प्रदेश में बारिश व आंधी-तूफान से कई घरों व फसलों को नुकसान, शनिवार और रविवार को भी भारी बारिश के आसार

हिमाचल: प्रदेश में पिछले कल यानि शुक्रवार रात को प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश के साथ आंधी तूफान से कई घरों व फसलों को नुकसान हुआ है। शिमला जिले में रात को आए तूफ़ान ने क़हर बरपाया और जुब्बल के सासकिर में मकान, गौशाला पर पेड़ गिरने से काफी नुकसान हुआ। 

अंधड़ ने ऊपरी शिमला में सेब के बागीचों पर कहर बरपाया। ठियोग कुमारसेन व चौपाल सहित अन्य इलाकों में सेब के पेड़ जड़ों के साथ उखड़ गए।

रामपुर उपमंडल की ननखड़ी विकासखंड के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बराच के भवन की छत तूफान के कारण उड़ गई। वहीं स्कूल की दीवार क्षतिग्रस्त हो गई। स्थानीय ग्रामीणों ने प्रशासन से आग्रह किया स्कूल भवन को हुई क्षति का आंकलन लगाकर जल्द छत का मुरम्मत कार्य किया जाए, ताकि स्कूल खुलने पर विद्यार्थियों को बैठने की उचित व्यवस्था हो सके।

राजगढ़ में ग्राम पंचायत धनच मानवा के प्राथमिक विद्यालय कलोहा शकेण के भवन को तूफान की वजह से भारी क्षति हुई है स्थानीय पंचायत प्रधान ने विभाग से स्कूल खुलने से पूर्व विद्यालय की मुररम्मत के लिए बजट उपलब्ध करवाने की मांग की।

वहीं ज़िला सिरमौर के राजगढ़ में बीती रात आए तूफान से इलाके में भारी नुकसान हुआ है इलाके के चाडना गांव के एक गरीब परिवार के घर की छत उड गयी। स्थानीय लोगों द्वारा गरीब परिवार की मदद की गयी।

मण्डी समेत कई इलाकों में शनिवार तड़के एकाएक बारिश शुरू हुई और तूफान भी आया। इस दौरान फसलों को नुकसान पहुंचा कांगड़ा जिले उपमंडल इंदौरा में गुरुवार देर रात आंधी-तूफान ने एक व्यक्ति की जान ले ली। धमोता गांव के 72 वर्षीय बुजुर्ग पर तूफान के कारण सफेदा का पेड़ गिर गया और उनकी मौत हो गई।

शनिवार से प्रदेश में प्री-मानसून के आने के आसार हैं और शनिवार और रविवार को भारी बारिश, अंधड़ और ओलावृष्टि का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। लोगों को नदी, नालों से दूर रहने की अपील की गई है।मौसम विभाग ने दो दिन आज व कल यानी शनिवार व रविवार को भारी बारिश की संभावना जताई है। इसे लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इस दौरान 40 किमी की रफ्तार से आंधी व भारी बारिश की संभावना है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

54  −    =  52