प्रदेश कांग्रेस की चुनाव रणनीति पर बैठक 27 को कसौली में

उपरी शिमला में परिवहन व्यवस्था ठप्प : युवा कांग्रेस

शिमला: जुब्बल-नावर-कोटखाई में एचआरटीसी की लंबे व लोकल रूटों की बस सेवा बन्द होने से जनता को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। यह बात ब्लॉक युवा कांग्रेस जुब्बल-नावर-कोटखाई के अध्यक्ष कपिल ठाकुर, कांता दंदरोल्टा, विक्रांत शर्मा, भूषण रोहटा, दिनेश नरसेठ,अर्पित राठौर,नितेश चौहान, पंकज जनारथा, अधिवक्ता रोहित स्टेटा, आशीष सौहटा, राहुल शान्टा, जगदीश कुमार, करण भरौटा, रिंकू राजटा, अर्पित चौहान, दीपक भगलेट, हरीश तेज़टा, संदीप शर्मा, शशि कांत, कुशल शरखोली, कीर्ति शर्मा, शुभम कालटा, सरलेश झगटा, अंकुश बखीरटा, रौनक रामदेईक, अमन डेंगटा आदि ने प्रेस में ज़ारी एक सयुक्त ब्यान में कहीं। उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षो में भाजपा सरकार द्वारा बस के नए रूट शुरू करना तो दूर की बात हैं जो बस सेवाएं पूर्व कांग्रेस कार्यकाल में शुरू की गई वो बन्द पड़ी हैं। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष कोरोना की आड़ में अधिकतर बस रूटों को बन्द किया गया जिसमें से कुछ को उप चुनाव को नज़दीक आते देख शुरू किया जा रहा हैं जबकि अभी भी लंबे रुट की दर्जन से अधिक और लोकल रूट की सैंकड़ो बस सेवाएं बन्द पड़ी हुई हैं। उन्होंने कहा कि जहां भाजपा सरकार द्वारा कोरोना की परवाह किए बिना जन आशीर्वाद यात्रा, स्वर्णिम यात्रा, जन मंच, रैलियां, उद्धघाटन-शिलान्यास के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहें हैं वहीं कोरोना की आड़ में जनता को परिवहन जैसी मूलभूत आवश्यकताओं से महरूम किया जा रहा हैं।

उन्होंने कहा त्यूनी- ऊना, छाजपुर- चंडीगढ़, रोहड़ू-कांगड़ा, शिमला-थरोला-टिक्कर, शिमला- गिलटाड़ी , रोहड़ू-पौंटा साहिब, शिमला-मिहाणी, शिमला- महासू, थाना-मंडी, जुब्बल-मढ़ाइक, कोटखाई-देवरीघाट आदि बसें बन्द होने से जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं और कई बसें अपने रुट पर मात्र औपचारिकता के लिए हफ़्ते में एक बार चलाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि बिना बसों के बस स्टैंड वीरान पड़े हैं। भाजपा सरकार बस स्टैंड पर राजनीति कर रहीं हैं और बिना मूलभूत सुविधाओं के ही उप चुनाव नज़दीक आते देख आनन-फ़ानन में बस स्टेण्ड कोटखाई का उद्घाटन किया गया। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार जुब्बल बस स्टेण्ड में भी अव्यवस्थाओं का यही आलम हैं। युवा कांग्रेस ने प्रदेश सरकार से उपरी शिमला की लम्बे रूट व लोकल रुट की बसों को तुरंत बहाल करने की मांग की हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *