नहीं रहे ट्रेजेडी किंग: दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार का 98 साल की उम्र में निधन

  • दिलीप कुमार के निधन पर पीएम मोदी ने जताया शोक, सायरा बानो से फोन पर बात कर ढांढस बंधाया

हिंदी सिनेमा के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार का निधन हो गया है। उन्हें पिछले महीने से ही सांस संबंधित समस्याएं बनी हुई थी। जिसके चलते उन्हें मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यही पर 98 वर्षीय दिलीप कुमार ने आखिरी सांस ली। दिलीप साहब के साथ उनकी पत्नी और अभिनेत्री सायरा बानो उनकी आखिरी सांस तक साथ रहीं। सायरा दिलीप कुमार का खास ख्याल रख रही थीं और फैंस से लगातार दुआ करने की अपील भी कर रही थीं।

अभिनेता और ट्रेजिडी किंग के नाम से मशहूर दिलीप कुमार ने आज इस दुनिया को अलविदा कह दिया। सिनेमा और राजनीति से जुड़े तमाम लोग उनके निधन पर शोक जता रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दिलीप कुमार के निधन पर शोक जाहिर किया है।प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका जाना हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए एक क्षति है

इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो से फोन पर बात की है। प्रधानमंत्री ने इस गंभीर दुख की घड़ी में परिवार को ढांढस बंधाया है। प्रधानमंत्री ने करीब दस मिनट तक शायरा बानो से बात की।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ”दिलीप कुमार जी को एक सिनेमाई किंवदंती के रूप में याद किया जाएगा। उन्हें अद्वितीय प्रतिभा का आशीर्वाद प्राप्त था, जिसके कारण पीढ़ियों के दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए थे। उनका जाना हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए एक क्षति है। उनके परिवार, दोस्तों और असंख्य प्रशंसकों के प्रति संवेदना। श्रद्धांजलि.

आज सुबह 7.30 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली

बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर दिलीप कुमार का निधन हो गया है। वो 98 साल के थे। आज सुबह 7.30 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली। दिलीप कुमार को सांस लेने में दिक्कत के चलते 29 जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दिलीप कुमार काफी समय से बीमार चल रहे थे। दिलीप कुमार के पारिवारिक मित्र फैजल फारुखी ने आज एक्टर के ट्विटर से उनके निधन की जानकारी दी। उन्होंने लिखा- बहुत भारी दिल से ये कहना पड़ रहा है कि अब दिलीप साब हमारे बीच नहीं रहे।

पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था जन्म: दिलीप कुमार का जन्म पेशावर में 11 दिसंबर 1922 को हुआ। उनके पिता का नाम लाला गुलाम सरावर खान और मां का नाम आयशा बेगम था। उनके कुल 12 भाई-बहन हैं। उनके पिता फल बेचने थे। युसूफ खान ने देवलाली में स्कूलिंग की। वो राज कपूर के साथ बड़े हुए जो उनके पड़ोसी भी थे। बाद में दोनों ने फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाई।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  +  86  =  93