बिक्रम सिंह ने केन्द्रीय कपड़ा उद्योग मंत्री से उठाए लम्बित मुद्दे

बिक्रम सिंह ने केन्द्रीय कपड़ा उद्योग मंत्री से उठाए लम्बित मुद्दे

  • मण्डी, कुल्लू तथा कांगड़ा जिलों के लिये तीन और क्लस्टर स्वीकृत करने का आग्रह
  • लम्बित परियोजनाओं व विभिन्न योजनाओं के तहत धनराशि जारी करने का आग्रह

शिमला: उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने नई दिल्ली में केन्द्रीय कपड़ा उद्योग मंत्री स्मृति ईरानी से मुलाकात की। बिक्रम सिंह ने उन्हें कपड़ा उद्योग मंत्रालय के साथ विभिन्न लम्बित मुद्दों के बारे अवगत करवाया। उन्होंने लम्बित परियोजनाओं की शीघ्र स्वीकृतियां प्रदान करने तथा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत धनराशि जारी करने का आग्रह किया। मंत्रालय को शिल्पकारों व बुनकरों के कौशल उन्नयन तथा प्रशिक्षण के लिए 21 परियोजनाएं भेजी गई हैं, जिनमें से 11.80 लाख रुपये की केवल छः परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं, जबकि 15 परियोजनाएं अभी भी लम्बित हैं। उन्होंने कहा कि 56 लाख रुपये की राशि की कुल्लू के अखाड़ा बाजार की 96 बुनकरों से जुड़ी एक परियोजना की स्वीकृति की भी प्रतीक्षा की जा रही है।

उद्योग मंत्री ने कहा कि 49 तकनीकी कार्यक्रमों के लिये 1.32 लाख रुपये की (50 प्रतिशत) राशि जारी की गई है तथा 50 प्रतिशत की राशि जारी की जानी शेष है। आठ प्राथमिक बुनकर समितियों के विपणन प्रस्तावों/दावों के अंतर्गत 2.02 करोड़ रुपये की राशि पिछले तीन वित्त वर्षों से लम्बित है।

उद्योग मंत्री ने केन्द्रीय मंत्री से मण्डी, कुल्लू तथा कांगड़ा जिलों के लिये तीन और क्लस्टर स्वीकृत करने का आग्रह किया। राज्य के बुनकरों के लिये दो क्लस्टर्ज स्वीकृत किए गए हैं और प्रत्येक के लिये 96.25 लाख रुपये की राशि का प्रावधान है। बिक्रम सिंह ने केन्द्रीय मंत्री को अवगत करवाया कि वर्तमान में राज्य के चंबा, कागड़ा, कुल्लू, सोलन, मण्डी तथा बिलासपुर जिलों में राज्य हस्तशिल्प एवं हथकरघा निगम द्वारा नौ प्रशिक्षण केन्द्र चलाए जा रहे हैं। 1.32 करोड़ की केन्द्रीय सहायता से संचालित इन केन्द्रों में 360 हस्तशिल्प कारीगरों को हाथ से कढ़ाई, धातु शिल्प, शॉल बुनाई, चमड़ा कारीगरी, काश्त कला तथा कढ़ाई व बुनाई का प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *