ताज़ा समाचार

हिमाचल: ऊंचे क्षेत्रों में नए साल की पहली बर्फबारी, 4 और 5 जनवरी को भारी बर्फबारी की चेतावनी

बर्फबारी के लिए पांच सेक्टर में बांटा शिमला

बर्फबारी के लिए पांच सेक्टर में बांटा शिमला

बर्फबारी के लिए पांच सेक्टर में बांटा शिमला

  • बर्फबारी के दौरान जनजीवन सामान्य बनाए रखने के लिए किये जाने वाले प्रबन्धों की उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता

शिमला: बर्फबारी के दौरान जनजीवन सामान्य बनाए रखने के लिए किये जाने वाले प्रबन्धों की समीक्षा के लिए आज यहां उपायुक्त शिमला अमित कश्यप की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिला के सभी विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया। अमित कश्यप ने कहा कि बर्फबारी के दौरान सभी व्यवस्थाओं को सुचारू बनाये रखने के लिए शिमला नगर को पांच सैक्टर में बांटा गया है।

  • सेक्टर -1 में संजौली, ढली, नालदेहरा, कुफरी, मशोबरा, बल्देयां व छोटा शिमला क्षेत्र सम्मिलित किये गये हैं।
  • सेक्टर -2 में ढली-संजौली, आईजीएमसी, लक्कड़-बाजार विक्ट्री टनल तक, कैथू, ढली, बाईपास, भराड़ी, चैड़ा मैदान, एजी ऑफिस और अन्नाडेल क्षेत्र सम्मिलित किये गये हैं।
  • सेक्टर -3 में बाईपास एनएच सड़क वाया आईएसबीटी शोघी तक, बीसीएस विक्ट्री टनल, चक्कर, बालुगंज, टुटू, नाभा, फागली, खलीनी, जतोग व विकास नगर क्षेत्र शामिल किये गये हैं।
  • सेक्टर -4 में विक्ट्री टनल, कार्ट रोड़ छोटा शिमला तक, ओक ओवर, यूएस क्लब, रिज, जाखू क्षेत्र, रिच माउंट, रामचन्द्रा चैक, कमला नेहरू हॉस्पिटल, उच्च न्यायालय और उपायुक्त कार्यालय क्षेत्र सम्मिलित किये गये हैं।
  • सेक्टर -5 में छोटा शिमला, मैहली, कसुम्पटी, पंथाघाटी, हिमाचल प्रदेश सचिवालय और ब्राकहास्ट क्षेत्र शामिल किये गये हैं।

प्रत्येक सेक्टर में हर विभाग का नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा, ताकि आपातकालीन परिस्थितियों के दौरान समयबद्ध कार्य सुनिश्चित किया जा सके। बर्फबारी के दौरान बाधित होने वाली सड़कों की सूची तैयार की गई है तथा उन्हें समयबद्ध खोलने के लिए तैयारियां की गई हैं। विभिन्न अस्पतालों और आमजन के लिए अति आवश्यक क्षेत्रों और महत्वपर्ण स्थलों की ओर जाने वाले मार्गों को प्राथमिकता के आधार पर खोला जाएगा। उपायुक्त ने सभी विभागों को समन्वय के साथ कार्य करने के निर्देश देते हुए कहा कि सभी विभाग स्नो मैनुअल के तहत सभी तैयारियां समयबद्ध पूर्ण करें, ताकि बर्फबारी के दौरान किसी भी तरह की विपरीत परिस्थिति का सामना न करना पड़े। उन्होंने खाद्य आपूर्ति विभाग को जिला के दूर-दराज के क्षेत्रों में खाद्यान्नों का समुचित भण्डारण करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने सभी संबंधित विभागों को उनके पास उपलब्ध विभिन्न उपकरणों की सूची तैयार कर जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण और प्रशासन को सौंपने के निर्देश भी दिये।  लोक निर्माण विभाग, नगर निगम शिमला और संबंधित ऐजेंसियों को सड़कों में यातायात सुचारू बनाये रखने के लिए रेत का समुचित मात्रा में भण्डारण करने के निर्देश भी दिये।

उपायुक्त ने अग्निशमन विभाग को सभी धरोहर ईमारतों के हाईड्रेंट को समय-समय पर जांचने और सभी कार्यालयों में हिटिंग उपकरणों के सही प्रयोग के संबंध में जागरूकता लाने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश भी दिये। उन्होंने सभी उपमंडलाधिकारियों को बर्फबारी के दौरान जनजीवन सामान्य बनाए रखने के लिए सभी जरूरी कदम समयबद्ध उठाने के निर्देश दिये।

बैठक में स्वास्थ्य विभाग, खाद्य आपूर्ति विभाग, पुलिस विभाग, हिमाचल पथ परिवहन निगम, अग्निशमन विभाग, बीएसएनएल, पर्यटन और अन्य संबंधित विभागों से संबंधित मुद्दों पर विस्तृत चर्चा भी की गई।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *