प्रदेश में लोकतंत्र पर गुण्डाराज हावी : प्रो. धूमल

  • कांग्रेस की रग-रग में रच बस गई है रजवाड़ाशाही और तानाशाही
  • प्रो. धूमल ने भाजपा पार्षद परमार पर हुए जानलेवा हमले की की कड़ी निंदा

शिमला : पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने भाजपा पार्षद संजय परमार पर हुए जानलेवा हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आज प्रदेश में लोकतंत्र पर गुण्डाराज हावी हो गया है। प्रशासनिक असफलताओं और चुनावी हारों से हताश कांग्रेस पार्टी अब पत्थरबाजों के सहारे भय का वातावरण बना रही है। कश्मीर के पत्थरबाजों और प्रदेश के पत्थरबाजों में अंतर सिर्फ इतना है कि वह लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं को चुनौती दे रहे हैं और यहां के पत्थरबाज लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं को ही अपने व्यक्तिगत स्वार्थों के लिए दांव पर लगा रहे हैं। पार्षद पर हमला मात्र एक आपराधिक घटना नहीं है बल्कि कांग्रेस द्वारा प्रदेश की लोकतांत्रिक प्रणाली पर गहरा आघात है।

प्रो. धूमल ने कहा कि कांग्रेस को वास्तव में ही लोकतंत्र पर कभी भरोसा नहीं रहा है। रजवाड़ाशाही और तानाशाही कांग्रेस की रग-रग में रच बस गई है। कांग्रेस के इसी रवैये के चलते प्रदेश के लाखों कर्मचारी भी उत्पीड़न का शिकार हो रहे हैं। अपनी जायज मांगों के लिए भी कर्मचारी अपनी लोकतांत्रिक अधिकारों का प्रयोग नहीं कर पा रहे हैं। प्रदेश भर में कर्मचारी अपनी जायज मांगों के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं, परन्तु कांग्रेस ने इस अधिकार से भी कर्मचारियों को वंचित करके उनमें डर का माहौल बनाया है। यही वजह है कि जिन कर्मचारियों और अधिकारियों के दम पर 5 वर्ष पूर्व प्रदेश को 85 से अधिक पुरस्कार राष्ट्रीय स्तर पर मिले थे, आज उन्हीं कर्मचारियों में सरकार की दमनकारी नीतियों की वजह से हताशा है। कर्मचारियों में निराशा के इस वातावरण की वजह से प्रदेश को पुरस्कार मिलना तो दूर, उल्टे विकास की दौड़ में प्रदेश पिछड़ गया है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने नियमों, कायदों को ताक पर रखकर की जा रही नियुक्तियों पर भी कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि भाई-भतीजावाद, भ्रष्टाचार व चिट्टों पर भर्तियों से प्रदेश के युवाओं में घोर निराशा है। अंतिम समय में रिक्रुटमैंट का जो चाव कांग्रेस पर चढ़ा है उसमें कांग्रेस की छटपटाहट स्पष्ट नजर आ रही है। आगामी चुनावों में सरकार न बनने का स्पष्ट अभाव के चलते इन भर्तियों में भारी धांधली कांग्रेस सरकार द्वारा की जा रही है जिसका जवाब कांग्रेस को देश का युवा आगामी विधानसभा चुनावों में देगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *