“मुख्यमंत्री युवा आजीविका” योजना व “मुख्यमंत्री लोक भवन” योजनाओं का शुभारंभ

“मुख्यमंत्री युवा आजीविका” योजना व “मुख्यमंत्री लोक भवन” योजनाओं का शुभारंभ

  • योजना करेगी 18 से 35 वर्ष के आयु वर्ग के सभी हिमाचली युवाओं को कवर
  • राष्ट्रीय स्तरीय सारस मेला-2018 का किया शुभारम्भ

कांगड़ा : कांगड़ा जिला के पुलिस मैदान धर्मशाला में राज्य ग्रामीण विकास विभाग द्वारा आयोजित राष्ट्रीय सारस मेला-2018 का मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज उद्घाटन किया।

इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए जय राम ठाकुर ने कहा कि उनके पिछले कार्यकाल में बतौर ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री राज्य में सारस मेले का आयोजन किया गया था। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में यह मेला पहली बार मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सारस मेले के आयोजन का मुख्य उद्देश्य स्वयं सहायता समूहों को बिना किसी बिचौलियों के अपने उत्पादों को सीधे खरीददारों को बेचने का अवसर प्रदान करना है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सबका कल्याण-सबका विकास-सबका साथ उद्देश्य के साथ कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के बिना राज्य के विकास के बारे में सोचना सम्भव नहीं है। इसलिये राज्य सरकार प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के विकास को विशेष महत्व दे रही है। उन्होंने कहा कि राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार किए गए उत्पादों को बेचने की बेहतर विपणन सुविधाएं प्रदान करने के राज्य सरकार प्रयास कर रही है।

जय राम ठाकुर ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना की भी शुरूआत की। योजना के अन्तर्गत युवाओं को सशक्त करने के लिए व्यापार/दुकानों, रेस्तरां, यात्रा संचालक, सहासिक पर्यटन, पारम्परिक हस्तशिल्प इत्यादि व्यवसायों में स्वरोजगार शुरू करने के लिए उन्हें प्रोत्साहन प्रदान करना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह महत्वाकांक्षी योजना 18 से 35 वर्ष के आयु वर्ग के सभी हिमाचली युवाओं को कवर करेगी। उन्होंने कहा कि पात्र युवाओं को बैंकों से 30 लाख रुपये तक के ऋण पर 25 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि इसके अलावा ऋण राशि पर तीन वर्ष की अवधि के लिए पांच प्रतिशत ब्याज अनुदान भी प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि महिला उद्यमियों के मामले में सब्सिडी 30 प्रतिशत होगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने योजना के अन्तर्गत वर्तमान वित्त वर्ष के लिए बजट में 75 करोड़ का प्रावधान किया है।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जन मंच को लोगो भी जारी किया। उन्होंने सैलानियों को लाभान्वित करने के लिए ‘नमस्ते धर्मशाला’ पुस्तिका का भी विमोचन किया।  मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना की दिशा निर्देशिका भी जारी की।

जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश के सभी क्षेत्रों का विकास तथा सभी लोगों का कल्याण सुनिश्चि कर रही है। उन्होंने कहा कि पूर्व राज्य सरकार के वित्तीय कुप्रबन्धन के कारण राज्य 46,500 करोड़ के वित्तीय बोझ से जूझ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उदारता के कारण राज्य में विकास को गति मिली है। उन्होंने कहा कि राज्य लगभग 10 वर्षों की अल्प अवधि के दौरान 9000 करोड़ की विकास परियोजनाओं को स्वीकृत करवाने में सफल रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली राज्य सरकार ने प्रदेश में बिना किसी बजट प्रावधान के शिक्षा तथा स्वास्थ्य संस्थान खोले। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी कांगड़ा जिला के लोगों के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का उपहार है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी पर कार्य में तेजी लाने के प्रयास किए जाएंगे।

जय राम ठाकुर ने कहा कि केन्द्रीय विश्वविद्यालय भवन का निर्माण शीघ्र किया जाएगा ताकि यह महत्वकांक्षी योजना शीघ्र पूरी हो सके। उन्होंने कहा कि धर्मशाला तथा देहरा में एक ही दिन में विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि चम्बा जिला में सीमेंट कारखाना लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य में निवेशकों को आकर्षित करने के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष फरवरी माह में धर्मशाला में निवेशक सम्मेलन आयोजित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर प्रदेश के लिए मुख्यमंत्री लोक भवन योजना का भी शुभारम्भ किया। योजना के अन्तर्गत प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में 30 लाख रुपये की लागत से लोगों को विभिन्न सामाजिक कार्यक्रम आयोजित करने के लिए समुदायिक भवनों का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने इस अवसर पर प्रदेश के कुछ खण्ड विकास कार्यालयों के विकास खण्ड अधिकारियों को 20 लाख रुपये की प्रथम किश्त भी जारी की।

 

 

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *