टूरिज़्म व मनोरंजन (Page 2)

"किन्नौर" किन्नर कैलाश की विशेष महत्ता के साथ संस्कृति, धर्म-परम्परा, रीति-रिवाज व पर्यटन के लिए भी विख्यात

“किन्नौर” किन्नर कैलाश की विशेष महत्ता के साथ संस्कृति, धर्म-परम्परा, रीति-रिवाज व पर्यटन के लिए भी विख्यात

मान्यता : किन्नर कैलाश केवल भगवान शिव का ही निवास स्थान नहीं, बल्कि यहां पर स्वर्ग का राज है “किन्नौर”  शिव की धरती से जहां विख्यात है वहीं किन्नौर अपनी संस्कृति, धर्म-परम्परा, रीति-रिवाजों,...

“देव कमरूनाग” ...यहां स्थानीय ही नहीं, बल्कि देश-विदेश के लोग भी होते हैं नतमस्तक

“देव कमरूनाग” … स्थानीय ही नहीं, देश-विदेश के लोग नतमस्तक

  कमरूनाग झील में समाया है अपार खजाना परंपरा के कारण सिक्कों और अमूल्य धातुओं का भारी भंडार हिमाचल को देवभूमि के नाम से ना केवल देशों में अपितु विदेशों में भी जाना जाता है। यहाँ हर देवी-...

मनाली के देवदार जंगलों में बसा पैगोडा शैली का कलात्मक मंदिर "हिडिम्बा"

मनाली के देवदार जंगलों में बसा पैगोडा शैली का कलात्मक मंदिर “हिडिम्बा”

हिडिम्बा को कहा जाता है ढूंगरी देवी हिडिम्बा को राजपरिवार मानता है अपनी दादी हिडिम्बा मंदिर के बारे में हमने बहुत कुछ पढ़ा व सुना है। वास्तव में खुद वहां जाकर एक अद्भुत् अनुभूति  का जो अनुभव...

maa-naina-devi

धार्मिक पर्यटन व आस्था का केंद्र “श्री नैना देवी जी”

हिमाचल प्रदेश जिसे देव भूमि कहा जाता है यहां बहुत से देवी-देवताओं का वास है। यहां की खास बात यह है कि यहां बहुत से देवी-देवताओं के कई पूजनीय तीर्थ स्थल हैं जहां दूर-दूर से भारी तादात में कई...

पैगोड़ा और शिखरनुमा शैली में बना "माँ हाटकोटी मंदिर"

अपार शांति व अद्भूत शक्ति की अनुभूति होती है “माँ हाटकोटी” के दरबार में

हिमाचल के विख्‍यात मन्दिरों में से एक “माँ हाटकोटी” मंदिर का शीर्ष भाग पत्थर की स्लेट की ढलानदार छत से आच्छादित हाटकोटी को अर्जित है ‘पत्थर के मंदिरों की घाटी’ का खिताब हिमाचल जिसे...

पांडवों ने अपने अज्ञातवास के दौरान किया था मसरूर मंदिर का निर्माण

चट्टानों पर बना विशाल मन्दिर “मसरूर”

हमारी धरोहर हमारी गौरवशाली परम्परा का प्रतीक पांडवों ने अपने अज्ञातवास के दौरान किया था मसरूर मंदिर निर्माण सांस्कृतिक धरोहर की सुरक्षा करना हम सब का नैतिक कर्तव्य सांस्कृतिक धरोहर के...

हरी भरी वादियों से दूर, बर्फ से ढके पर्वतों का नूर : किब्बर

हरी भरी वादियों से दूर, बर्फ से ढके पर्वतों का नूर : किब्बर

चमचमाती झीलें, बर्फ की चादर ओढ़े पर्वत, पर्यटकों को खींच लाते हैं किब्बर   किब्बर विश्व का सबसे ऊंचा ‘शीत मरुस्थल’ गांव प्रदेश के कई दुर्गम जनजातीय क्षेत्र हैं, लेकिन इन कई दुर्गम जनजातीय...