राज्य आयुर्वेदिक फार्मासिस्ट महासंघ ने की प्रदेश सरकार से संशोधित वेतनमान की मांग

राज्य आयुर्वेदिक फार्मासिस्ट महासंघ ने की प्रदेश सरकार से संशोधित वेतनमान की मांग

  • आयुर्वेदिक फार्मासिस्टों को स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत फार्मासिस्टों के समान दी जाए ग्रेड पे : महासंघ

शिमला : हिमाचल प्रदेश राज्य आयुर्वेदिक फार्मासिस्ट महासंघ ने हिमाचल प्रदेश सरकार से आयुर्वेद विभाग में कार्यरत आयुर्वेदिक फार्मासिस्टों को संशोधित वेतनमान/ ग्रेड-पे प्रदान करने की मांग की है। महासंघ के प्रधान विनोद शर्मा, महासचिव तिलक ठाकुर और वरिष्ठ उपाध्यक्ष कुलदीप चंदेल ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा है कि पंजाब में आयुर्वेदिक फार्मासिस्ट का पद न होने के कारण हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा 1-4-1978 से हिमाचल प्रदेश के आयुर्वेदिक विभाग में कार्यरत आयुर्वेदिक फार्मासिस्टों को स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत फार्मासिस्टों के समान वेतनमान जारी किए गए हैं। 1-1-1986 से 1-1-1996 और 1-1-2006 को भी सभी वेतनमान समान जारी किए गए। लेकिन 1-10-2012 को स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत फार्मासिस्टों को 10300-34800 और 4200 ग्रेड पे जारी की गई। जबकि आयुर्वेद विभाग में कार्यरत आयुर्वेदिक फार्मासिस्टों को 5910-20200 और 3000 ग्रेड पे ही दी जा रही है। इससे आयुर्वेदिक फार्मासिस्टों में निराशा का माहौल बना हुआ है। महासंघ ने सरकार से मांग की है कि आयुर्वेदिक फार्मासिस्टों को भी 10300-34800 और 4200 ग्रेड पे स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत फार्मासिस्टों के समान जारी की जाए।

इसके अतिरिक्त महासंघ ने आयुर्वेदिक फार्मासिस्टों के 226 पदों को भरने की प्रक्रिया के लिए हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और स्वास्थ्य एवं आयुर्वेद मंत्री विपिन परमार का भी आभार जताया है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *