मुख्यमंत्री ने रखी शिमला शहर में कई विकासात्मक योजनाओं की आधाशिलाएं

मुख्यमंत्री ने रखी शिमला शहर में कई विकासात्मक योजनाओं की आधाशिलाएं

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि लोगों द्वारा न्यू शिमला में निर्मित बेसमेंट पार्किंग को खोला जाएगा ताकि खाली पड़े पार्किंग स्थलों और सड़कों पर वाहनों के दबाव को कम किया जा सके। मुख्यमंत्री आज न्यू शिमला में 5 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन की आधारशिला रखने के उपरान्त बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि न्यू शिमला का तेजी से विस्तार हो रहा है, लेकिन अब बड़े वाहनों की आवाजाही के लिए मुश्किल से कोई स्थान बचा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि फिर भी जहां भी क्षेत्र में सड़क के विस्तार की संभावना होगी, वहां योजनाबद्ध तरीके से कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुविधा के लिए न्यू शिमला मार्ग पर छोटी ब्ल्यूलाईन बसें चलाई जाएंगी। इसके अतिरिक्त, लोगों की सुविधा के लिए टैम्पो ट्रेवलर सेवा भी आरम्भ की जाएगी। उन्होंने कहा कि न्यू शिमला से बस स्टैंड़ तक टैम्पो ट्रेवलर चलाने का मामला हिमाचल पथ परिवहन निगम से उठाया जाएगा। वीरभद्र सिंह ने न्यू शिमला में आधुनिक शवदाह गृह के निर्माण की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि न्यू शिमला के लोगों को पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए अलग से पाईप लाईन बिछाई जाएगी, क्योंकि पानी प्राप्त करने का एकमात्र स्त्रोत अश्वनी खड्ड ही है। मुख्यमंत्री ने जिस प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की आधारशिला रखी गई, के विस्तार पर भी बल दिया। इससे पूर्व, चम्याणा में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने ज्वाला माता मन्दिर में पांच लाख रुपये की लागत से सराय भवन के निर्माण की घोषणा की। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को टिपरा-जगरोटी सड़क को 15 दिनों के भीतर पक्का करने के भी निर्देश दिए। वीरभद्र सिंह ने दयोली कालोनी के लोगों को 15 दिनों के भीतर पेयजल उपलब्ध करवाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जब भी प्रदेश सरकार शिमला के भीतर डिग्री कालेज खोलने का विचार करेगी, तो मल्याणा में लड़कियों का महाविद्यालय खोलने को प्राथमिकता दी जाएगी। उन्होंने एसडीए परिसर और इसके नजदीक पार्किंग निर्माण की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने चम्याणा में 5 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 33 के.वी. विद्युत उप-केन्द्र का भी लोकार्पण किया। इससे भट्टाकुफर, पटगैर, समीटरी, सब्जी मण्डी ढली व नजदीक के क्षेत्रों के लोगों को निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित होगी तथा चार पंचायतों के 15 गांवों के लगभग 5000 लोग लाभान्वित होंगे।

इससे पूर्व, ग्राम पंचायत चम्याणा के प्रधान रत्न चन्द ठाकुर ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया।  वीरभद्र सिंह ने न्यू शिमला में शुरूआत में एक करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 70 वाहनों की क्षमता वाली बहुमंजिला कार पार्किंग का भी शुभारम्भ किया। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने आरकेएमवी में 50 लाख रुपये की लागत से कन्या छात्रावास की अतिरिक्त मंजिल की भी आधारशिला रखी। उन्होंने राष्ट्रीय बाकसिंग प्रतियोगिता में रजत पदक जीतने वाली शशी कला नेगी को भी सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने आरकेएमवी भवन के खण्ड के निर्माण कार्य का भी निरीक्षण किया। इसके उपरान्त, मुख्यमंत्री ने संकटमोचन में 6.80 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 33 के.वी. विद्युत उप-केन्द्र का भी लोकार्पण किया। इससे तारादेवी, चमरोग, बधाई, संकटमोचन, चक्कर, धार, त्यारी, बाग, फायल, तरारी खड्ड, लागडू, कोटला, जझेर खड्ड, मलोग, शिलगांव, आंजी, शगीन, लोअर टूटीकंडी व आस-पास के क्षेत्रों को गुणात्मक एवं निर्बाध विद्युत आपूर्ति उपलब्ध होगी। इससे चार पंचायतों के 27 गांवों की 30 हजार से अधिक जनसंख्या लाभान्वित होगी। मुख्यमंत्री ने पुरानी लिफ्ट के साथ माल पर 6.50 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली लिफ्ट की भी आधारशिला रखी। इसका निर्माण पारम्परिक पद्धति से किया जाएगा और पुरानी लिफ्ट का इसी प्रकार जीर्णोद्धार किया जाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *