ताज़ा समाचार

कांग्रेस सरकार ने 1,844 कोरोना आउटसोर्स कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया, क्या यह तुगलकी फरमान है : बिहारी

शिमला: भाजपा प्रदेश महामंत्री बिहारी लाल शर्मा ने कहा की प्रदेश सरकार ने 1,844 कोरोना आउटसोर्स कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इन कर्मचारियों को ईमेल के अलावा बर्खास्तगी के ऑर्डर घर भेजे गए हैं। क्या यह इस सरकार के तुगलकी फरमानों का एक भाग है। ऐसा प्रतीत होता है कि इस सरकार के पास दिल नाम की कोई चीज नहीं है मानवता को यह बहुत पीछे छोड़ आई है।

पत्र में इन कर्मचारियों को अस्पताल में नहीं आने के लिए कहा गया है। कोरोना काल के दौरान इन कर्मचारियों की तैनाती की गई थी। कोरोना वार्ड के अलावा अस्पतालों की ओपीडी में इनकी नियुक्ति की गई थी। इसके अलावा लैब में मरीजों के टेस्ट करने का जिम्मा भी इन कर्मचारियों पर था ।नौकरी से निकालने पर इन कर्मचारियों में सरकार के प्रति रोष व्याप्त है।

उन्होंने बताया की विधानसभा के भीतर विपक्ष के नेता जयराम ठाकुर और भाजपा विधायकों ने इस मामले को प्रमुखता से उठाया था। सरकार से इन कर्मचारियों की नौकरी बहाल करने की मांग की गई। भाजपा ने भी विधानसभा के बाहर प्रदर्शन के दौरान कर्मचारियों की सेवाएं बहाल करने की मांग भी की थी । अब इन कर्मचारियों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है।

उन्होंने कहा कि इनका नौकरी से निकल जाना दुर्भाग्यपूर्ण है और हिमाचल के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है। इन लोगों के घर नौकरी कर चल रहे थे और खासकर इन लोगों के तो जन सेवा में भी उत्तम योगदान था।
भाजपा प्रदेश सरकार से मांग करती है कि इन लोगों के लिए एक स्थाई नीति बनी चाहिए और इसकी नौकरी पक्की होनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि भाजपा आने वाले समय में कई प्रकार से इस मामले को लेकर सरकार के आय से संवाद करने का प्रयास करेंगे, बड़ी जल्द हम इस मामले को लेकर अनेकों ज्ञापन भी सौंपेंगे।

सम्बंधित समाचार

Comments are closed