बैंकों की सभी शाखाओं में की जाए सेनेटाईज करने की व्यवस्था: डीसी अमित

शिमला: जिला में स्थित सभी बैंकों द्वारा अपनी शाखाओं में कोरोना संक्रमण से बचाव के संबंध में सभी प्रकार के एहतियात बरतने व समुचित सफाई व्यवस्था भी सुनिश्चित करें। उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने आज बचत भवन में आयोजित जिला स्तरीय समीक्षा समिति एवं जिला स्तरीय परामर्शदात्री समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए बैंक अधिकारियों को यह निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि बैंकों की सभी शाखाओं को पर्याप्त सेनेटाईज करने की व्यवस्था की जाए। विशेष रूप से अधिक लोगों द्वारा एटीएम मशीनों के उपयोग के कारण इन्हें दिन में प्रत्येक अंतराल के बाद साफ करवाने की व्यवस्था बैंकों द्वारा प्राथमिकता के तौर पर हो। उन्होंने कहा कि ग्राहकों के हाथों की स्वच्छता एवं सफाई के लिए पर्याप्त मात्रा में जल, साबुन व सेनेटाईजर की उपलब्धता सभी बैंक अपनी शाखाओं में करवाना सुनिश्चित करें।

कोरोना संक्रमण से बचाव के संबंध में पर्याप्त जागरूकता प्रचार सामग्री बैंकों की शाखाओं में चस्पा करें तथा अधिक से अधिक लोगों को इसकी जानकारी प्रदान करें। उन्होंने कहा कि सुमनके सुरक्षा प्रक्रिया को अपनाकर हाथ धोने के संदेश को अधिक से अधिक प्रचारित करें जिसके तहत (एस) सीधा (यू) उल्टा (एम) मुट्ठी (ए) अंगूठा (एन) नाखून तथा (के) कलाई को अच्छी तरह धोने से हम इस वायरस के संभावित खतरे से अपने आप को बचा सकते हैं।

उन्होंने तिमाही के दौरान किए गए कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि प्रत्येक बैंक जागरूकता शिविर आयोजित कर केन्द्र व प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने के निर्देश दिए ताकि लोगों को इसका लाभ मिल सके।

उन्होंने बताया कि कृषि क्षेत्र में किसानों को विभिन्न बैंकों द्वारा दिसम्बर तिमाही तक 1569.32 करोड़ के ऋण वितरित किए गए। प्राथमिकता क्षेत्र में 2332.66 करोड़ रुपये के ऋण दिसम्बर तिमाही तक बांटे गए। वार्षिक ऋण योजना के तहत दिसम्बर तिमाही तक निर्धारित वार्षिक लक्ष्य को 64.34 प्रतिशत तक प्राप्त किया गया।

उन्होंने बताया कि विभिन्न बैंकों द्वारा 126 युवाओं को जिला में बागवानी कृषि व अन्य गतिविधियों के तहत प्रशिक्षण प्रदान किया गया। उन्होंने कहा कि बैंकों द्वारा जिला के विभिन्न क्षेत्रों विशेष रूप से दूर-दराज के क्षेत्रों मंे केन्द्र व प्रदेश सरकार की योजनाओं के प्रचार-प्रसार के संबंध में शिविरों का आयोजन कर ऋण संबंधी मामले स्वीकृत करने के प्रयास करें।

बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त अपूर्व देवगन, आरीबीआई के सहायक महा प्रबंधक स्वर ग्रोवर, यूको बैंक के एलडीएम अशोक कुमार, यूको बैंक की प्रबंधक आंचल चैहान तथा शिमला के विभिन्न बैंकों के पदाधिकारी उपस्थित थे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *