नई सरकार बनने के साथ पक्ष व विपक्ष में नई पीढ़ी का परिवर्तन, हिमाचल में स्वच्छ प्रशासन देना सरकार की प्राथमिकता : सीएम

  •  जनता को बहुत सी उम्मीदें, उन पर खरा उतरने की हमारी पूरी कोशिश रहेगी
  • मुख्यमंत्री ने प्रेसवार्ता के दौरान कहा, महिला उत्पीड़न किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं
  • कहा, नशे के खिलाफ मुहिम जारी रखना, भ्रष्टाचार पर लगाम, कानून व्यवस्था बनाए रखना व केंद्र सरकार के कार्यक्रमों को रफ्तार देना रहेंगी प्राथमिकताएं
  • सरकारी स्तर पर होने वाली हर भर्ती में होगी पूरी पारदर्शिता
  • पिछली सरकार का बेरोजगारी भत्ता युवाओं के साथ एक मजाक था
  • इस बार गणंतत्र दिवस परेड में लाहौल-स्पीति के गोंपा की झांकी की जाएगी प्रदर्शित, जोकि हिमाचल के लिए खुशी की बात

धर्मशाला : प्रदेश में इस बार नई सरकार बनने के साथ पक्ष व विपक्ष में नई पीढ़ी का परिवर्तन हुआ है। यह बात आज धर्मशाला में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रेसवार्ता के दौरान कही। उन्होंने कहा कि जनता को बहुत सी उम्मीदें हैं और उन उम्मीदों पर खरा उतरने की हमारी पूरी कोशिश रहेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश को एक संतुलित मंत्रिमंडल देने की कोशिश की गई है। इसमें नयापन भी है और अनुभवी लोग भी हैं। साथ ही नए लोग भी इसमें लिए हैं।  ठाकुर ने कहा कि आज से विधानसभा का सत्र शुरू हुआ है और चार दिन का सत्र यहां चलेगा। उन्होंने कहा कि इसमें विधानसभा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का चुनाव और राज्यपाल का अभिभाषण होगा। उन्होंने कहा कि स्वच्छ प्रशासन हिमाचल में देना सरकार की प्राथमिकता रहेगी, तो वहीं नशे के खिलाफ मुहिम, भ्र्ष्टाचार पर लगाम कसना, कानून व्यवस्था बनाये रखना और केंद्र सरकार की योजनाओं को तेजी देना भी प्राथमिकताओं में विशेष रूप से शामिल होगा। उन्होंने कहा कि युवा नशे की दिशा में कुछ जगह आगे बढ़ रहे हैं। जोकि चुनौती का विषय है लेकिन इस ओर ठोस कदम उठाने की कोशिश की जाएगी ताकि युवाओं को बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि गुड़िया प्रकरण व होशियार सिंह मामले को लेकर जो कानून व्यवस्था को लेकर प्रश्न चिन्ह लगा है वह चिंता का विषय है। जनता के विश्वास को बहाल करना और ऐसी घटना हिमाचल में फिर दोबारा न होना सरकार की प्राथमिकता रहेगी। जयराम ठाकुर ने कहा कि पिछली सरकार का बेरोजगारी भत्ता युवाओं के साथ एक मजाक था। हमारी सरकार का प्रयास रहेगा कि बेरोजगारों को सरकारी व गैर सरकारी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध करवाया जाए।

उन्होंने कहा कि नशे के खिलाफ मुहिम जारी रखना, भ्रष्टाचार पर लगाम, कानून व्यवस्था बनाए रखना और केंद्र सरकार के कार्यक्रमों को रफ्तार देना प्राथमिकताएं रहेंगी। महिला उत्पीड़न किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। प्रदेश की तीनों पुलिस रेंज में महिला उत्पीड़न पर लगाम कसने के लिए विशेष सेल स्थापित होगा। ऐसे मामलों की रिपोर्ट 48 घंटे में सीएम कार्यालय को सौंपनी होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी स्तर पर होने वाली हर भर्ती में पूरी पारदर्शिता होगी। वहीं मुख्यमंत्री ने इस बात की भी जानकारी दी कि दिल्ली में होने वाली गणंतत्र दिवस परेड में इस बार हिमाचल के जनजातीय क्षेत्र लाहौल-स्पीति के गोंपा की झांकी प्रदर्शित की जाएगी जोकि हिमाचल के लिए खुशी की बात है। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि उनसे मिलने के दौरान शॉल, टोपी व बुके न दें अपितु मुख्यमंत्री राहत कोष में दान करें।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

24  −    =  20