HAS 2020 की प्रारंभिक परीक्षा 25 जुलाई को

पांच आईएएस अधिकारी मिड करियर ट्रेनिंग के लिए जाएंगे मंसूरी

  • 28 नवंबर से 23 दिसंबर तक मंसूरी में विभिन्न बारीकियों से होंगे अवगत
  • चार आईएएस व दो एचएएस अधिकारियों को अतिरिक्त कार्यभार
आईएएस अधिकारी 28 नवंबर से 23 दिसंबर तक मंसूरी में विभिन्न बारीकियों से होंगे अवगत

आईएएस अधिकारी 28 नवंबर से 23 दिसंबर तक मंसूरी में विभिन्न बारीकियों से होंगे अवगत

शिमला: हिमाचल प्रदेश के पांच आईएएस अधिकारी मिड करियर ट्रेनिंग प्रोग्राम फेस-3 के लिए मंसूरी जाएंगे। मसूरी में 28 नवंबर से 23 दिसंबर तक मिड करियर ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित किया जा रहा है। प्रशिक्षण के लिए जाने वाले आइएएस अफसरों के विभाग दूसरे छह अधिकारियों को दिए गए हैं।  यह आईएएस 28 नवंबर से 23 दिसंबर तक मंसूरी में विभिन्न बारीकियों को जानेंगे। ट्रेनिंग पर जाने वाले आईएएस में योजना सलाहकार अक्षय सूद, एमडी एनएचएम हंस राज शर्मा, राज्य बिजली बोर्ड के डायरेक्टर (पर्सनल) राजीव शर्मा, एमडी एचपीएसआईडीसी डॉ.एसएस गुलेरिया व विशेष सचिव पीडब्ल्यूडी आईपीएच हंस राज चौहान शामिल हैं।

वहीं जहाँ उक्त आईएएस प्रशिक्षण कार्यक्रम पर भाग लेंगे वहीं उनके स्थान पर अन्य अधिकारियों को अतिरिक्त कार्यभार सौंप दिया गया है। इस बाबत मुख्य सचिव वीसी फारका ने अधिसूचना जारी कर दी है। इसमें प्रदेश सरकार ने चार आईएएस व दो एचएएस अधिकारियों को अतिरिक्त कार्यभार सौंपा है।

प्रशिक्षण के लिए जा रहे अधिकारियों के विभागों का अतिरिक्त जिम्मा छह आइएएस को दिया गया है। एक एचएएस व एक सचिवालय सेवाएं अधिकारी को अतिरिक्त महकमों का दायित्व सौंपा गया है। सरकार ने वित्त निगम के प्रबंध निदेशक डॉ. अरुण कुमार शर्मा को एसआइडीसी के प्रबंध निदेशक, विशेष सचिव एवं निदेशक ऊर्जा डॉ. अजय शर्मा को विशेष सचिव लोक निर्माण, रजिस्ट्रार को-ऑपरेटिव सोसायटी बीर सिंह ठाकुर को प्रबंध निदेशक स्वास्थ्य मिशन, मुख्यमंत्री के विशेष सचिव राकेश शर्मा को सलाहकार योजना एवं विशेष सचिव वित्त, राज्य बिजली बोर्ड की कार्यकारी निदेशक कुमद सिंह को बिजली बोर्ड के निदेशक वित्त तथा उप सचिव सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता रमेश गुप्ता को आइपीएच विभाग का अतिरिक्त जिम्मा दिया गया है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  +  85  =  95