हिमाचल में युवाओं के कौशल विकास के लिए कार्यान्वित की जा रही कई योजनाएं

हिमाचल में युवाओं के कौशल विकास के लिए कार्यान्वित की जा रही कई योजनाएं

  • हिमाचल में युवाओं के कौशल विकास के लिए कार्यान्वित की जा रही अनेक योजनाएं
  • प्रदेश में 234 आई.टी.आई. कार्यरत, 36 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं कर रहे शिक्षा प्राप्त
  • प्रदेश में 10 नए स्टेट ऑफ आर्ट आई.टी.आई.  जाएंगे खोले, आधुनिक पाठ्क्रम व सुविधाएं जिनमें  बनाई जाएगी सुनिश्चित

 

नई दिल्ली : परिवहन एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री जी.एस. बाली ने आज नई दिल्ली में विज्ञान भवन में आयोजित कौशल विकास पर एक राष्ट्रीय कार्यशाला में भाग लेते हुए कहा कि हिमाचल में युवाओं के कौशल विकास करने तथा तकनीकी शिक्षा को व्यापक बढ़ावा देने के लिए अनेक योजनाएं व कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इस कार्यशाला की अध्यक्षता कौशल विकास एवं उद्यम राज्य मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने की। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम को प्रदेश में एक मिशन के तहत चलाया जा रहा है और शीघ्र ही तकनीकी शिक्षा विभाग नए पाठ्यक्रम आरम्भ करेगा।

बाली ने कहा कि प्रदेश में कौशल विकास की दिशा में अनेक कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस समय प्रदेश में 234 आई.टी.आई. कार्यरत हैं, जिनमें 36 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन संस्थानों में 98 सरकारी क्षेत्र में तथा 136 निजी क्षेत्र में कार्यरत हैं। उन्होंने कहा कि गत दो वर्षों के दौरान ही प्रदेश में सरकारी क्षेत्र में ही 13 नए आई.टी.आई. खोले गए तथा आज प्रदेश के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में सरकारी क्षेत्र में कम से कम एक आई.टी.आई. कार्यरत है। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि भविष्य में प्रदेश में 10 नए स्टेट ऑफ आर्ट आई.टी.आई. खोले जाएंगे, जिनमें आधुनिक पाठ्क्रम व सुविधाएं सुनिश्चित बनाई जाएगी।

प्रदेश के लम्बित मामलों पर उल्लेख करते हुए बाली ने केन्द्र सरकार से आग्रह किया कि शिमला के समीप महिलाओं के लिए जो क्षेत्रीय व्यावसायिक प्रशिक्षण संस्थान खोला जा रहा है, उसकी भूमि संबंधी सभी औपचारिकताएं पूरी कर दी गई हैं तथा उन्होंने इसे केन्द्र से शीघ्र स्वीकृति प्रदान करने का आग्रह किया। उन्होंने कांगड़ा जिले में खोले जा रहे एडवांस प्रशिक्षण संस्थान को शीघ्र खोलने का भी केन्द्र सरकार से आग्रह किया।

इस अवसर पर प्रधान सचिव वित्त डा. श्रीकांत बाल्दी, निदेशक तकनीकी शिक्षा राजेश्वर गोयल, उप-निदेशक तकनीकी शिक्षा दिवेन्द्र राणा तथा उद्योग एवं श्रम एवं रोजगार विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

 

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *