हमीरपुर: धर्मशाला-शिमला एनएच ढाई घंटे रहा बंद, शव रखकर किया प्रदर्शन

हमीरपुर: धर्मशाला-शिमला एनएच ढाई घंटे रहा बंद, शव रखकर किया प्रदर्शन

हमीरपुर : धर्मशाला शिमला नेशनल हाईवे 10.30 बजे से दोपहर एक बजे तक बंद रहा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर हमीरपुर के बजाय सुजानपुर सड़क मार्ग से धर्मशाला के लिए रवाना हुए। हमीरपुर जिले के ब्राहलड़ी में अध्यापिका की मौत मामले में परिजनों ने सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन किया। पुलिस अफसर परिजनों को मनाने में जुटे रहे लेकिन बात नहीं बनी। इस बीच एक पुलिस अफसर ने पिस्तौल तान दी जिससे महिलाएं और भड़क गईं।

करीब एक बजे परिजन शव को लेकर निजी अस्पताल पहुंचे और प्रदर्शन शुरू कर दिया। पठानकोट-शिमला, चामुंडा-शिमला, धर्मशाला शिमला रूट की कई बसें जाम में फंसी रहीं। एसडीएम डॉ. चिरंजी लाल चौहान ने कहा कि पीड़ित को न्याय दिलाया जाएगा। पुलिस को सही तरीके से जांच करने के निर्देश दिए गए हैं। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चला पाएगा।

गौरतलब है कि बाते दिन जिला मुख्यालय हमीरपुर के एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान एक सरकारी स्कूल की अध्यापिका की मौत हो गई थी। परिजनों ने अस्पताल के चिकित्सकों पर मरीज के उपचार के दौरान लापरवाही बरतने के आरोप लगाए हैं।  मृतक की पहचान 39 वर्षीय अमिता कुमारी पत्नी अरुण शर्मा निवासी गांव बराहलड़ी तहसील और जिला हमीरपुर के रूप में हुई है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *