अब ऐनिमिया मुक्त होंगे शिमला जिला के नौनिहाल

  • अगस्त से जिला शिमला में शुरू होगा ‘नेशनल आयरन प्लस इनिशियेटिव’ अभियान : उपायुक्त अमित कश्यप
  • अभियान का मुख्य उद्देश्य बच्चों में आयरन की कमी को दूर कर ऐनिमिया मुक्त करना
  • छह माह से पांच साल तक के बच्चों को हर सोमवार और गुरूवार को पिलाई जाएगी आयरन की दवाई
  • प्रथम माह में आशा वर्कर और एएनएम द्वारा पिलाई जाएगी
  • उसके पश्चात अभिभावकों को पिलानी होगी दवाई
  • उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को यह कार्यक्रम समयबद्ध रूप से लागू करने के दिए दिशा-निर्देश

शिमला : उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने आज यहां बताया कि जिला शिमला में अगस्त, 2018 से ‘नेशनल आयरन प्लस इनिशियेटिव’ अभियान आरंभ किया जाएगा। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य बच्चों में आयरन की कमी को दूर कर उन्हें ऐनिमिया मुक्त करना है। वह आज यहां जिला टास्क फोर्स की बैठक की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे।

नेशनल आयरन प्लस इनिशियेटिव के तहत छह माह से पांच साल आयु तक के बच्चों को हर सोमवार और गुरूवार को आयरन की एक मिलीलीटर दवाई पिलाई जाएगी। प्रथम माह में यह दवाई आशा वर्कर और एएनएम द्वारा पिलाई जाएगी, उसके पश्चात अभिभावकों को इस दवाई को पिलाने की विधि से अवगत करवाकर उन्हें दवाई प्रदान कर दी जाएगी। उसके पश्चात अभिभावकों को छह माह से पांच साल तक के आयु वर्ग के बच्चों को यह दवाई पिलानी होगी।

  • पांच वर्ष से 10 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों को आयरन की नारंगी रंग की गोली सप्ताह में एक बार प्रदान की जाएगी। यह दवाई सभी सरकारी एवं निजी स्कूलों में स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध करवा दी गई है।
  • 10 वर्ष से 19 वर्ष आयु वर्ग के किशोरों को आयरन की नीले रंग की गोली सप्ताह में एक बार प्रदान की जाएगी।
  • आयरन की नारंगी और नीले रंग की गोली में आयरन की मात्रा अलग-अलग होगी।
  • यह दवाई सभी बच्चों को प्रदान की जाएगी, जो बच्चे स्कूल नहीं जाते हैं, उन्हें आंगनवाड़ी केंद्र के माध्यम से प्रदान की जाएगी।

उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को यह कार्यक्रम समयबद्ध रूप से लागू करने के लिए जरूरी दिशा-निर्देश दिए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. नीरज मित्तल ने नेशनल आयरन प्लस इनिशियेटिव अभियान के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की।

जिला कार्यक्रम अधिकारी डाॅ. मनीश सूद ने डिस्ट्रिक्ट टास्क फोर्स के विभिन्न क्रिया-कलापों की जानकारी प्रदान करते हुए शिक्षा विभाग के अधिकारियों से आग्रह किया कि वह जिला में टास्क फोर्स के तहत चलाए जा रहे विभिन्न अभियानों के बारे में विभिन्न सूचनाएं समयबद्ध प्रदान करें। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. नीरज मित्तल, जिला कार्यक्रम अधिकारी डाॅ. मनीश सूद, जिला कार्यक्रम अधिकारी ईरा तनवर, उप निदेशक शिक्षा और विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

75  −    =  71