आईजीएमसी व टांडा मेडिकल कालेजों में बढ़ी स्नातकोत्तर सीटें

  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने की 39 सीटें बढ़ाने की अनुशंसा
  • शैक्षणिक सत्र 2017-18 से आईजीएमसी में 31 सीटें तथा 8 सीटें टांडा मेडिकल कालेज में बढ़ाई

शिमला : हि. प्र. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज शिमला तथा डा. राजेन्द्र प्रसाद राजकीय मेडिकल कालेज टांडा में स्नात्कोत्तर की कुल 39 सीटें बढ़ाने की अनुशंसा की है। शिक्षक-शिक्षार्थी अनुपात में संशोधन के आधार पर शैक्षणिक सत्र 2017-18 से आईजीएमसी में 31 सीटें तथा 8 सीटें टांडा मेडिकल कालेज में गई हैं।

आईजीएमसी में बढ़ाई गई सीटों का विवरण देते हुए उन्होंने बताया कि एमडी जनरल मेडिसिन की मौजूदा 9 सीटों को बढ़ाकर 13 किया गया है जबकि एमएस सामान्य सर्जरी में 3 सीटें, एमएस आर्थोपेडिक्स में एक सीट, एमएस ओबीजी में 7 सीटें, एमएस ईएनटी में एक सीट, एमडी रेडियो डॉयगनोसिस में 9 सीटें, एमडी एनेस्थिसियोलॉजी में 5 सीटें तथा एमडी रेसपायरेटरी मेडिसन में एक सीट बढ़ाई गई है। इसी प्रकार, टांडा मेडिकल कालेज में एमडी पेडियट्रिक्स में एक सीट, एमएस आर्थोपेडिक्स में 3 सीटें तथा एमडी एनेस्थिसियोलॉजी में 4 सीटें बढ़ाई गई हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

54  −  44  =