पैतृक गांव पहुंचा शहीद का पार्थिव शरीर, दो साल पहले सेना में भर्ती हुआ था मनीष

राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने मनीष की शहादत पर किया शोक व्यक्त

शिमला : राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने 18 नवम्बर को सियाचीन के उत्तरी ग्लेशियर के नजदीक गश्त के दौरान ग्लेशियर की चपेट में आ जाने के कारण जिला सोलन, कुनिहार खण्ड, गांव दोची के मुनीष की शहादत पर गहरा शोक व्यक्त किया है। 22 वर्षीय मनीष भारतीय सेना की डोगरा रेजिमेंट में कार्यरत थे।

राज्यपाल ने अपने शोक संदेश में मनीष को एक देशभक्त और सच्चा सिपाही बताया है, जिन्होंने राष्ट्र के लिए अपना बलिदान दिया। उन्होंने भगवान से दिवंगत आत्मा की शान्ति और शोक संतप्त परिवार को इस दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की कामना की। उन्होंने शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति भी अपनी गहरी सहानुभूति व्यक्त की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मनीष के निधन से उन्हें गहरा दुःख पहुंचा है। मुख्यमंत्री ने अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि वह मनीष के साहस और राष्ट्र की सेवा के लिए उन्हें सलाम करते हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *