हिमाचल :"हैल्थकेयर" योजना के तहत प्रति परिवार मिलेगी 5 लाख की कैशलैस उपचार कवरेज

हिमाचल :”हैल्थकेयर” योजना के तहत प्रति परिवार मिलेगी 5 लाख की कैशलैस उपचार कवरेज

  • हिमाचल स्वास्थ्य देखभाल योजना स्वास्थ्य क्षेत्र में नया अध्यायः विपिन सिंह परमार
  • मेडिकल कॉलेज चम्बा के सुदृढ़ीकरण के लिए जताया मुख्यमंत्री का आभार

शिमला: राज्य में हिमाचल स्वास्थ्य देखभाल योजना (हैल्थकेयर) स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक मील का पत्थर साबित होगी। यह बात स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने कही। उन्होंने योजना को लागू करने के निर्णय के लिए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का आभार जताया है। योजना के तहत प्रति परिवार पांच लाख रुपये की कैशलैस उपचार कवरेज प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि योजना में राज्य के वह सभी परिवार शामिल होंगे जो आयुषमान भारत योजना के तहत शामिल नहीं हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य में अनेक स्वास्थ्य योजनाएं कार्यान्वित की जा रही हैं और अधिकांश आबादी निःशुल्क चिकित्सा उपचार के दायरे में आ गई है। उन्होंने कहा कि लोग धनाभाव के कारण गंभीर बीमारियों का उपचार नहीं करवा पाते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

विपिन सिंह परमार ने कहा कि मंत्रिमण्डल ने पण्डित जवाहर लाल नेहरू राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय चम्बा में सहायक प्रोफेसरों के 15 रिक्त पदों को भरने का जो निर्णय लिया है, उससे कॉलेज में गुणात्मक सुधार आएगा। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया है।

इसी प्रकार, स्वास्थ्य के क्षेत्र में दो अन्य महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं जिनमें मण्डी जिला के सराज क्षेत्र में राजकीय फार्मेसी कालेज खोलने को सैद्धान्तिक मंजूरी प्रदान करना तथा कांगड़ा जिला के सैन गांव में आवश्यक पदों के सृजन सहित आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने को स्वीकृति प्रदान करना शामिल हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवाओं को सृदृढ़ करने के प्रति गंभीर हैं और मंत्रिमण्डल की प्रत्येक बैठक में स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए एक नहीं, बल्कि अनेक निर्णय लिए जा रहे हैं। उन्होंने चिकित्सकों व पैरा मेडिकल कर्मियों से आग्रह किया है कि वे सरकार के प्रयासों को फलीभूत करने के लिए समर्पण व मिशन की भावना के साथ कार्य करें जिससे मरीजों को उनके घर-द्वार के समीप गुणात्मक उपचार सुविधा प्राप्त हो।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *