हिमाचल: अमेज़न ने किए प्रदेश सरकार के साथ चार समझौता ज्ञापन एमओयू

हिमाचल: अमेज़न ने किए प्रदेश सरकार के साथ चार समझौता ज्ञापन एमओयू

  • हिमाचल प्रदेश में डिलीवरी इकोसिस्टम में 2024 तक आज के 50 आई हैव स्पेस स्टोर्स की संख्या को चार गुना बढ़ाकर 200 करेगा

हिमाचल:  अमेज़न इंडिया ने आज घोषणा की है कि उसने हिमाचल प्रदेश के विक्रेताओं, एमएसएमई, शिल्पसकारों, बुनकरों और एसएमबी को ई.कॉमर्स से लाभ पहुँचाने के लिये राज्य सरकार के साथ चार समझौता ज्ञापन,एमओयू पर हस्ताक्षर किये हैं। इन 4 एमओयूज में हिमाचल प्रदेश स्टेट हैण्डीक्राफ्ट्स एंड हैण्डलूम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ;हिमक्राफ्ट्स और हिमाचल प्रदेश स्टेट हैण्डलूम्स एंड हैण्डीक्राफ्ट्स डेवलपमेन्ट कोऑपरेटिव फेडरेशन ;हिमबुनकर के साथ गठबंधन, अमेज़न ग्लोबल सेलिंग प्रोग्राम के जरिये 90 से अधिक देशों में उनके उत्पादों के निर्यात और हमारे लाखों ग्राहकों तक पहुँच के लिये सक्षम बनाने हेतु कार्यशालाएं चलाने के लिये हिमाचल प्रदेश डिपार्टमेन्ट ऑफ इंडस्ट्रीज के साथ गठबंधनय और स्थानीय लोगों को लंबी अवधि में समावेशी और प्रतिस्पर्द्धी कृषि महत्व श्रृंखलाओं के विकास में सहयोग के लिये हिमाचल प्रदेश डिपार्टमेन्ट ऑफ हॉर्टिकल्चर के साथ गठबंधन शामिल हैं।

अमेज़न हिमाचल प्रदेश की लगभग 10 प्रतिशत आबादी को सेवा प्रदान कर रहा है और इसे राज्य से हर महीने लाखों ऑर्डर्स मिलते हैं अमेज़न के 25 डिलिवरी स्टेशन और करीब 50 आई हैव स्पेस स्टोर्स हैं जिन्होंने हिमाचल प्रदेश में 500 से अधिक अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर दिये हैं। हिमक्राफ्ट्स और हिमबुनकर के साथ एमओयूज के हिस्से के तौर पर अमेज़न इंडिया बुनकरों और शिल्पकारों को देश में अमेज़न के ग्राहकों को प्रत्यक्ष तरीके से अपने उत्पाद बेचने के लिये शिक्षित प्रशिक्षित और सक्षम करेगा। इन भागीदारियों से विभिन्न जगहों के लोकप्रिय हैण्डलूम उत्पादों को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी जैसे मनाली, सैंज, रोपा और सेरा जहाँ के शहरी क्षेत्रों में असीम क्षमता और मांग है। अनूठी उत्पाद सूची में शॉल, पुल्लन, फुटवियर, आभूषण, हैण्डलूम्स पर बुना हैण्डीक्राफ्ट, वूडक्राफ्ट, चमड़ा, एम्ब्रॉइडरी, तिब्बती शैली के कार्पेट चंबा के सुंदरता से सिले हुए रूमाल और शॉल लकड़ी का सजावटी सामान घास के जूते हिमाचली टोपियाँ आदि शामिल हैं।

अमेज़न इंडिया के एसवीपी और कंट्री मैनेजर अमित अग्रवाल ने कहा में तीन प्रमुख क्षेत्रों. नौकरी, एमएसएमई सशक्तिकरण और निर्यात में अपनी उत्प्रेरक की भूमिका दिखाई पड़ती है।  हिमाचल प्रदेश सरकार के साथ किये गये हमारे चार अलग.अलग एमओयूज उन क्षेत्रों को संबोधित करने और महिला उद्यमियों, शिल्पथकारों एवं बुनकरों, एमएसएमईज और एसएमबीज के स्थानीय समुदाय को सशक्तक बनाने में उल्लेखनीय भूमिका निभाने में मददगार होंगे। हिमाचल प्रदेश में अमेज़न इंडिया के पास लगभग 2000 विक्रेता हैं जिनमें से लगभग 100 विक्रेता अमेज़न के ग्लोबल सेलिंग प्रोग्राम के माध्यम से विश्वभर में करीब 37000 भारत  में निर्मित उत्पादों का निर्यात करते हैं और उन्होंने वर्ष 2019 में लगभग 33 मिलियन अमेरिकी डॉलर की बिक्री की थी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *