किसानों के खेतों में जाकर काम करें विभाग के अधिकारीः वीरेंद्र कंवर

  • धुंदला में आयोजित किसान मेले में 400 से अधिक किसानों ने लिया हिस्सा

ऊना: ग्रामीण विकास, पंचायती राज, मत्स्य तथा पशु पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने सभी विभागों के अधिकारियों से किसान के खेतों में जाकर काम करने को कहा है। आज धुंदला में आयोजित किसान मेले की अध्यक्षता करते हुए कंवर ने कहा कि अधिकारी किसानों की सुविधा को ध्यान में रखकर खेत में जाकर काम करना चाहिए, ताकि उन्हें बार-बार सरकारी कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़ें।

वीरेंद्र कंवर ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार किसानों के हित को ध्यान में काम कर रही है। केंद्र सरकार किसानों को अपने छोटे खर्च पूरा करने के लिए किसान सम्मान निधि के रूप में सालाना 6 हजार रुपए प्रदान कर रही है। इसके अलावा प्रदेश सरकार ने ऊना जिला से ही समग्र बाड़बंदी योजना आरंभ की है, जिसके अंतर्गत किसानों के खेतों के चारों ओर सौर बाड़ लगाई जाती है तथा उसमें कांटेदार तार व जाल भी लगाया जा सकता है। प्रदेश सरकार बाड़बंदी के लिए किसानों को सब्सिडी भी प्रदान करती है।

प्राकृतिक खेती पर विशेष जोर देते हुए ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि किसानों को अपने खेतों में रसायनों का प्रयोग कम से कम करना चाहिए क्योंकि रसायनों के प्रयोग से इंसानों को बीमारियों का खतरा बढ़ा है। खाद्य श्रृंखला में रसायनों के शामिल होने से कैंसर जैसे घातक रोग हो रहे हैं। इसलिए प्रदेश सरकार प्राकृतिक खेती के लिए किसानों को प्रोत्साहित कर रही है और इसमें कृषि तथा पशुपालन विभाग भी किसानों की सहायता करते हैं। उन्होंने कहा कि किसानों को उन्नत नस्ल के पशुओं की खेती करनी चाहिए ताकि उनकी अच्छी कमाई हो सके। देसी गाय प्राकृतिक खेती का आधार है। देसी गाय का गोबर व मूत्र पैदावार बढ़ाने में सहायक होते हैं।

  • प्राकृतिक खेती के लिए सम्मान

किसान मेले में 400 से अधिक किसानों ने भाग लिया, जिसमें कृषि, बागवानी तथा पशु पालन विभाग के अधिकारियों ने अपनी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। मेले में प्राकृतिक खेती करने वाले बंगाणा ब्लॉक के पांच किसानों को सम्मानित किया और किसानों को बीज भी प्रदान किए गए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

70  −    =  62