ताज़ा समाचार

जयराम बोले : जुब्बल-कोटखाई भाजपा की थी और भाजपा की ही रहनी चाहिए

जुब्बल कोटखाई: दिलों में पड़ी ‘खाई’ पाट गए जयराम ठाकुर
नरेंद्र बरागटा जी के सपनों को एकजुट होकर पूरा करें: मुख्यमंत्री जयराम
अपने क्षेत्र से ज्यादा जुब्बल कोटखाई को देने की कोशिश की
कार्यकर्ताओं से कहा- खुद पर और पार्टी पर भरोसा रखें

शिमला: जुब्बल-कोटखाई विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी नीलम सरैइक ने शुक्रवार को अपना नामांकन भरा। इसके बाद यहां मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी पहुंचे और उन्होंने जनसभा को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने पार्टी प्रत्याशी सरैइक को भारी मतों से जिताने की अपील करते हुए कहा कि यह सीट पहले भी भाजपा की थी और अब भी भाजपा के पास रहनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में सबसे पहले स्व. नरेंद्र बरागटा को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि भाजपा भारत ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है। यह कार्यकर्ताओं की पार्टी है। मुख्यमंत्री ने भावुक स्वर में कहा- मुझे इस बात को लेकर दुख होता है कि हमारे कुछ साथी आज यहां हमारे साथ नहीं हैं। वे भी यहां होते तो अच्छा होता।

* ‘हम सभी एक परिवार के हैं’*
सीएम ने कहा, “पार्टी ने जो निर्णय लिया है, आप सभी उसके समर्थन में सच्चे कार्यकर्ता के रूप में आएं। मैं चाहूंगा कि हमारे साथी अपने फैसले पर पुनर्विचार करें। चुनाव होते रहते हैं लेकिन हम सब एक पार्टी के हैं, एक परिवार के हैं, ये बात सबसे महत्वपूर्ण है।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी देश और जनसेवा के लिए पार्टी के साथ जुड़े हैं। हमें यह काम किस रूप में करना है, यह जिम्मेदारी पार्टी तय करती है। इसके बाद सीएम ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और अपना उदाहरण दिया कि कैसे वे पार्टी के कार्यकर्ता के रूप में अपना दायित्व पूरी निष्ठा के साथ निभाते चले गए।

मुख्यमंत्री ने कहा, “जेपी नड्डा जी प्रदेश मंत्रिमंडल में हमारे साथ थे। नितिन गडकरी जी अध्यक्ष बने और उन्होंने नड्डा जी से पार्टी के लिए सहयोग मांगा और नड्डा जी प्रदेश मंत्रिमंडल छोड़कर दिल्ली चले गए। पार्टी ने जो काम दिया, नड्डा जी ने वो काम किया। फिर पार्टी को लगा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में भी उनकी आवश्यकता है। फिर केंद्रीय मंत्री के रूप में स्वास्थ्य विभाग दिया। फिर संगठन को लगा कि पार्टी को फिर नड्डा जी आवश्यकता है तो मंत्रिमंडल को छोड़कर वो पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने।”

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि जब मैं राजनीति में आया था तो मेरे पास मंडल की जिम्मेदारी थी। उन्होंने कहा, “इसके बाद पार्टी ने तय किया तो विधायक बन गया। फिर मुझे प्रदेश युवा मोर्चा का अध्यक्ष बनाया गया। फिर पार्टी ने तय किया कि आपको पार्टी का जिला अध्यक्ष बनना है तो फिर उस दायित्व का निर्वहन किया। फिर प्रदेश का उपाध्यक्ष बना, उसके बाद पार्टी ने प्रदेशाध्यक्ष के रूप में जिम्मेदारी दी। बाद में मंत्रिमंडल में शामिल हुआ। फिर पार्टी ने तय किया कि मुख्यमंत्री बनकर सेवा करनी है तो आज मैं यहां हूं।”

जयराम ठाकुर ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में सभी को अवसर और दायित्व मिलते हैं। किसी को आज मिलता है, हो सकता है किसी को कल मिले। बस आपको अपने आप और पार्टी पर भरोसा होना चाहिए।

* ‘नरेंद्र बरागटा जी के सपने को साकार करें’*
उन्होंने कहा, “नरेंद्र बरागटा जी की बागवानी के क्षेत्र में तो अलग पहचान थी ही, पार्टी में भी उनकी एक वरिष्ठ नेता के रूप में पहचान थी। हमने ये कल्पना भी नहीं की थी कि वो हमारे बीच में नहीं होंगे। आज ये दौर आया है तो हम आपके बीच सहयोग मांगने आए हैं।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं अपने सभी साथियों तक संदेश पहुंचाना चाहता हूं कि नाराजगी होती रहती है। आओ, जो सपना नरेंद्र बरागटा जी ने देखा था, इस क्षेत्र के विकास का, बीजेपी को मजबूत करने का; उस सपने को साकार करने के लिए एक बार फिर एकजुट होते हैं।”

* ‘जुब्बल-कोटखाई से मेरा विशेष लगाव’*
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस विधानसभा क्षेत्र से दो मुख्यमंत्री रहे हैं। जितना लगाव उन्हें इस क्षेत्र से था, उतना ही लगाव मुझे भी है। जो मैं अपने क्षेत्र के लिए नहीं कर सका वो यहां करने की कोशिश की। मुझसे पहले पांच मुख्यमंत्री रहे लेकिन किसी ने ऐसी व्यवस्था नहीं की होगी कि एक साथ किसी क्षेत्र को दो-दो एसडीएम कार्यालय एक साथ दिए गए हों। फायर स्टेशन दिया गया। इसलिए दिया क्योंकि मुझे लगता है कि ये क्षेत्र मेरे क्षेत्र की तरह है।

मुख्यमंत्री ने कहा, “पराला प्रोसेसिंग प्लांट का काम शुरू हो गया है। 100 करोड़ की लागत से बनने वाला ये प्लांट यहां के लिए वरदान साबित होने वाला है। खड़ापत्थर में सीए स्टोर बनेगा। आम तौर पर सेब पर 25 पैसे बढ़ाए जाते थे, हमने एक साथ एक रुपये बढ़ाने की घोषणा की। पहले 36 मीट्रिक टन की प्रोक्योरमेंट थी, इस बार 60 मीट्रिक टन हुई।”

“पिछले दिनों सेब के दाम कम हुए, चिंता का विषय था। हमने आपसे कहा था कि थोड़ा रुकिए। अच्छे माल के अच्छे दाम मिलते हैं। हमारे कुछ मित्र शोर करते हैं, लेकिन क्या कांग्रेस के कार्यकाल में सेब के सिर्फ अच्छे ही दाम मिलते थे? क्या उनके कार्यकाल में महंगाई खत्म हो गई थी? क्या उनके कार्यकाल में बेरोजगारी नहीं थी?”

* ‘ये सीट भाजपा की थी और भाजपा की ही रहनी चाहिए’*
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जुब्बल कोटखाई की जनता से अपील करते हुए कहा कि मेरा सभी लोगों से यह निवेदन है कि पार्टी ने नीलम सरैइक को चुना है, उन्हें हम विजयी बनाएं। महिला होने के नाते पार्टी को उचित लगा कि इनको अवसर देना चाहिए। आज आपसे निवेदन करता हूं कि आओ, पार्टी का जो फैसला है, उस फैसले के साथ आगे बढ़ें और भाजपा को विजयी बनाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा, “ये सीट भाजपा की थी और भाजपा की ही रहनी चाहिए। नरेंद्र बरागटा जी आज हमारे बीच नहीं हैं, उस कमी को पूरा करने की जिम्मेदारी नीलम सरैइक को दी गई है। जब जुब्बल कोटखाई से भाजपा का विधायक विधानसभा में हमारे साथ होगा तो लगेगा कि जुब्बल कोटखाई की जनता ने हमें अपना माना है। अब सभी लोग इस जीत में अपनी भूमिका निभाएं।”

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

39  +    =  40