भाजपा के 100 दिन के एजेंडे पर रहेगी नजर, ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से हों चुनाव : सुक्खू

भाजपा के 100 दिन के एजेंडे पर रहेगी नजर, ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से हों चुनाव : सुक्खू

शिमला: प्रदेश विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की हार के बाद अब पार्टी पहले से ज्यादा सक्रिय होती दिख रही है। कांग्रेस ने बीजेपी सरकार को उनके मुद्दों पर घेरने के लिए एजेंडा तैयार कर लिया है। कांग्रेस के प्रदेशाअध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने शिमला के कांग्रेस भवन में प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठक से पहले पत्रकारों से बातचीत में बताया कि विपक्ष सरकार को काम करने का मौका देना चाहती है, लेकिन जिस तरह से भाजपा नेता भ्रष्टाचार में घिरते जा रहे हैं उसे लेकर सरकार को सदन और सड़क दोनों पर घेरने में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी।

उन्होंने कहा कि हाल ही में बीजेपी सांसद वीरेद्र कश्यप पर भ्रष्टाचार के आरोपों में सोलन की सत्र अदालत में आरोप तय किए जाने के बाद कांग्रेस इस मुद्दे पर भी आक्रामक रुख अपनाएगी। चुनावी नतीजों के बाद कांग्रेस लगातार कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से हार के कारणों पर चिंतन में जुटी हुई है। कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं व नेताओं के साथ बैठके कर हर ब्लाक स्तर से फीड बैक लेकर सुधार करने की तरफ बढ़ने की बात कर रही है और इसे कांग्रेस की 2019 की तैयारियों के रूप में देखा जा रहा है।

 वहीं प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने ईवीएम का प्रयोग बंद कर चुनाव बैलेट पेपर से करवाए जाने की भी बात कही। इस बाबत पीसीसी ने अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू की अगुवाई में प्रदेश चुनाव आयुक्त के माध्यम से मुख्य चुनाव आयुक्त भारत सरकार को ज्ञापन भेजा है। पीसीसी का कहना है कि ईवीएम की निष्पक्षता सवालों के घेरे में है। अनेक चुनावों के अप्रत्याशित चुनाव नतीजों में ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोपों पर संदेह पुख्ता भी हुआ है। इसलिए देश में आने वाले समय में होने वाले चुनाव ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से करवाएं जाएं। पार्टी नेताओं ने इस मामले में प्रदेश चुनाव आयुक्त को ज्ञापन सौंपा और लोकसभा चुनाव ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से करवाने की मांग की।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *