नौणी विवि के छात्रों और संकाय ने सिक्किम में “राष्ट्रीय सम्मेलन” में जीते 6 पुरस्कार

नौणी विवि के छात्रों और संकाय ने सिक्किम में “राष्ट्रीय सम्मेलन” में जीते 6 पुरस्कार

  • सम्मेलन का विषयजलवायु परिवर्तन के परिदृश्य में ग्रामीण और शहरी समृद्धि के लिए फूलों की खेती’ पर आधारित
  • फ्लोरीकल्चर एवं लैंडस्केप आर्किटेक्चर विभाग की 16 सदस्यीय टीम ने लिया भाग, जिसमें 4 वैज्ञानिक और 12 छात्र शामिल

शिमला : सिक्किम के गैंगटोक शहर में पिछले महीने “राष्ट्रीय सम्मेलन” का आयोजन हुआ। इस सम्मेलन में डॉ. वाई. एस. परमार औद्यानिकी और वानिकी विश्वविद्यालय नौणी के फ्लोरीकल्चर एवं लैंडस्केप आर्किटेक्चर विभाग की 16 सदस्यीय टीम ने भाग लिया, जिसमें चार वैज्ञानिक और 12 छात्र शामिल थे। नौणी विवि की टीम ने सम्मेलन की विभिन्न श्रेणियों में छह पुरस्कार जीते।

यह सम्मेलन ‘जलवायु परिवर्तन के परिदृश्य में ग्रामीण और शहरी समृद्धि के लिए फूलों की खेती’ विषय पर आधारित था। इसे संयुक्त रूप से सिक्किम के बागवानी और कैश क्रॉप्स डेवलपमेंट अथॉरिटी, इंडियन सोसाइटी ऑफ ओरनामेंटल हॉर्टिकल्चर,नई दिल्ली और राष्ट्रीय अनुसंधान केंद्र-ऑर्किड,पैकॉन्ग द्वारा आयोजित किया गया। सम्मेलन का उद्घाटन सिक्किम के कृषि मंत्री सोमनाथ पोडियल ने किया।

इस कार्यक्रम में टीम के दो सदस्य फ्लोरीकल्चर एवं लैंडस्केप आर्किटेक्चर के विभागाअध्यक्ष डा. वाई.सी. गुप्ता और डा. एस.आर. धीमान प्रमुख वक्ताओं के रूप में भी शामिल हुए और क्रमशः फसल प्रबंधन और जैव संसाधन संरक्षण विषय पर आधारित सत्र के लिए एक्सपर्ट के तौर पर आमंत्रित किया गया। कुल मिलाकर विभाग ने मौखिक और पोस्टर प्रस्तुतियों में विभिन्न विषयों में छह पुरस्कार जीते। डा. गुप्ता ने किसानों की आय को दोगुना करना और खाद्य फूलों पर दो प्रमुख पेपर्स भी प्रस्तुत किए।

टीम ने विभिन्न श्रेणियों के तहत बेस्ट ओरल पोस्टर के लिए दो पुरस्कार जीते, जबकि एक में दूसरे स्थान पर रहे। डा. पूजा शर्मा, डा. भारती कश्यप, डा. एसआर धीमान, डा. वाईसी गुप्ता, रोशनी अग्निहोत्री, एसएस चावला, कविता नेगी और प्रियंका शर्मा मौखिक पोस्टर पुरस्कारों के विजेता रहे। पोस्टर प्रेजेंटेशन में डा. पूजा शर्मा, रेशमा नेगी, संगीता और शबनम बर्वाल सहित अन्य टीम के सदस्यों ने तीन पुरस्कार जीते। इस मौके पर विश्वविद्यालय के कुलपति डा. एचसी शर्मा ने छात्रों और संकाय को शुभकामनाएं दी।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *