प्रशिक्षण शिविर में किसानों को दिए दालों की पैदावार के टिप्स...

सांसद वीरेन्द्र कश्यप ने किया सरकार से फसल बीमा योजना में प्रावधान का आग्रह

सांसद वीरेन्द्र कश्यप ने किया सरकार से फसल बीमा योजना में प्रावधान का आग्रह

सांसद वीरेन्द्र कश्यप ने किया सरकार से फसल बीमा योजना में प्रावधान का आग्रह

शिमला: शिमला के लोकसभा सांसद वीरेन्द्र कश्यप ने आज संसद में शून्य काल के दौरान जंगली जानवरों द्वारा किसानों की फसल बर्बाद करने का मुददा उठाते हुए सरकार से आग्रह किया कि नुकसान की भरपाई हेतु प्रधानमन्त्री फसल बीमा योजना में प्रावधान किया जाए। उन्होने कहा कि प्रधानमन्त्री फसल बीमा योजना किसानों के लिये एक महत्वपूर्ण योजना के रूप में शुरू की गई है जो आज तक की फसल बीमा योजना में बड़ी सहायता के रूप मे मानी जा सकती है।

इसके अर्न्तगत अनाज, खाद्यान, तिलहन, दलहन, फसलों के लिये एक मौसम एक दर होगी और जिले-वार व फसल-वार अलग-अलग दर से मुक्ति मिलेगी। इस योजना के अर्न्तगत बीमे का खरीफ की फसल पर वार्षिक प्रीमियम 2 प्रतिशत तथा रबी की फसल पर 1.5 प्रतिशत होगा और अब बीमा राशी पर कैपिंग भी नही होगी। जंहा इस फसल बीमा में बिजली गिरने, आग लगने, तूफान, औला पड़ने, चक्रवात अंधड़, बवंडर, बाढ़, जलभराव, जमीन धंसने, सूखा, खराब मौसम, तथा फसल को होने वाली बीमारियां से नुकसान होने पर बीमा कवर दिया जायेगा वही फसल कटाई के बाद नुकसान का भी प्रावधान है और यह फसल बीमा योजना किसानों के लिये भरोसेबन्द नुकसान की भरपाई के लिये काफी लाभदायक होगी।

इन सब बातों को मददेनजर रखते हुए इस बीमा योजना में जंगली जानवरों द्वारा किसानों की फसल बर्बाद किये जाने के नुकसान की भरपाई हेतू कोई प्रावधान नजर नही आ रहा है हिमाचल प्रदेश तथा कई अन्य राज्यों में गत कई वर्षो से जगंली जानवरों द्वारा किसानों की फसलों को तबाह किया जा रहा है जिसपर किसान बहुत परेशान है और उन्होने खेती करना ही बन्द कर दिया है। उन्हे दो समय की रोटी के लाले पड़ रहे है। कश्यप ने सरकार से आग्रह है कि इस फसल बीमा योजना के अर्न्तगत बन्दरों, सुअरों, नील गाय आदि जंगली जानवरों द्वारा किये जा रहे नुकसान की भरपाई हेतु प्रावधान किया जाये ताकि किसान की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *