डीएलएड के लिए 25 जून तक करें ऑनलाइन आवेदन

Punjab: स्वास्थ्य मंत्री के बुरे बर्ताव से आहत VC ने दिया इस्तीफा..हिमाचल में गर्माया मुद्दा

हिमाचल: बाबा फरीद यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज के कुलपति डॉ राज बहादुर को राज्य के स्वास्थ्य मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा द्वारा अपमानित किए जाने के बाद उन्होंने शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को अपना इस्तीफा भेज दिया। कुलपति के सचिव ओपी चौधरी ने भी अपना इस्तीफा सौंप दिया है। डॉ. राज बहादुर के इस्तीफे के साथ ही आम आदमी पार्टी के विधायकों और मंत्रियों के व्यवहार को लेकर सियासत गरमा गई है।

विश्वविख्यात आर्थोपेडिक्स विशेषज्ञ डॉ. राज बहादुर के अपमान पर हिमाचल में भारी रोष है। हिमाचल के ऊना जिले से संबंध रखने वाले डॉ. राज बहादुर पंजाब की बाबा फरीद मेडिकल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर पद पर थे। पंजाब सरकार के स्वास्थ्य मंत्री ने उनके साथ अपमानजनक व्यवहार किया, जिसके बाद से डॉ. राजबहादुर ने बाबा फरीद मेडिकल यूनिवर्सिटी के पद से इस्तीफा दे दिया। उनके समर्थन में कई डॉक्टर्स ने भी अपना इस्तीफा दे दिया है।

हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने भी पंजाब सरकार के मंत्री के रवैये की भर्त्सना की है। वहीं, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने भी पंजाब सरकार के मंत्री के ऐसे व्यवहार की कड़ी निंदा की है। नेता प्रतिपक्ष ने सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर लिखा है कि डॉ. राज बहादुर देश के सर्वश्रेष्ठ स्पाइन सर्जन हैं और ऐसे डॉक्टर का अपमान सहन नहीं किया जाएगा।

डॉ. राज बहादुर का अपमान स्वीकार्य नहीं : खन्ना:- भाजपा प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने कहा डॉ राज बहादुर, बाबा फरीद स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति, हिमाचल के रहने वाले डॉक्टर और एक उत्कृष्ट हड्डी रोग चिकित्सक हैं। लोगों को तीन महीने उनसे मिलने का इंतजार करना पड़ता है, डॉ राज पंजाब के लिए एक संपत्ति हैं।
वे रीढ़ की हड्डी के भी एक उत्कृष्ट चिकित्सक हैं, उनके द्वारा किए गए शोध की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना की जाती है।
पंजाब के मंत्री का “जबरन कुलपति को बिस्तर पर लेटने के लिए कहने” का एक वीडियो वायरल हो रहा है।
मेडिकल कॉलेज में साफ-सफाई की कमी को लेकर मंत्री को कुलपति के साथ “अभद्र भाषा” बोलते हुए सुना जा सकता है।
उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार ने उनके साथ जिस तरह का व्यवहार किया है वह अस्वीकार्य है। हम एक शीर्ष श्रेणी के डॉक्टर को अपमानित करने के लिए इस तरह के कृत्य के लिए आप सरकार की निंदा करते हैं।
खन्ना ने कहा कि हम पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री चेतन सिंह के तत्काल इस्तीफे की मांग करते हैं।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवम प्रदेश  कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री द्वारा देश के जाने माने चिकित्सक व बाबा फरीद मेडिकल यूनिवर्सिटी के उप कुलपति डॉक्टर राज बहादुर के साथ किया गया अभद्र व्यवहार की कडी निंदा की है। उन्होंने कहा कि डॉक्टर राज बहादुर ने अपना सम्पूर्ण जीवन मानवता की में समर्पित कर दिया है औऱ उन्होंने अपनी कठिन परिश्रम व मेहनत से इन ऊंचाइयों को हासिल किया है।  उन्होंने कहा कि डॉक्टर राज बहादुर हिमाचल ही नहीं पूरे देश का गौरव है इनके साथ मंत्री द्वारा इस प्रकार का अभद्र व्यवहार निंदनीय है।

हिमाचल प्रदेश में एलोपैथिक डॉक्टर्स एसोसिएशन ने भी पंजाब सरकार के मंत्री से माफी मांगने के लिए कहा है।

संयुक्त चिकित्सक संघर्ष समिति ने बाकायदा बयान जारी कर कहा है कि पंजाब के सीएम को तुरंत अपने मंत्री से माफी मंगवानी चाहिए। साथ ही एसोसिएशन ने ऐसे मंत्री के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग भी की है।

डॉ राज बहादुर से पंजाब के मंत्री द्वारा  दुर्व्यवहार हिमाचल के स्वाभिमान पर चोट- राजेंद्र राणा: हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष व सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा ने हिमाचल प्रदेश से संबंध रखने वाले देश के टॉप स्पाइन सर्जनो में शुमार बाबा  फरीद यूनिवर्सिटी ऑफ साइंसेज के वाइस चांसलर डॉ राजबहादुर से गत दिवस पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री चेतन सिंह जौड़ा माजरा द्वारा किए गए शर्मनाक व्यवहार को लेकर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

 उन्होंने कहा है कि हिमाचल की माटी के इस सपूत की प्रतिभा का देश व विदेश के चिकित्सा जगत ने लोहा माना है और देश के कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों से डॉ राज बहादुर को नवाजा गया है लेकिन पंजाब की आम आदमी पार्टी सरकार के स्वास्थ्य मंत्री द्वारा जिस तरह उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया, वह बेहद शर्मनाक ही नहीं बल्कि हिमाचल की जनता के स्वाभिमान पर चोट भी है। उन्होंने कहा कि अगर पंजाब की आम आदमी पार्टी सरकार के मुखिया भगवंत मान में तनिक भी नैतिकता बची है तो उन्हें तुरंत अपने इस बिगड़ैल मंत्री को कैबिनेट से बर्खास्त कर देना चाहिए और साथ ही समूचे चिकित्सा जगत के साथ-साथ हिमाचल की जनता से भी माफी मांगनी चाहिए।

राजेंद्र राणा ने कहा कि हिमाचल से संबंध रखने वाले डॉक्टर राजबहादुर ने स्पाइन सर्जरी के क्षेत्र में अपनी विश्वव्यापी पहचान बनाने के साथ-साथ अनेक महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है और उन्हें पंजाब में कांग्रेस व अकाली दल की सरकार के दौरान भी पूरा मान सम्मान मिलता रहा है। राजेंद्र राणा ने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार ने भाजपा की तरह जुमले दिखाकर पंजाब के लोगों की उम्मीदों को तो तोड़ा ही है , साथ ही हिमाचल के स्वाभिमानी लोगों का भी अपमान किया है जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

राजेंद्र राणा ने कहा कि उनकी सामाजिक संस्था सर्व कल्याणकारी संस्था भी डाक्टर राजबहादुर की शानदार चिकित्सा सेवाओं के मद्देनजर उन्हें शान ए हिंद अवार्ड से नवाज चुकी है और हजारों रोगियों ने उन्हें भगवान की संज्ञा दी है। उन्होंने कहा इस हिमाचली सपूत द्वारा उनसे हुए दुर्व्यवहार के बाद जिस तरह वाइस चांसलर पद से इस्तीफा दिया है, वह आम आदमी पार्टी की सरकार के चेहरे पर एक करारा तमाचा है। राजेंद्र राणा ने कहा कि अगर पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री को तुरंत उनके पद से बर्खास्त नहीं किया गया तो इस मंत्री के हिमाचल में घुसने पर उनका डटकर विरोध किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि डॉक्टर राज बहादुर विश्वविख्यात स्पाइन सर्जन हैं और उनका लिटरेचर देश-विदेश में पढ़ाया जाता है। वे पीजीआई चंडीगढ़ में आर्थोपेडिक्स डिपार्टमेंट के एचओडी रहे हैं। इसके अलावा वे जीएमसीएच चंडीगढ़ के मुखिया रहे हैं। वर्ष 2014 से वे पंजाब की बाबा फरीद मेडिकल यूनिवर्सिटी के वीसी रहे हैं।

डॉ. राजबहादुर यूनाइटेड किंगडम, अमेरिका, स्विटजरलैंड सहित कई अन्य देशों में फैलोशिप होल्डर हैं। उनके पास आर्थोपेडिक्स सर्जरी में चार दशक का रिसर्च का अनुभव है। देश में मेडिकल एजूकेशन को रेग्युलेट करने वाली संस्था नेशनल मेडिकल कमीशन में डॉ. राज बहादुर भी शामिल हैं। देश ही नहीं विदेश के नामी संस्थान उन्हें अपने यहां नियुक्ति के लिए ऑफर करते रहे हैं, लेकिन उन्होंने सेवा के लिए अपने ही देश को चुना है। डॉ. राज बहादुर ने स्पाइन सर्जरी में क्रांतिकारी काम किया है।

 उल्लेखनीय है कि पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री ने एक स्वास्थ्य संस्थान के दौरे के समय बेड पर फटे हुए गद्दे को देखते हुए डॉ. राज बहादुर को उस पर लेटने के लिए मजबूर किया था। इस अपमान से आहत डॉ. राज बहादुर ने इस्तीफा दे दिया है।

सम्बंधित समाचार

Comments are closed