सब-हिमालयन सजोबा रैली में हिमाचल के वरुण चावला ने लिया हिस्सा

सब-हिमालयन सजोबा रैली में हिमाचल के वरुण चावला ने लिया हिस्सा

रैली में हिस्सा लेने के लिए वरुण चावला को किया गया सम्मानित

रैली में हिस्सा लेने के लिए वरुण चावला को किया गया सम्मानित

शिमला : सेंट जॉन्स हाई स्कूल, चंडीगढ़ के पूर्व छात्रों द्वारा 1980 में स्थापित, सेंट जॉन्स ओल्ड बॉयज़ एसोसिएशन (सजोबा) द्वारा भारत में मोटर स्पोर्ट्स की दो प्रमुख अथॉरिटीज- एमएआई एवं एफएमएससीआई के सहयोग से, 31वीं एनुअल सब-हिमालयन सजोबा कृष्णा इसुजु रैली का 13 से 15 अप्रैल 2018 तक आयोजन किया गया। जिसमें तीन-दिवसीय मैगा ईवेंट की शुरुआत शुक्रवार को हुई जिसके तहत सेक्टर-34 के एग्जीबिशन ग्राउंड पर सुपर स्पेक्टेटर स्टेज (एसएसएस) द्वारा वाहनों की स्क्रूटिनी की गई। जिसमें हिमाचल प्रदेश (शिमला) के वरुण चावला ने भी हिस्सा लिया। मोटर स्पोर्ट्स में दिलचस्पी रखने वाले वरुण चावला अपने लक्ष्य की और निरंतर प्रयासरत हैं और इसी दिशा में सफलताओं के साथ आगे बढ़ रहे हैं। वरुण चावला ने अपना अनुभव सांझा करते हुए बताया कि इसमें हिस्सा लेना काफी रोचक और रोमांच भरा रहा। वरुण चावला को इस रैली में हिस्सा लेने के लिए सम्मानित भी किया गया।

 वरुण ने बताया कि पहले दिन रेतीले ट्रैक पर रोमांच व उत्साह से भरे वातावरण में एक्सपर्ट राइडर्स एवं ड्राइवर्स ने अपनी मोटरिंग स्किल्स का प्रदर्शन किया। खचाखच भरे मैदान में ट्राइसिटी के खेल प्रेमियों के बीच इस ईवेंट को लेकर भारी उत्साह देखा गया। करीब 39 फोर-व्हीलर्स एवं 19 बाइक राइडर्स ने एक्सट्रीम कैटेगरी के इस स्पोर्ट में हिस्सा लिया।

वरुण चावला ने बताया कि सब-हिमालयन सजोबा रैली, सेंट जॉन्स स्कूल,सेक्टर-26 सुबह 6.30 बजे रवाना हुई। उन्होंने बताया कि चैलेंज रैली के अलावा, सजोबा एक एंड्योरेंस ट्राइल का भी आयोजन किया गया था। दि चेलेंज रैली (एक्सट्रीम) जीप/ कार/ बाइक के लिए थी जबकि प्रतिभागियों को दोनों दिन लगभग 250 किलोमीटर दूरी प्रतिदिन कवर करनी थी। यह रूट काफी चुनौतीपूर्ण और साहसिक था, जिसमें ‘एक्सेल ब्रेकिंग’ रिवरबेड (सूखे और गीले दोनों), घुमावदार हेयर पिन्स के साथ फास्ट टारमैक हुए तथा हरियाणा व हिमाचल प्रदेश के पहाड़ी रास्ते थे जो कि रोमांच और उत्साह भरे रहे। यह ईवेंट अपने आप में काफी रोचक भरा था क्योंकि इसमें ट्राइसिटी के लोगों को साहसिक खेलों का आनंद लेने का मौका मिला। रैली को हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ के प्रशासन का पूर्ण समर्थन प्राप्त हुआ।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *