बर्फबारी के बाद शिमला जिला में जनजीवन अस्तव्यस्त

हिमाचल: बर्फबारी के बाद जनजीवन अस्त-व्यस्त

  • जिला प्रशासन का दावा, शिमला शहर के सभी रास्ते जल्द होंगे बहाल
  • नगर निगम प्रशासन कार्य कर रहा है और स्थिति को सामन्य करने का कार्य जोरों पर

शिमला: हिमाचल प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के चलते बीते तीन दिनों से हुई बर्फबारी से कई क्षेत्रों में अभी सड़कें बंद और पानी-बिजली से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बर्फबारी के चलते प्रदेश के कई क्षेत्रों का अभी भी समस्त भारत से सम्पर्क कटा हुआ है।  हिमाचल में अभी तक चार एनएच और एक स्टेट हाईवे सहित 292 छोटी बड़ी सड़कें बर्फबारी के चलते बंद बड़ी पड़ी हैं। इसके अलावा 1055 बिजली लाइन और 13 पेयजल स्कीमें प्रभावित हैं। बता दें कि पिछले दिनों हुई बर्फबारी से हिमाचल में जनजीवन एक तरह से ठहर सा गया था। बर्फबारी से कई सड़कें बंद हो गई थीं।  जिससे लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही थी। वहीं, पीडब्ल्यूडी ने भी लोगों को राहत पहुंचाने के लिए कमर कस ली थी। बंद मार्ग खोलने का कार्य शुरू कर दिया था। लेकिन, अभी तक भी चार एनएच एस स्टेट हाईवे और 292 सड़कें बहाली के इंतजार में हैं। इन सड़कों में सबसे ज्यादा लाहुल स्पीति और चंबा में बंद हैं। लाहुल स्पीति में एक एनएच और स्टेट हाईवे सहित 151, चंबा में 75, किन्नौर में एक एनएच  सहित 8, कुल्लू में 16, मंडी में 10, शिमला में 28 और सिरमौर में 4 मार्ग बंद हैं। इसके अलावा चंबा में 805, सांगला में 1, कुल्लू में 22, लाहुल स्पीति और उदयपुर में चार, मंडी में 153 और शिमला में 70 बिजली लाइनें प्रभावित हैं। वहीं, सरकार का दावा है कि जल्द की बंद सड़कों को खोल दिया जाएगा।

बर्फबारी के बाद शिमला जिला में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। शिमला के ऊपरी क्षेत्रो में यातायात पूरी तरह से ठप हो गया है। कुफरी, नारकण्डा, खड़ापत्थर में भारी बर्फबारी से वाहनों को आवाजाही कल से बन्द पड़ी है। लेकिन प्रशासन ने जिला के मुख्य सड़कों को बहाल करने का दावा किया है।  डीसी शिमला अमित कश्यप का कहना है कि प्रशासन ने सुबह के समय कुफरी, ठियोग नारकंडा, खड़ापत्थर और चौपाल की ओर जाने वाले खिड़की के रास्ते को बहाल किया गया है।  जिससे दिन के समय HRTC कि बसों को इन्ही रास्तों से भेजा गया है। उन्होंने बताया कि सुबह के समय यह सभी रास्ते बंद पड़े थे लेकिन प्रशासन ने जेसीबी और स्नोकट्टर के सहारे सभी सड़कों कुफरी, नारकण्डा, खड़ापत्थर और खिड़की रास्तों को यातायात के लिए बहाल किए गया है।उन्होंने बताया की बर्फ पड़ने से इन जगहों पर फिसलन बनी रहती है तो इससे निपटने के लिए प्रशासन ने रेत बिछाने का कार्य शुरू कर दिया है ! उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि यदि इन सड़कों में रेत बिछाने के बाद भी फिसलन बनी रहती है तो इन क्षेत्रों में किसी तरह के वाहनों को जाने की अनुमति नहीं दी जायेगी। उन्होंने बताया कि सुबह के समय रामपुर की ओर जाने वाली बसों को वाया बसंतपुर भेज जाएगा और साथ ही रोहडू और चौपाल कि ओर जाने वाले बसों को भी दूसरे रास्ते से भेजा जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सुबह और शाम 6 से 7 बजे के बीच जेसीबी से सड़कों पर बर्फ बिछाई जाए ताकि किसी तरह कि कोई अनहोनी न हो। उन्होंने कहा कि जिले में बिजली और पानी कि छुटपुट सुचना मिली हैं जिसे दुरुस्त किया गया है।  उन्होंने बताया कि शिमला शहर कि अगर बात करें तो शहर के सभी रास्तों से बर्फ हटाने का काम जारी है इसके लिए नगर निगम प्रशासन कार्य कर रहा है और स्थिति को सामन्य करने का कार्य जोरों पर है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *