केन्द्र सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर मुख्यमंत्री ने आरम्भ की तीन योजनाएं

केन्द्र सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर मुख्यमंत्री ने आरम्भ की तीन योजनाएं

  • प्रत्येक माह के प्रथम रविवार को आयोजित किया जाएगा जनमंच
  • 33,600 महिलाओं को इस वर्ष उपलब्ध करवाए जाएंगे गैस कनेक्शन

शिमला: जनमंचयोजना से लोगों की समस्याओं का प्रभावी ढंग से निपटारा तथा मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजनाका उद्देश्य प्रदेश के युवाओं को स्वरोज़गार के लिए सहायता उपलब्ध करवाना है और हिमाचल गृहणी सुविधा योजनाके तहत भारत सरकार द्वारा आरम्भ की गई उज्जवला योजनाके अन्तर्गत लाभान्वित न हो सकी महिलाओं को रसोई गैस सिलेण्डर की प्रतिभूति तथा गैस चुल्हा उपलब्ध करवा कर उनका सुदृढ़ीकरण एवं पर्यावरण सरक्षण सुनिश्चित बनाना है। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां प्रदेश के विकास एवं कल्याण के लिए महत्वकांक्षी योजनाओं का शुभारम्भ किया।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने इस अवसर पर कहा कि यह सभी योजनाएं आज केन्द्र सरकार के चार वर्ष का कार्यकाल पूरा होने के अवसर पर आरम्भ की गई इन सभी योजनाओं से प्रदेश के लोगों के जीवन में उल्लेखनीय परिवर्तन आएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार ने अन्य राष्ट्रों के बीच देश का विशेष स्थान सुनिश्चित बनाया है। उन्होंने कहा कि देश के लोगों ने मोदी तथा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पूर्ण सहयोग दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनमंच योजना से लोक शिकायतों के निवारण में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से न केवल लोगों के लिए आरम्भ की गई कल्याणकारी योजनाएं समय पर सुनिश्चित होगी बल्कि इससे वांछित परिणाम प्राप्त होने भी सुनिश्चित होंगे। उन्होंने कहा कि जनमंच विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रवार आयोजित किए जाएंगे और यह सुनिश्चित बनाया जाएगा कि इनका गठन निर्वाचन क्षेत्र के दूरदराज क्षेत्रों में किया जाए ताकि दूरदराज क्षेत्रों के लोगों की शिकायतों का निवारण उनके घर के नजदीक सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि ‘जनमंच’ प्रत्येक माह के प्रथम रविवार को आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मंत्रियों व सरकार के चुने हुए प्रतिनिधियों को प्रत्येक विभाग के अधिकारियों के साथ बैठकों में अपनी उपस्थिति सुनिश्चित बनानी होगी।

जय राम ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना प्रदेश के युवाओं को स्वरोज़गार के अवसर उपलब्ध करवाएगी। उन्होंने कहा कि 18 से 35 वर्ष आयु वर्ग के युवाओं को मशीनरी खरीदने के लिए 25 प्रतिशत उपदान प्रदान किया जाएगा और 40 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिए यह उपदान राशि 30 प्रतिशत होगी। इसके अतिरिक्त, तीन वर्षों के लिए 5 प्रतिशत ब्याज उपुदान भी उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिमाचल गृहणी सुविधा योजना का उद्देश्य महिलाओं का सुदृढ़ीकरण व पर्यावरण संरक्षण है। उन्होंने कहा कि योजना के अन्तर्गत महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन प्रदान किए जाएंगे और यह सुनिश्चित बनाया जाएगा कि उज्जवला योजना के अन्तर्गत लाभान्वित न होने वाले सभी परिवारों को गैस कनेक्शन सुनिश्चित बनाए जाएगे। उन्होंने कहा कि इस योजना के अन्तर्गत रसोई गैस सिलेण्डर व गैस चुल्हा खरीदने के लिए 3500 रुपये का पैकेज प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश देश का ऐसा पहला राज्य बन जाएगा जहां प्रत्येक घर की रसोई धुआं रहित होगी।

उन्होंने कहा कि इन योजनाओं का अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित करने के लिए प्रभावी ढंग से प्रचार सुनिश्चित बनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न भागों के लोगों से उनकी समस्याओं के निपटान बारे वार्तालाप किया। उन्होंने इस अवसर पर जनमंच योजना की दिशा-निर्देर्शिका जारी की। उन्हांने मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना की दिशा-निर्देशिका का भी विमोचन किया। उन्होंने लाभार्थियों को हिमाचल गृहणी सुविधा योजना के अन्तर्गत गैस कनेक्शन के दस्तावेज भी प्रदान किए।

पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार न केवल अपने वायदों को पूरा कर रही है बल्कि प्रदेश के लोगों के कल्याण के लिए विभिन्न महत्वकांक्षी योजनाएं आरम्भ कर उससे उनका प्रभावी क्रियान्वयन कर लोगों को लाभान्वित कर रही है। उन्होंने प्रदेश के लोगों के लिए 30 नई योजनाएं आरम्भ करने के लिए प्रदेश सरकार की सराहना की।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *