त्यौहार व मेले (Page 2)

भाई-बहन के पावन संबंध व प्रेमभाव का त्यौहार : भाई दूज

भाई-बहन के पावन संबंध व प्रेमभाव का त्यौहार “भाई दूज”

कार्तिक शुक्ल द्वितीय को भाई दूज का पर्व पूरे भारत वर्ष में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। दीवाली के त्यौहार के साथ केवल दीपमालाएं ही नहीं बल्कि अनेकों उत्सवों की मालाएं भी गुंथी हुई हैं।...

ऑफिस, दुकान और फैक्ट्री के लिए पूजन का सही समय👇

शिमला/ सत्यदेव शर्मा सहोड़: 4 नवंबर 2021, गुरुवार के दिन दोपहर 12 बजकर 10 मिनट से लेकर 1 बजकर 35 मिनट तक का समय शुभ है. यह समय दुकान, फैक्ट्री, व्यापारिक स्थल पर पूजा करने के लिए श्रेष्ठ समय है। लक्ष्मी...

दिवाली का पौराणिक महत्व, पंच-पर्वों का त्‍यौहार: दीपावली

“धनतेरस” दीपावली पर्व की शुरुआत का प्रतीक…

दिवाली का पौराणिक महत्व, पंच-पर्वों का त्‍यौहार: दीपावली दीपावली की पूरी रात दीपक प्रज्‍वलित रखते हैं, जिसके संदर्भ में हिन्‍दु धर्म में कई मान्‍यताऐं हैं, जिनमें से कुछ का वर्णन पिछले...

हिमाचल: गाँव में आठ दिन पहले “घरेसू” (कहारू) जलाकर होता है “दिवाली” का आगाज

बच्चे सूखी घास के पूले का एक लंबा गटठा बनाकर जिसे आम भाषा में घरेसू या कहारू कहा जाता है। शाम को खाना खाने से पहले अंधेरा होने पर घरों से दूर खलियान, खुले मैदान या जगह पर घुमाते हुए जलाया जाता...

करवा चौथ पर पांच साल बाद शुभ योग, सूर्य देव भी देंगे आशीर्वाद

पूजा का मुहूर्त:  विवाहिताओं के लिए पति की लंबी उम्र की कामना का महापर्व करवा चौथ इस बार कई अच्छे संयोग के साथ आ रहा है। कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि 24 अक्टूबर रविवार को पड़ रही है। खास बात...

पति-पत्नी के मजबूत रिश्ते, प्यार और विश्वास का प्रतीक: करवा चौथ

पति-पत्नी के मजबूत रिश्ते, प्यार और विश्वास का प्रतीक: करवा चौथ

सभी विवाहित (सुहागिन) महिलाओं के लिये करवा चौथ बहुत महत्वपूर्ण त्यौहार हैं। ये एक दिन का त्यौहार प्रत्येक वर्ष मुख्यतः उत्तरी भारत की विवाहित (सुहागिन) महिलाओं द्वारा मनाया जाता है। इस दिन...

अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा कल से, ना होगा विधिवत शुभारंभ और ना ही समापन

देवी-देवताओं के महासंगम का गवाह : कुल्लू दशहरा

कुल्लू के दशहरे का अपना इतिहास, पृष्ठभूमि व सांस्कृतिक परम्परा कुल्लू में दशहरे का शुभारंभ 17वीं शताब्दी में हुआ देश भर में मनाया जाने वाला दशहरा पर्व जहां आसुरी शक्तियों पर दैवी शक्तियों की...