ताज़ा समाचार

मलमास में की गई नियुक्तियां भाजपा के लिए पैदा करेंगी परेशानियां; आपसी विरोध में उलझ सकती है डॉ. बिंदल की टीम : पंडित डोगरा

शिमला: जानेमाने अंक ज्योतिषी एवं वशिष्ठ ज्योतिष सदन के अध्यक्ष पंडित शशिपाल डोगरा ने कहा कि हिमाचल भाजपा के द्वारा श्रावण अधिकमास में संगठन की नियुक्तियां करना शुभ नहीं। उन्होंने कहा कि 18 जुलाई से 16 अगस्त तक श्रावण अधिकमास चल रहा है। शास्त्रों के अनुसार इस वक्त में कोई भी नया काम नहीं करना चाहिए। प्रदेश भाजपा नेतृत्व ने 19 जुलाई को 17 जिलाध्यक्ष व 20 जुलाई को 43 अन्य पदों की नियुक्तियां कर डालीं। उन्होंने बताया कि अंक ज्योतिष के अनुसार 17 + 43 = 60 = 6 + 0 = 6 अंक शुक्र का है। शुक्र स्त्री का कारक है। भाजपा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल का 12 जनवरी, 1955 का जन्म है। उनका मूलांक 3 है, जो गुरु का अंक है। दोनों अंक आपस में अतिशत्रु अंक हैं।

ज्योतिषाचार्य पंडित शशिपाल डोगरा

पंडित डोगरा ने कहा कि 19 जुलाई 1 + 9 = 10 = 1 अंक सूर्य के अंक पर हुए जिलाध्यक्ष की 17 नियुक्तियां 1 + 7 = 8 अंक जो शनि का अंक है। दोनों अंक आपस में शत्रु अंक है। उन्होंने बताया कि यह कहीं न कहीं आपसी विरोध दे सकता है। जिसके कारण जिलाध्यक्ष को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। वहीं 20 जुलाई को 43 पदों की नियुक्तियां 4 + 3 = 7 अंक जो केतु का है। केतु बिना सिर का ग्रह है। जो कहीं न कहीं दिशाहीन करता है। इसी प्रकार 2 + 0 = 2 अंक जो चंद्र का है और चंद्रमा मन का कारक है। उन्होंने बताया कि 2 अंक चंद्र व 7 अंक केतु ग्रहण योग बनाता है। केतु उकसाने वाला ग्रह है। अध्यक्ष समेत 61 लोग संगठन में हैं। जिसका भी 6 + 1 = 7 अंक ही बनता है। केतु अग्नितत्व ग्रह है। कहीं न कहीं आग अवश्य लगा देगा। पंडित डोगरा ने कहा कि जहां भाजपा सनातन की बात करती है, वहीं दूसरी ओर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर काम सनातन के हिसाब से करते है। इधर भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने यहां पर मलमास में ही नियुक्तियां कर दी गई हैं। जो कहीं न कहीं परेशानी दे सकता है।

सम्बंधित समाचार

Comments are closed