“सर्जिकल स्ट्राइक” एक अविस्मरणीय सफलता

“सर्जिकल स्ट्राइक” एक अविस्मरणीय सफलता

शिमला:  भारतीय सेना द्वारा  ‘‘सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ’’ को 28 और 29 सितम्बर को मना रही है। 29 सितम्बर 2016 भारतीय सेना के लिए सुनहरा दिन था। क्योंकि इस दिन सेना ने “पाक अधिकृत कश्मीर” में बहुत तादात में आतंकवादियों को मार गिराया था। “सर्जिकल स्ट्राइक” एक अविस्मरणीय सफलता थी जिसमें अपनी सेना को सुरक्षित रखते हुए 45 आतंकवादियों एवं 9 सेवारत पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया था। पाकिस्तान द्वारा भेजे गए आतंकवादियों के द्वारा ऊरी सैक्टर में हमला किया गया था। भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान भारत की शक्ति एवं उद्यमषीलता का वर्चस्व स्थापित किया।

केंद्र सरकार के निर्णय के तहत भारतीय सेना द्वारा  सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ के उपलक्ष्य में मुख्यालय सेना प्रशिक्षण कमान द्वारा 28 और 29 सितम्बर को शिमला में बहुत से कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इसका उदेश्य आम नागरिकों को सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में जागरूक करना था। 28 सितम्बर को अन्नाडेल गोल्फ कोर्स में शिमला के मुख्य स्कूलों के लगभग 500 छात्रों और आम जनता ने हिस्सा लिया जिसमें पाइप बैण्ड डिस्पले, हथियार डिस्पले व सैनिकों द्वारा किए गये कार्यक्रमों का लुत्फ उठाया। विद्यार्थियों को हिमाचल के शूरवीरों एवं सर्जिकल स्ट्राइक के ऊपर फिल्में भी दिखाई गयी। उत्साहित युवा कार्यक्रम में सैल्फी लेते भी नजर आए।

वहीं रिज शिमला में 29 सितम्बर को भी साजो-सामान प्रर्दशनी ओर पाइप-बैंड डिस्पले के साथ सर्जिकल स्ट्राइक के ऊपर फिल्में भी दिखाई जाएंगी। यह सभी स्कूली छात्रों के लिए अविस्मरणीय अनुभव रहा और उनके द्वारा कहा गया कि हमे भारतीय सेना के जवानों पर गर्व है।

  • सर्जिकल स्ट्राईक की दूसरी वर्षगांठ के अवसर पर तीन-दिवसीय राष्ट्रव्यापी

शिमला: भारतीय सशस्त्र बलों के साहस, बहादुरी और बलिदान को याद करते हुए वर्ष 2016 में संचालित सर्जिकल स्ट्राइक्स की दूसरी वर्षगांठ के मौके पर आज तीन-दिवसीय अभियान पराक्रम पर्व का आरंभ किया गया है। 29 सितंबर 2016 भारतीय सेना के लिए वो यादगार दिन है जिस दिन उड़ी हमले के बदले में भारतीय सेना ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में अनेक आतंकी ठिकानों पर हमला किया गया था। रक्षा मंत्रालय द्वारा सूचना प्रसारण मंत्रालय के सहयोग से इस संबंध में यादगारी समारोह आयोजित किए जा रहे है। मुख्य कार्यक्रम इंडिया गेट दिल्ली में और देश भर में राज्यों व केन्द्रशासित प्रदेशों में भी ऐसे समारोह आयोजित किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जोधपुर में कोणार्क स्टेडियम में पराक्रम पर्व का उद्घाटन किया और शहीदों को श्रद्धांजली अर्पित की।

उत्तरी क्षेत्र में हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, तथा केन्द्रशासित प्रदेश चण्डीगढ़ में महत्वपूर्ण सैन्य स्टेशनों, छावनियों में आम लोगों, विद्यार्थियों, युवाओं, एनसीसी कैडेट्स व वॉलिंटयर के लिए भारतीय सेना की ताकत प्रदर्शित करने के लिए सरदर पर नियंत्रण रेखा पर सैनिकों के जीवन के बारे में चलचित्र, प्रदशर्नियां व सैन्य साजो सामान व हथियारों की प्रदर्शनियां, सैनिकों के प्रशिक्षण का प्रत्यक्ष प्रदर्शन, मिलट्री बैंड प्रदर्शन, स्पेशल आउटरीच, सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

शिमला में अन्नाडेल मैदान में पराक्रम पर्व मनाया गया जहां शिमला के मुख्य स्कूलों के बच्चों, नागरिकों और भूतपूर्व सैनिकों ने बैंड प्रदर्शन, हथियारों की प्रदर्शनियों में गहरी रूचि दिखाई। बच्चों को सर्जिकल स्ट्राईक्स और हिमाचल प्रदेश के वीरों के बारे में चलचित्रों का विशेष आयोजन किया गया। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की टीम ने देशभक्ती के गीतों से समां बांधा। भारतीय सेना और भारतीय वायु सेना द्वारा जालंधर, अमृतसर, पठानकोट, आदमपुर, हिसार, शिमला, योल कैंप धर्मशाला और जम्मू में सर्जिकल स्ट्राईक्स दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किए गए।

जालंधर में, पराक्रम पर्व के अवसर पर दो दिन तक चलने वाले कार्यक्रमों को आयोजन शुरू हुआ । इस अवसर पर 11 कोर के कमांडर, लेफ्टीनेंट जनरल, दुष्यंत सिंह ने इस कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से समाज में यह संदेश जाता है कि सीमाओं की सुरक्षा से ही देश की प्रगति और विकास सुनिश्चित होते है ।  यह कार्यक्रम युवाओं को सशस्त्र सेनाओं में भर्ती होने के लिए प्रेरित करते हैं और लोगों और सेना के बीच बेहतर तालमेल बढाते हैं।  युवाओं, महिलाओं, एनसीसी कैडेट्स, स्कूली बच्चों सहित जीवन के सभी क्षेत्रों से लोगों ने इन कार्यक्रमों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।

पंजाब के आदमपुर में वायु सेना स्टेशन पर पराक्रम दिवस पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें सेना के हथियारों को प्रदर्शित किया गया। इसमें वायु सैनिकों उनके परिवारों और स्कूली बच्चों भाग लिया।

हरियाणा सरकार सभी जिलो मुख्यालयों पर ऐसे कार्यक्रम करने के साथ-साथ राज्यस्तरीय कार्यक्रम झज्जर में करेगी।

 

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *