ताज़ा समाचार

एसजेवीएन के विद्युत स्टेशनों ने विद्युत उत्पादन में किए नए रिकॉर्ड स्‍थापित – सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा

अगस्त 2023 में सभी विद्युत स्टेशनों से 1590 मिलियन यूनिट का सर्वकालिक उच्चतम मासिक विद्युत उत्पादन किया दर्ज;  विद्युत उत्पादन में यह गत वर्ष से 9% अधिक

412 मेगावाट के रामपुर जल विद्युत स्टेशन ने कमीशनिंग के बाद से 337.165 मिलियन यूनिट का अब तक का उच्चतम मासिक विद्युत उत्पादन हासिल करके बनाया एक नया रिकॉर्ड 

शिमला:  एसजेवीएन अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्‍द लाल शर्मा ने बताया कि एसजेवीएन के विद्युत स्टेशनों ने ऊर्जा उत्पादन में नए मानक स्थापित किए हैं। अगस्त 2023 में सभी विद्युत स्टेशनों से 1590 मिलियन यूनिट का सर्वकालिक उच्चतम मासिक विद्युत उत्पादन दर्ज किया गया है। विद्युत उत्पादन में यह गत वर्ष से 9% अधिक है।

नन्‍द लाल शर्मा ने  कहा कि 412 मेगावाट के रामपुर जल विद्युत स्टेशन ने कमीशनिंग के बाद से 337.165 मिलियन यूनिट का अब तक का उच्चतम मासिक विद्युत उत्पादन हासिल करके एक नया रिकॉर्ड बनाया है। इस वर्ष, अगस्त माह के लिए 1500 मेगावाट नाथपा झाकड़ी जलविद्युत स्टेशन और 50 मेगावाट सादला पवन विद्युत स्टेशन द्वारा क्रमशः 1215.326 मिलियन यूनिट और 15.938 मिलियन यूनिट का माह का सर्वाधिक विद्युत उत्पादन दर्ज किया गया है।

इससे पहले, वर्तमान वित्तीय वर्ष की प्रथम तिमाही के दौरान, एसजेवीएन के सौर और पवन विद्युत स्टेशनों से कुल विद्युत उत्पादन गत वित्तीय वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 73.04% अधिक रहा।

 नन्‍द लाल शर्मा ने सभी कर्मचारियों को बधाई दी और केंद्रीय विद्युत मंत्री, विद्युत मंत्रालय और उन राज्यों की सरकारों, जहां विद्युत स्टेशन स्थित हैं,  के निरंतर मार्गदर्शन और समर्थन के लिए आभार व्यक्त किया। श्री शर्मा ने कहा कि अपने प्रथम विद्युत स्टेशन की कमीशनिंग से, कंपनी ने राष्ट्र की विद्युत की बढ़ती मांगों को पूरा करने के लिए निर्बाध विद्युत आपूर्ति कायम रखते हुए विकास की गति को बनाए रखा है।

एसजेवीएन ने ‘वर्ष 2026 तक मिशन 12000 मेगावाट’ और ‘ वर्ष 2040 तक 50000 मेगावाट के साझा विजन’ का महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया है और अपनी विकास यात्रा पर अग्रसर है। कंपनी का वर्तमान परियोजना पोर्टफोलियो 55904 मेगावाट है ।

सम्बंधित समाचार

Comments are closed