपुर 0,  चंबा से 5,  हमीरपुर में 2, कांगड़ा में 5, किन्नौर से 0, कुल्लू में 0, लाहुल स्पीति 0, मण्डी 0,  शिमला 1, सिरमौर से 0,  सोलन में 0 और ऊना में लोग स्वस्थ हुए हैं।

प्रदेश में अब कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 284982 पहुंच गया है जबकि सक्रिय मामले 86 हैं। अब तक 280760 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि 4117 लोगों की मौत हो चुकी है।

जिला प्रशासन और एम्स बिलासपुर के बीच एमओयू साइन

टेलीमेडिसिन, डायग्नोस्टिक्स और रोगी देखभाल सेवाओं के लिए किया गया है एमओयू साइन

उपायुक्त डीसी राणा और कार्यकारी निदेशक प्रो. वीर सिंह नेगी ने किए हस्ताक्षर

जनजातीय व ग्रामीण क्षेत्रों में सुदृढ़ होंगी स्वास्थ्य सेवाएं

चंबा : अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ( एम्स) बिलासपुर के साथ जिला प्रशासन चंबा ने टेलीमेडिसिन, डायग्नोस्टिक्स और रोगी देखभाल सेवाओं के क्षेत्रों में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) हस्ताक्षरित किया गया है ।

समझौता ज्ञापन पर उपायुक्त डीसी राणा और संस्थान के कार्यकारी निदेशक प्रो (डॉ.) वीर सिंह नेगी ने हस्ताक्षर किए।

उपायुक्त ने बताया कि ज़िला चंबा के जनजातीय व ग्रामीण क्षेत्रों में टेलीमेडिसिन, डायग्नोस्टिक्स और रोगी देखभाल सेवाओं को और बेहतर बनाने के लिए एम्स बिलासपुर के साथ समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किया गया है । उन्होंने ये भी बताया कि जनजातीय व ग्रामीण क्षेत्रों में वैकल्पिक स्वास्थ्य देखभाल मॉडल के रूप में टेलीमेडिसिन के क्षेत्र को बेहतर किया जाएगा। संस्थान , जनजातीय व ग्रामीण क्षेत्रों में टेलीमेडिसिन सेवाओं में सुधार लाने के लिए अपने संकाय सदस्यों के माध्यम से तकनीकी विशेषज्ञता, टेलीमेडिसिन उपकरण , बाह्य उपकरणों, और श्रम शक्ति को टेलीहेल्थ सेवाओं में प्रशिक्षण भी देगा।

जिला प्रशासन चम्बा उपभोग्य सामग्रियों ,अभिकर्मकों ,दवाओं, बोर्डिंग, आवास व यात्रा व्यवस्था प्रदान करेगा।

इसके साथ दोनों पक्षों में सार्वजनिक सेवा, अनुसंधान, सामुदायिक पहुंच का निर्णय भी लिया गया है ।

इस अवसर पर लेफ्टिनेंट कर्नल राकेश कुमार, उप निदेशक (प्रशासन), एम्स बिलासपुर, डॉ. दिनेश कुमार वर्मा चिकित्सा अधीक्षक, एम्स बिलासपुर, डॉ कपिल शर्मा सीएमओ चंबा, डॉ आशीष शर्मा, जनसंपर्क अधिकारी एम्स बिलासपुर, हंस राज ठाकुर, प्रशासनिक अधिकारी एम्स बिलासपुर अरविंद कुमार नड्डा, कानूनी सलाहकार, एम्स बिलासपुर उपस्थित रहे ।

पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव के दृष्टिगत जिले में आदर्श आचार संहिता लागू

सिंगल यूज प्लास्टिक का एक जुलाई के बाद उपयोग होगा प्रतिबंधित : उपायुक्त डीसी राणा

चम्मच, कटोरी, कांटे ,चाकू और स्ट्रा के किसी भी प्रारूप को बेचने और उपयोग करने की होगी मनाही

हिमाचल प्रदेश पर्यावरण विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग ने जारी की है अधिसूचना

उल्लंघन की अवस्था में पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 के तहत होगी कार्रवाई

चंबा : उपायुक्त डीसी राणा ने बताया कि 1 जुलाई 2022 के बाद सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग ,निर्माण, आयात , वितरण, बिक्री और भंडारण को प्रतिबंधित करने के लिए हिमाचल प्रदेश पर्यावरण विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग ने अधिसूचना जारी की है।

उन्होंने बताया कि गैर बायोडिग्रेडेबल कचरा नियंत्रण अधिनियम के तहत सूचीबद्ध सामग्री से निर्मित होने वाली प्लास्टिक से बनी कटलरी वस्तुएं भोजन परोसने और खाने के उपयोग में लाई जाने वाले चम्मच, कटोरी, कांटे ,चाकू और स्ट्रा के किसी भी प्रारूप को बेचने और उपयोग करने की मनाही होगी ।

उन्होंने यह भी बताया कि प्लास्टिक कचरा प्रबंधन नियम के अंतर्गत विस्तारित पॉलिस्टीरीन और पॉलिस्टीरीन से संबंधित सिंगल यूज प्लास्टिक वस्तुओं में एयर बर्ड्स, गुब्बारों इत्यादि के लिए इस्तेमाल की जाने वाली प्लास्टिक की डंडिया प्लास्टिक के झंडे, कैंडी स्टिक्स, आइसक्रीम की डंडिया और सजावट के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री सहित प्लेटें, कप, गिलास, कांटे, चम्मच, चाकू ,स्ट्रा, ट्रे, मिठाई के डिब्बों को पैक करने वाली फिल्में, निमंत्रण कार्ड और सिगरेट पैकेट,100 माइक्रोन से कम मोटाई वाले प्लास्टिक या पीवीसी बैनर व स्टिरर के उपयोग ,निर्माण, आयात , वितरण, बिक्री और भंडारण कोपूर्ण रूप से प्रतिबंधित किया गया है।

इसके अलावा 120 माइक्रोन की मोटाई से कम प्लास्टिक से बने कैरी बैग और 60 ग्राम प्रति वर्ग मीटर से गैर बुना कैरी बैग का उपयोग, बिक्री और भंडारण भी पूर्ण रूप से प्रतिबंधित होगा।

नियमों के उल्लंघन की अवस्था में पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 के तहत कार्रवाई का प्रावधान रखा गया है। I इसके साथ साथ सामान की जब्ती, पर्यावरण मुआवजे की वसूली, उद्योग व वाणिज्य संस्थानों, प्रतिष्ठानों के संचालन को बंद करने भी प्रावधान रखा गया ।

कांग्रेस भ्रष्टाचार की जननी : विनोद ठाकुर

कांग्रेस 2 और कार्यकारी अध्यक्ष बनाने जा रही है और इसके लिए कांग्रेस में चल रही है प्रतिस्पर्धा : विनोद

 • पेपर लीक मामले पर राजनीति कर रही कांग्रेस

शिमला: भाजपा प्रवक्ता विनोद ठाकुर ने कहा कि ऐसा लगता है कि कांग्रेस 2 और कार्यकारी अध्यक्ष बनाने जा रही है और इसके लिए कांग्रेस में प्रतिस्पर्धा चल रही है।

 उन्होंने कहा कि राम लाल ठाकुर को कांग्रेस पार्टी में कोई पद नहीं मिली इसलिए वह अपनी ही पार्टी में अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं।

 हमारे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर स्वच्छ और उत्तरदायी सरकार चला रहे हैं।  जैसे ही पुलिस पेपर लीक का मामला सामने आया हमारे मुख्यमंत्री ने परीक्षा स्थगित करने का एक सहज निर्णय लिया, हमारी सरकार ने तुरंत उसी पर एक एसटीआई का गठन किया और अब हमारे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने यह मामला सीबीआई को दे दिया है।

 जांच जारी है और अपराधी जल्द ही सलाखों के पीछे होंगे।

 कांग्रेस लगातार सीबीआई जांच की मांग कर रही थी जब मुख्यमंत्री ने सीबीआई को जांच दि है , तब कांग्रेस नेताओं को इसके लिए सरकार को धन्यवाद करना चाहिए।

 कांग्रेस इस मुद्दे पर राजनीति कर रही है, इससे जांच में बाधा आ रही है।

 उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस सत्ता में थी तो बहुत सारे घोटाले सामने आए लेकिन उनके नेताओं की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई, भाजपा पारदर्शी सरकार चला रही है।

राज्य प्रदूषण बोर्ड के बद्दी में 8 उद्योगों के बिजली कनैक्शन काटने के आदेश जारी

प्रदेश राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड: प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के लिए 3023 विद्यालयों की 5951 टीमों का पंजीकरण

हिमाचल : प्रदेश राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एक प्रवक्ता ने आज यहां जानकारी दी कि राज्य स्तरीय हिमाचल एनवायरो क्विज़-2022 अन्तर विद्यालय प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के लिए पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है। उन्होंने कहा कि इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए गहरी रूचि दिखाते हुए 3023 राजकीय और निजी उच्च एवं वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों की 5951 टीमों के अन्तर्गत आठवीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों ने पंजीकरण करवाया है। 

उन्होंने बताया कि 20 मई, 2022 को जिला स्तरीय चरण/राउंड का आयोजन वेबसाइट bit.ly/himachalenviroquiz2022 के माध्यम से किया जाएगा तथा पंजीकृत विद्यालयों के साथ 19 मई, 2022 को एक ऑनलाइन लिंक साझा कर प्रवेश पत्र प्राप्त किए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि 20 मई को जिला स्तरीय राउंड प्रातः 9 से दोपहर बाद 2 बजे तक आयोजित होगा, जिसमें प्रत्येक टीम को 15 मिनट में 30 प्रश्नों के उत्तर देने होंगे। इसका परिणाम 21 मई को घोषित किया जाएगा। प्रथम 36 विजेता टीमों को सेमी फाइनल राउंड में हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के सभागार में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर 5 जून, 2022 को होने वाली राज्य स्तरीय प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में व्यक्तिगत राउंड के लिए चयनित किया जाएगा। इनमें से फाइनल राउंड के लिए चुनी जाने वाली प्रथम छः टीमों को प्रमाण-पत्र, ट्रॉफी, आकर्षक पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे जबकि सेमी फाइनल तक पहुंची टीमों को भी पुरस्कार और प्रमाण-पत्र प्रदान किए जाएंगे। 

इसके अतिरिक्त सभी प्रतिभागियों को ई-प्रमाण-पत्र पंजीकृत ऑनलाइन एकाउंट के माध्यम से दिए जाएंगे। 

हिमाचल प्रदेश राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एवं आईटीसी निमायले ईको फ्रैंडली इण्डिया मिशन के सहयोग से आयोजित की जा रही इस राज्य स्तरीय प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के व्यक्तिगत राउंड को नैक्सस कन्सल्टिंग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं क्विज़ मास्टर वंेकी श्रीनिवासन संचालित करेंगे।   

प्रदेश की पांच हजार औंस रेशम की जरूरत को पूरा करेगा थुनाग रेशम बीज उत्पादन केन्द्रः जय राम ठाकुर 

मुख्यमंत्री ने थुनाग में प्रदेश के दूसरे रेशम बीज उत्पादन केन्द्र तथा हि.प्र. भवन एवं अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के उप-कार्यालय का शुभारम्भ किया

सराज युवा खेल एवं सांस्कृतिक उत्सव के अन्तर्गत सांस्कृतिक प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया

मण्डी: मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज मण्डी जिला के सराज विधानसभा क्षेत्र के थुनाग में प्रदेश के दूसरे रेशम बीज उत्पादन केन्द्र का शुभारम्भ किया। यह केन्द्र हिमाचल प्रदेश में रेशम बीज उत्पादन की जरूरत को पूरा करने तथा रेशम कीट पालकों की आर्थिकी सुदृढ़ करने के उद्देश्य से स्थापित किया गया है। उन्होंने सराज युवा खेल एवं सांस्कृतिक उत्सव-2022 के अन्तर्गत सांस्कृतिक प्रतियोगिता के समापन समारोह की अध्यक्षता भी की। 

इस अवसर पर एक विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य में लगभग 12 हजार किसान रेशम उत्पादन से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 7500 औंस रेशम की जरूरत को पूरा करने के लिए राज्य के पहले रेशम बीज उत्पादन केन्द्र पालमपुर में 2500 औंस रेशम का उत्पादन किया जा रहा है। शेष 5000 औंस रेशम की जरूरत अब थुनाग रेशम बीज उत्पादन केन्द्र पूरा करेगा, जो इससे पूर्व आयात की जाती थी। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बालीचौकी में 4.94 करोड़ रुपये की लागत से रेशम उद्यमिता विकास एवं नवोन्मेष केन्द्र का निर्माण कार्य अन्तिम चरण में है और यह उत्तरी भारत में अपनी तरह का पहला केन्द्र होगा। उन्होंने कहा कि सराज घाटी में रेशम उद्योग को बढ़ावा देने के लिए 2.5 करोड़ रुपये व्यय कर बागाचनौगी, सरोआ, धरोट, मुराह, ढीमकटारू में राजकीय रेशम केन्द्र का निर्माण कार्य पूरा होने वाला है। उन्होंने कहा कि घाटी में अनुसूचित जाति के 200 किसानों को रेशम कीट पालन गृह निर्माण के लिए डेढ़ लाख रुपये प्रति किसान की दर से तीन करोड़ रुपये तथा 200 किसानों को रेशम कीट पालन उपकरण के लिए 80 लाख रुपये की धनराशि उपलब्ध करवाई गई है। इसके अतिरिक्त इस वर्ग के 200 किसानों को शहतूत पौधारोपण के लिए 28 लाख रुपये की राशि उपलब्ध करवाई जा रही है। इसके अतिरिक्त सामान्य वर्ग के 700 किसानों को शहतूत पौधरोपण तथा रेशम कीट पालन सामग्री खरीदने के लिए 50 लाख रुपये उपलब्ध करवाए गए है। उन्होंने कहा कि इन गतिविधियों से प्रदेश में रेशम उद्योग को बढ़ावा मिलने के साथ ही स्वरोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। 

जय राम ठाकुर ने कहा कि युवाओं को खेलों एवं सांस्कृतिक गतिविधियों से जोड़ने के लिए सराज युवा खेल व सांस्कृतिक उत्सव का आयोजन एक अच्छी पहल है। इस उत्सव में सराज घाटी की 1390 टीमों के माध्यम से 14000 ग्रामीण युवाओं को अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए एक मंच उपलब्ध हुआ है। इससे खेल भावना को बढ़ावा मिला है और पारम्परिक खेलों तथा समृद्ध संस्कृति का प्रचार-प्रसार और सांस्कृतिक धरोहर का संरक्षण भी सुनिश्चिित हुआ है। उन्होंने कहा कि इस आयोजन से आपसी भाईचारे, सहयोग और समन्वय की भावना को भी बढ़ावा मिला है। 

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने थुनाग में एचडीएफसी बैंक की शाखा का भी शुभारम्भ किया जो प्रदेश में बैंक की 84वीं शाखा है। उन्होंने कहा कि यह बैंक शाखा खुलने से लघु और सीमांत किसानों को घर-द्वार पर ऋण सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ लाभार्थियों के खाते में डाला जाता है और ऐसे में आम लोगों के लिए भी यह लाभदायी रहेगी। उन्होंने ग्रामीण व दूरदराज क्षेत्र में बैंक शाखा खोलने के एचडीएफसी बैंक प्रबन्धन की सराहना की तथा बैंक द्वारा संजीवनी संस्था के माध्यम से सेब उत्पादकों की आजीविका में वृद्धि करने के उद्देश्य से पौधरोपण परियोजना शुरू कर सराज खण्ड की 16 पंचायतों के 9185 किसान परिवारों को 85 हजार सेब के पौधे बांटने को प्रशंसनीय बताया। 

मुख्यमंत्री ने वर्तमान सरकार के गत साढ़े चार वर्षों के कार्यकाल को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि इस दौरान प्रदेश में प्रत्येक वर्ग का सामाजिक-आर्थिक उत्थान सुनिश्चिित हुआ है। सामाजिक सुरक्षा पेंशन, जनमंच, हिमकेयर, मुख्यमंत्री सहारा योजना, मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना, शगुन योजना, मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना सहित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से प्रदेशवासी लाभान्वित हुए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं का भी सफलतापूर्वक कार्यान्वयन कर राज्य के लोगों को लाभ पहुंचाया है। वर्तमान सरकार के अभूतपूर्व प्रयासों से गांव-गांव तक सड़क सुविधा पहुंची है और पुलों तथा सड़कों के निर्माण से विशेष तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में विकास को गति मिली है। उन्होंने कहा कि ऊर्जा राज्य हिमाचल प्रदेश के लोगों को प्रदेश सरकार ने 125 यूनिट तक बिजली निःशुल्क उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सराज उत्सव के विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया। उन्होंने थुनाग में हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड उप-कार्यालय तथा भाजपा सराज मण्डल के कार्यालय मातृ आंचल का भी शुभारम्भ किया। 

इस अवसर पर मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी एवं हिमाचल प्रदेश राज्य रेड क्रॉस अस्पताल कल्याण अनुभाग की अध्यक्षा डॉ. साधना ठाकुर, सराज भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष खेमदासी, भाजपा मण्डलाध्यक्ष भागीरथ शर्मा, जिला परिषद सदस्य रजनी ठाकुर, उपायुक्त अरिन्दम चौधरी, पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री, पंचायती राज संस्थाओं के पदाधिकारी और विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

विजेताओं की सूची 

सराज युवा खेल एवं सांस्कृतिक उत्सव-2022 के अन्तर्गत सांस्कृतिक गतिविधियों में खण्ड सराज स्तर पर पार्वती महिला मण्डल राहीधार तथा आशुतोष महिला मण्डल गुनाची उप-विजेता रहे।

इसके अतिरिक्त महिला मण्डलों में बालीचॉकी जोन से आशुतोष महिला मण्डल घुनाची विजेता और नई उमंग महिला मण्डल बालीचौकी व जय देवता भराड़ू महिला मण्डल भलयारी उप-विजेता, गाड़ागुशैणी जोन में महिला मण्डल रूततान विजेता व महिला मण्डल भनाड़ उप-विजेता, थाची जोन से नारी शक्ति महिला मण्डल नाचनी विजेता और नारी शक्ति महिला मण्डल खलवाण उप-विजेता, छतरी जोन से महिला मण्डल बगड़ा थाच विजेता और महिला मण्डल दिव्य ज्योती थाच उप-विजेता, बागा चनोगी जोन से महिला मण्डल कुलथनी विजेता और मॉं सरस्वती महिला मण्डल टील उप-विजेता, मझोठी जोन से पार्वती महिला मण्डल राहीधार विजेता और महिला मण्डल सरधार खनयारी उप-विजेता, जंजैहली जोन से महामाया महिला मण्डल तुंगाधार विजेता और महिला मण्डल शीला कोड उप-विजेता तथा थुनाग जोन से नव चेतना महिला मण्डल खमराड़ विजेता और महिला मण्डल थुनाग उप-विजेता रहे।