राष्ट्र विकास

प्रधानमंत्री मोदी ने 5515 करोड़ के निवेश के साथ एसजेवीएन की सात परियोजनाएं की राष्ट्र को समर्पित

शिमला/दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज आदिलाबाद, तेलंगाना में एक समारोह में वर्चुअल रूप से एसजेवीएन के चार विद्युत स्टेशनों अर्थात् उत्तराखंड में 60 मेगावाट नैटवाड़ मोरी जलविद्युत...

 एसजेवीएन सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा ने ‘वर्ष 2024 के लिए प्राथमिकताएं सुनिश्चित करने को लेकर कर्मचारियों को किया संबोधित 

सीएमडी बोले- एसजेवीएन विकास के पथ पर तीव्रता से अग्रसर.. शिमला: एसजेवीएन  अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक  नन्‍द लाल शर्मा,ने कारपोरेट मुख्यालय, शिमला में आयोजित ‘वर्ष 2024 के लिए प्राथमिकताएं...

एसजेवीएन ने नैटवाड़ मोरी जलविद्युत परियोजना की द्वितीय इकाई को किया राष्ट्रीय ग्रिड के साथ सिंक्रोनाइज़ – सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा

सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि -एनएमएचईपी उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में यमुना नदी की एक प्रमुख सहायक नदी टोंस पर अवस्थित एनएमएचईपी प्रत्‍येक 30 मेगावाट की दो उत्पादन...

रोजगार मेला: पीएम मोदी ने 51 हजार युवाओं को सौंपे नियुक्ति पत्र

हिमाचल प्रदेश में केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर के नेतृत्व में करीब100 युवाओं को बाँटे गए नियुक्ति पत्र  शिमला: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोजगार सृजन की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए...

एसजेवीएन ने किया नैटवाड़ मोरी जलविद्युत परियोजना की प्रथम यूनिट को राष्ट्रीय ग्रिड के साथ सिंक्रोनाईज – सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा

सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि- नैटवाड़ मोरी जलविद्युत परियोजना 30 मेगावाट की दो उत्पादन यूनिटों वाली रन-ऑफ-द रिवर परियोजना है परियोजना की दूसरी यूनिट भी इसी माह...

एसजेवीएन ने ऊर्जा भंडारण प्रणाली के साथ 1500 मेगावाट की विद्युत परियोजनाओं के लिए ई-रिवर्स ऑक्‍शन को किया सफलतापूर्वक संपन्न 

शिमला: एसजेवीएन अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्‍द लाल शर्मा ने अवगत करवाया कि नवीकरणीय ऊर्जा कार्यान्वयन एजेंसी (आरईआईए) के रूप में एसजेवीएन ने भारत में ऊर्जा भंडारण प्रणाली के साथ 1500 मेगावाट...

एसजेवीएन और ओशियन सन, नॉर्वे ने फ्लोटिंग सोलर प्रोजेक्ट के लिए एमओयू किया हस्ताक्षरि‍त – सीएमडी नन्‍द लाल

समझौता ज्ञापन के तहत एसजेवीएन की पूर्ण स्वामित्व वाली अधीनस्‍थ कंपनी एसजेवीएन ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एसजीईएल) भारत में कहीं भी उपयुक्त स्थान पर लगभग दो मेगावाट की पायलट मेम्ब्रेन आधारित...