ट्रैक्टर खरीद के लिए भूमि सीमा समाप्त

  • कल्याण बोर्ड से पंजीकृत महिलाओं के लिए कल्याण योजना की शुरूआत
  • हरोली में नागरिक अस्पताल और ग्रामीण स्वास्थ्य अनुसंधान केन्द्र के लोकार्पण

शिमला : मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कृषि प्रयोजन के लिए ट्रैक्टर खरीदने के लिए ट्रैक्टर मालिकों द्वारा अदा किए जाने वाले कर को एकमुश्त जमा करवाने की घोषणा की। उन्होंने कृषि उद्देश्य के लिए टै्रक्टर खरीदने के लिए भूमि सीमा को समाप्त करने की भी घोषणा की। पूर्व में यह सीमा 20 कनाल थी। उन्होंने ट्रैक्टर मालिकों के लम्बित बकायों तथा करों को एक बार छूट प्रदान करने की भी घोषणा की। वीरभद्र सिंह ने ये घोषणाएं आज ऊना जिले के हरोली विधानसभा क्षेत्र के खड्ड में भवन एवं अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड से पंजीकृत महिलाओं के लिये राज्य स्तरीय कल्याण योजना के शुभारंभ समारोह के अवसर पर की। उन्होंने योजना के अंतर्गत महिलाओं को कपड़े धोने की मशीनें वितरित की और कहा कि योजना के तहत कपड़े धोने की मशीनें पूरे प्रदेश में चरणबद्ध तरीके से वितरित की जाएंगी। उन्होंने हरोली के बीटन में हवाई पट्टी तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की भी घोषणाएं की।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी राज्य के समग्र विकास पर विश्वास रखती है और संकीर्ण विचारधारा से ऊपर उठकर राज्य के सभी क्षेत्रों का समान एवं संतुलित विकास सुनिश्चित बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार को प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना अथवा अन्य केन्द्रीय योजनाओं के अंतर्गत विकास के लिए राज्य का हिस्सा प्रदान करना अनिवार्य है। इसके अलावा, कुल मिलाकर भूमि राज्य की है और केन्द्रीय प्रायोजित परियोजनाओं के उद्घाटन करना अथवा आधारशिलाएं रखना राज्य सरकार का अधिकार है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार केवल केन्द्र शासित प्रदेशों में स्वामित्व का दावा कर सकती है। उन्होंने कहा कि राज्यों का समान रूप से विकास सुनिश्चित बनाना केन्द्र सरकार की जिम्मेवारी है। उन्होंने कहा कि बीसीसीआई अध्यक्ष को केन्द्र-राज्य संबंधों को मजबूत करने के लिए कार्य करना चाहिए। यहां उल्लेख करना प्रासंगिक होगा कि क्षेत्र से मौजूदा सांसद ने महज श्रेय लेने के लिये पंजावर से बाथरी सड़क के लिए भूमि पूजन किया, हालांकि इस सड़क को  नागनोली से इसपुर तक विकसित करने की आवश्यकता है।

वीरभद्र सिंह ने अनुराग ठाकुर को सलाह दी कि उद्घाटनों पर ध्यान देने तथा राज्यों के हिस्से का श्रेय लेने के बजाए उन्हें स्वां नदी तटीकरण के लिए धनराशि जारी करने का मामला केन्द्र से उठाना चाहिए और इसके लिए लड़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि अनुराग बतौर सांसद क्षेत्र के लोगों के सच्चे हितैषी हैं, तो उन्हें केन्द्रीय मंत्रालयों में विभिन्न स्तरों पर लटके अनुदान तथा लम्बित कार्यों को उठाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने लोढ़ा समिति की सिफारिशों का भी स्वागत किया है, जो लाभ के पदों पर आसीन राज्य क्रिकेट संघों तथा अमीर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) पर शिकंजा कस रहा है।

उन्होंने कहा कि वह केन्द्र सरकार के करंसी के विमुद्रीकरण के निर्णय का स्वागत करते हैं, लेकिन 2000 रुपये के नोट को इस प्रकार से बनाना चाहिए था, जो एटीएम के अनुकूल हो। उन्होंने कहा कि काला धन एक धब्बा है और पूर्ण रूप से इस समाप्त किया जाना चाहिए, लेकिन केन्द्रीय सरकार को करंसी जारी करने से पूर्व इसके विभिन्न पहलूओं तथा अन्य तकनीकी पेचिदगियां, जो आम लोगों के लिये समस्याएं उत्पन्न कर रही हैं, पर गौर करना चाहिए था। उद्योग मंत्री मुकेश अग्निहोत्री, जो हरोली विधानसभा क्षेत्र के विधायक भी हैं ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री का स्वागत तथा उन्हें सम्मानित किया और हरोली विस क्षेत्र में 38 करोड़ रुपये की विभिन्न परियोजनाओं के लोकार्पण के लिए मुख्यमंत्री का आभार भी प्रकट किया।

उन्होंने मुख्यमंत्री को मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए पांच लाख रुपये का चैक भी प्रदान किया। उद्योग मंत्री ने हरोली विधानसभा क्षेत्र, जो कि राज्य को आदर्श विधानसभा क्षेत्र बन चुका है में हुए विकास कार्यों के बारे में जानकारी दी तथा मुख्यमंत्री को इसका श्रेय दिया। उन्होंने हरोली क्षेत्र में नागरिक अस्पताल तथा कॉलेज फाउंडेशन के लिए मुख्यमंत्री का आभार प्रकट किया। उन्होंने ‘मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना’ के तहत 80:10 या 90:10 के अनुपात के अनुसार खेतों की बाड़बंदी के लिए मिलने वाली रियायत में कुछ सुधार करने का आग्रह भी किया। उन्होंने बोर्ड के अंतर्गत कामगारों के हित में इस योजना के तहत मार्च तक 100 करोड़ रुपये खर्च करने का आग्रह भी किया। उन्होंने महिलाओं को मिक्सर जूसर जैसे अन्य घरेलु उपयोग की वस्तुएं प्रदान करने तथा बोर्ड के अन्तर्गत पंजीकृत कामगारों  को विवाह तथा मृत्यु पर मिलने वाली राशि को बढ़ाने की राज्य भवन एवं निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष बावा हरदीप सिंह की मांग का समर्थन किया।

उद्योग मंत्री ने ट्रेक्टर मालिकों के लिए एक मुश्त कर लगाने और उनके लंबित करों को माफ करने की मांग भी की। उन्होंने बीटन में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, हरोली में हेलीपैड तथा सलोह में इंडोर स्टेडियम बनाने का आग्रह भी किया। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने 9 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित तीन मंजिला नागरिक अस्पताल के अलावा 1.60 करोड़ रुपये की लागत से नागरिक अस्पताल, हरोली के परिसर में निर्मित मार्डन रूरल हेल्थ रिसर्च सेंटर का लोर्कापण किया।

उन्होंने खड्ड में 12.25 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय डिग्री कॉलेज का शिलान्यास भी किया। मुख्यमंत्री ने नागनोली-इसपुर सड़क का भूमि-पूजन भी किया। इस सड़क को सुदृढ़ तथा सुधारने में 10.27 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जा रही है। राज्य भवन एवं सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष बावा हरदीप सिंह ने कहा कि बोर्ड के अन्तर्गत पंजीकृत महिलाओं मे 1100 वाशिंग मशीन वितरित की जाएंगी। उन्होंने कामगार कल्याण बोर्ड के अन्तर्गत पंजीकृत परिवारों के लिए भविष्य में विवाह के अवसर पर सहयोग राशि को 25,000 रुपये से बढ़ाकर 51,000 रुपये तथा प्राकृतिक एवं दुर्घटना मृत्यु पर दी जानी वाली राशि को क्रमशः 50,000 तथा एक लाख रुपये से बढ़ाकर प्रत्येक वर्ग के लिए दो लाख रुपये करने का आग्रह किया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6  +  1  =