मंत्रिमंडल ने दी अनुबंध आधार पर प्रदेश के संस्कृत महाविद्यालयों में आचार्यों के 9 पदों को भरने की स्वीकृति

हिमाचल प्रदेश मंत्रिमण्डल के अन्य निर्णय

  • मंत्रिमण्डल ने हिमाचल प्रदेश रीवर राफटिंग नियम, 2005 के संशोधन को स्वीकृति प्रदान की।
  • बैठक में हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा नियम, 1973 के नियम 10 (1) के अन्तर्गत अनुबंध-3 और नियम 10 (3) के अन्तर्गत अनुबंध-5 की धारा (सी) के संशोधन की स्वीकृति प्रदान की।
  • शिमला: बैठक में हि.प्र. राज्य खाद्य आपूर्ति निगम के ऐसे अधिकारियों/कर्मचारियों को 10 हजार रुपये की अनुदान राशि प्रदान करने को मंजूरी प्रदान की गई, जो बोनस अधिनियम 2014-15 के अन्तर्गत नहीं आए।
  • मंत्रिमण्डल ने ऊना जिले के उप-मोहाल बाग में केन्द्रीय गृह मंत्रालय के सतर्कता ब्यूरो (आई.बी) के नाम पर भूमि हस्तांतरित करने को मंजूरी प्रदान की।
  • बैठक में चम्बा जिले के कंडा में राजकीय पॉलीटैक्निक बनीखेत का नाम बदलकर राजीव गांधी राजकीय पॉलीटैक्निक बनीखेत करने को मंजूरी प्रदान की गई।
  • मंत्रिमण्डल ने चम्बा जिले के साच (पांगी) में उप-तहसील खोलने तथा सिहूंता में उप-तहसील को तहसील में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया।
  • बैठक में कांगड़ा जिले के नगरोटा बगवां में राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग कालेज में आउटसोर्स आधार पर सफाई सेवाओं के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गई। इसके अलावा, आउटसोर्स आधार पर दो मेट की सेवाएं लेने की भी मंजूरी दी गई।
  • मंत्रिमण्डल ने हि.प्र. अल्पसंख्यक वित्त एवं विकास निगम शिमला की हिस्सेदारी पूंजी को 10 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 13 करोड़ रुपये करने तथा ब्लॉक सरकार गारंटी को 15 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 20 करोड़ रुपये करने को भी मंजूरी प्रदान की।
  • बैठक में शौर्य पुरस्कार विजेताओं को मिलने वाली राशि को संशोधित करने का निर्णय लिया गया।
  • मंत्रिमण्डल ने तीर्थन नदी, उसकी सहायक नदियों व उप सहायक नदियों पर स्थापित होने वाली लघु जल विद्युत परियोजना को रद्द करने का निर्णय लिया।
  • बैठक में सोलन जिले के नालागढ़ (दिरांेवाल) में उप-जेल खोलने को स्वीकृति प्रदान की गई।
  • मंत्रिमण्डल ने ऊना जिले के मण्डली में बीहरू कलां में उप-तहसील खोलने को मंजूरी प्रदान की।
  • बैठक में नूरपूर में नियमित पशु औषधालय खोलने व इसके लिए अनुबन्ध आधार पर पद सृजित करने का निर्णय लिया गया, क्योंकि उपमण्डल पशु अस्पताल मथोली में स्थानांतरित हो गया है।
  • म्ंत्रिमण्डल ने कांगड़ा के नियाल और सिखनारा गांवों में स्टाफ सहित नियमित पशु औषधालय खोलने का निर्णय लिया।
  • बैठक में कांगड़ा जिले के सुहानी, बलुगालवा, रजीयाणा तथा मण्डी जिले के दरंग में तरयामबली के पशु औषधालयों को पशु अस्पताल में स्तरोन्नत करने की मंजूरी प्रदान की गई।
  • मंत्रिमण्डल ने ओगली तथा सनोट गांवों में नए पशु औषधालय खोलने तथा शिमला जिले के खलग, दाड़गी और मडावग के पशु औषधालयों को पशु अस्पताल में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *