हिमाचल का जवान कश्मीर में शहीद, मुख्यमंत्री ने जताया शोक

बंगाणा : जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर में उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ के दौरान हिमाचल के 32 वर्षीय ब्रिजेश कुमार शहीद हो गए। ब्रिजेश कुमार ऊना जिला के बंगाणा उपमण्डल के नानवीं गांव के रहने वाले थे। शुक्रवार सुबह करीब 3 बजे वह सोपोर में आतंकी हमले में शहीद हो गए। सैनिक के शहीद होने की सूचना मिलते ही क्षेत्र में माहौल गमगीन हो गया। शहीद बृजेश अपने पीछे 6 वर्षीय बेटी और 2 महीने की गर्भवती पत्नी को छोड़ गए हैं। बता दें कि बृजेश का जन्म वर्ष 1985 में हुआ था। बृजेश की शादी 2009 में मलांगड की श्वेता शर्मा से हुई थी। उनके पिता स्व. धर्म चंद भी रेलवे की नौकरी से सेवानिवृत हुए थे। शहीद सैनिक का शव अभी पैतृक गांव नहीं पहुंचा है। शनिवार को उनकी पार्थिव देह पैतृक गांव में पहुंचेगी, जहां सैन्य सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी जाएगी। बृजेश शर्मा 14 पंजाब रेजीमेंट में वर्ष 2003 में भर्ती हुए थे और वर्तमान में जम्मू-कश्मीर के शोपियां में तैनात थे।

  • मुख्यमंत्री ने जताया शोक

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने सैनिक ब्रिजेश कुमार, जो शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर में उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गए थे, की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया है। 32 वर्षीय ब्रिजेश कुमार ऊना जिला के बंगाणा उपमण्डल के नानवीं गांव के रहने वाले थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्रिजेश कुमार ने देश की एकता, अखण्डता व सुरक्षा के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के वीर जवानों ने देश के खातिर हमेशा से सर्वोच्च बलिदान दिए हैं तथा उनके ये बलिदान देश व प्रदेश के लोगों द्वारा हमेशा याद किए जाएंगे। अपने शोक सन्देश में जय राम ठाकुर ने शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदनाएं प्रकट की हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के लोग इस दुःख की घड़ी में उनके साथ खड़े हैं। उन्होंने दिवंग्त आत्मा की शान्ति के लिए प्रार्थना की।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18  +    =  24