रोहड़ू : गुजांदली गांव में आग लगने से 4 मंजिला भवन जलकर राख

  • मुख्यमंत्री ने आग लगने की घटनाओं पर किया दुःख व्यक्त

शिमला : जिला शिमला के रोहड़ू उपमंडल के टिक्कर इलाके के गुजांदली गांव में आग लगने से 4 मंजिला भवन जलकर राख हो गया। । आधी रात को लगी इस आग में लाखों के नुकसान का अनुमान है। आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही है। जानकारी के अनुसार गुजांदली गांव में एक चार मंजिला मकान में नौ परिवार रहते थे। आधी रात को अचानक मकान में आग लग गई। आग लगने का पता चलते ही जैसे-तैसे घर के अंदर सोए लोगों ने बाहर निकल कर अपनी जान बचाई। लकड़ी का मकान होने के कारण आग तेजी से फैली और देखते ही देखते  पूरा मकान जल कर राख हो गया।

इसी बीच आसपास के ग्रामीणों ने फायर ब्रिगेड को सूचित किया। सूचना मिलने पर रोहड़ू व जुब्बल से तीन गाड़ियां आग बुझाने के लिए पहुंची और आसपास के घरों में आग फैलने से रोकी। इस मकान में कलम सिंह, मूर्त सिंह, चरण दास, हिम सिंह, जोगिंद्र सिंह ,राकेश चंद्रपाल प्रिंस व यशपाल के परिवार रहते थे। इन परिवारों के पास पहने हुए कपड़ों के सिवाय कुछ नहीं बचा है। मौके पर पहुंची रोहड़ू पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है, आगे जांच की जा रही है। प्रशासन की ओर से प्रभावितों को आर्थिक मदद दी जा रही है।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने जिला शिमला के गुजांदली गांव में आग लगने की घटना पर दुःख व्यक्त किया है। वहीं मुख्यमंत्री ने जिला मण्डी के सराज विधानसभा क्षेत्र के बालीचैकी तथा जंजैहली में आग लगने की घटना पर भी दुःख व्यक्त किया। जय राम ठाकुर ने जिला प्रशासन को प्रभावित परिवारों को तुरन्त फौरी राहत प्रदान करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रभावित परिवारों को हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी।

वहीं जिला शिमला के रोहड़ू उप मंडल के तहत गुजांदली गांव में हुए अग्निकांड में प्रभावित परिवारों के प्रति शहरी विकास, नगर नियोजन, आवास, संसदीय कार्य, विधि एवं सहकारिता मंत्री सुरेश भारद्वाज ने गहरी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को तुरंत सहायता राशि प्रदान करने के निर्देश दिए, जिसके तहत 6 प्रभावित परिवारों को 10-10 हजार रुपये की राशि फौरी राहत के तौर पर प्रदान की गई।

उन्होंने अधिकारियों को नुकसान का आकलन कर तुरंत मामला सरकार को सौंपने के निर्देश भी दिए ताकि प्रभावितों को और अधिक सहायता उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि किसी प्रकार की भी सहायता पहुंचाने में कोई विलंब न किया जाए। उन्होंने प्रभावित परिवारों को आश्वासन दिया कि सरकार उनकी हर संभव सहायता करने के लिए अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करेगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

36  −  28  =