ब्लॉग

अंतरराष्ट्रीय लवी मेला धूमधाम से सम्पन्न, मुख्यमंत्री ने की समारोह की अध्यक्षता

अंतरराष्ट्रीय लवी मेला धूमधाम से सम्पन्न, मुख्यमंत्री ने की समारोह की अध्यक्षता

  • मुख्यमंत्री ने किया रामपुर क्षेत्र में करोड़ों रुपये की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास

रीना ठाकुर/शिमला: रामपुर बुशहर का प्रसिद्ध चार दिवसीय अंतरराष्ट्रीय लवी मेला वीरवार को धूमधाम से सम्पन्न हो गया। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने मेले के समापन समारोह की अध्यक्षता की। इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐतिहासिक होने के साथ-साथ लवी मेले को तिब्बत, चीन और अन्य देशों के साथ व्यापार के लिए भी जाना जाता है तथा यह मेला क्षेत्र के लोगों के लिए बहुत महत्त्व रखता है। उन्होंने सदियों से मनाए जा रहे इस मेले की समृद्ध संस्कृति, परम्पराओं को संरक्षित रखने के लिए क्षेत्र के लोगों को बधाई दी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार रामपुर क्षेत्र के विकास को प्राथमिकता दे रही है और पिछले लगभग दो वर्षों में सड़कों, पुलों, भवनों और अन्य अधोसंरचना के निर्माण पर 260 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। क्षेत्र के 15 गांवों को इस दौरान सड़कों से जोड़ा गया, पांच पुलो, 22 भवनों के निर्माण के साथ-साथ 140 किलोमीटर लम्बी सड़कों की मैटलिंग और टारिंग का कार्य किया गया। इसके अतिरिक्त सड़कों व पुलों के लिए 133 करोड़ रुपये की 33 और 126 करोड़ रुपये की 16 डीपीआर स्वीकृति के लिए भेजी गई हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों में सरकार को जनता का भरपूर विश्वास एवं सहयोग मिला है। यही कारण है कि भाजपा ने लोकसभा चुनाव के दौरान सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों पर बढ़त हासिल की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दृढ़ इच्छाशक्ति के कारण अनुच्छेद 370 समाप्त हुआ है। उन्होंने श्रीराम जन्मभूमि मामले में सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि इससे भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण का रास्ता खुल गया है।

मुख्यमंत्री ने किया रामपुर क्षेत्र में करोड़ों रुपये की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने किया रामपुर क्षेत्र में करोड़ों रुपये की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि प्रदेश सरकार सुनिश्चित बना रही है कि समाज के हर वर्ग का कल्याण हो और हर क्षेत्र का संतुलित विकास हो। प्रदेश सरकार उन क्षेत्रों के विकास को प्राथमिकता दे रही है जो किन्हीं कारणों से विकास के मामले में पीछे रह गए हैं। उन्होंने कहा कि पिछले लगभग दो वर्षों में 7500 शिक्षकों की भर्ती की गई है, जो अपने आप में एक कीर्तिमान है।

उपायुक्त शिमला और लवी मेला आयोजन समिति के अध्यक्ष अमित कश्यप ने लवी मेले के इतिहास पर विस्तृत प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि शिमला ज़िला को ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ कार्यक्रम के अंतर्गत राष्ट्रीय स्तर पर सर्वश्रेष्ठ ज़िला घोषित किया गया है।

  • मुख्यमंत्री ने माता भीमाकाली मंदिर में की पूजा-अर्चना

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने सराहन स्थित माता भीमाकाली मंदिर में पूजा अर्चना की। जय राम ठाकुर ने 8.20 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित राय खड्ड पुल और स्वान से डोईं सड़क का उद्घाटन किया। उन्होंने खरेला-करांगला सड़क का शिलान्यास किया, जिस पर 7.15 करोड़ रुपये खर्च होंगे। उन्होंने रामपुर विद्युत मंडल के अंतर्गत ननखड़ी में उपमण्डल कार्यालय का उद्घाटन किया, जिससे क्षेत्र की 17 पंचायतों के लोग लाभान्वित होंगे। उन्होंने गौरी से चम्बा और धरूंणजा-कुंगल-बाल्टी उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजनाओं की भी आधारशिला रखी।

प्रदेश कांग्रेस ने भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ निकाली रोष रैली, जयराम सरकार पर जमकर साधा निशाना

प्रदेश कांग्रेस ने भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ निकाली रोष रैली

शिमलाः प्रदेश कांग्रेस ने वीरवार को शिमला में केंद्र और प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ रोष रैली निकाली। जिला भर से आए पार्टी कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस कार्यालय से लेकर डीसी ऑफिस तक रोष रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। यह रैली कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल, कांग्रेस किसान सेल प्रमुख और हिमाचल पर्यवेक्षक नाना पटोले,  नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर की अगुवाई में निकाली गई। रोष रैली  में जयराम सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और इस सरकार को सबसे असफल सरकार करार दिया।

हिमाचल प्रभारी रजनी पाटिल ने कहा कि बीजेपी सरकार बेवजह के मुद्दों की तरफ जनता का ध्यान भटकाकर महंगाई को कम करने के लिए कोई कारगर नीति नहीं बना रही है। धर्मशाला में इन्वेस्टर मीट नही बिग फ्लॉप शो हुआ है। मुख्यमंत्री प्रदेश के लोगों की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश कर रहे हैं। ये सरकार वीरभद्र सिंह के काम को भी आगे नहीं बढ़ा पाई है 2022 में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनना तय है।  वहीं उन्होंने प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन शिमला में आयोजित देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयंती के दौरान पाटिल ने दो टूक कहा कि किसी को भी कांग्रेस पार्टी को नुकसान नहीं पहुंचाने दिया जाएगा। पार्टी की झूठी तारीफें करने वालों की जगह बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत करने वालों को सम्मान दिया जाएगा।

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि मोदी हिमाचल में आए तो ओद्योगिक पैकज क्यों नहीं दिया गया। जयराम सरकार पीएम के समक्ष प्रदेश का पक्ष भी नहीं रख पाई। प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर विफ़ल रही है। सरकार एनएच, रेल लाइन और हवाई लाइन बनवाने में नाकाम साबित हुई है। अगर बीजेपी सरकार ने इस तरफ समय रहते ध्यान नहीं दिया तो कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी। उन्होंने कहा इन्वेस्टर मीट के नाम पर प्रदेश की जनता के छलावा हुआ है। उसका आने वाले समय में जवाब दिया जाएगा। ये कांग्रेस वह कांग्रेस है जो जय राम सरकार को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएगी।

नाना पटोले ने बीजेपी के खिलाफ चलाए आंदोलन की सराहना की ओर कहा कि बीजेपी ने सत्ता में आने के बाद देश को बड़े बड़े सपने दिखाए वह धराशायी हो गए। भारत 2014 में बेरोजगारी दर 3.4 फ़ीसदी थी जो 2019 में बढ़कर 8.1 हो चुकी है। जो पिछले 45 वर्षों में सर्वाधिक हैं।

उधर प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगड़ चुकी है। नशे से युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है। बदले की भावना से भाजपा काम कर रही है।

इससे पहले देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल लाल नेहरू को याद करते हुए कांग्रेस पार्टी ने उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की। 10 दिन तक चले कांग्रेस के सरकार विरोधी आंदोलन का आज समापन हो गया।

हिमाचल: 15 नवंबर को 6 जिलों में येलो अलर्ट, रोहतांग में भारी बर्फबारी

हिमाचल: 15 नवंबर को 6 जिलों में येलो अलर्ट, रोहतांग में भारी बर्फबारी

शिमला/ कुल्लू: हिमाचल प्रदेश के 6 जिलों में बारिश और बर्फबारी की चेतावनी जारी हुई है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 15 नवंबर को 6 जिलों में येलो अलर्ट जारी किया है। चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी, किन्नौर और लाहौल-स्पीति में भारी बारिश और बर्फबारी का अलर्ट जारी हुआ है। पूरे प्रदेश में 16 नवंबर तक मौसम खराब रहेगा। 17 से 20 नवंबर तक मौसम साफ होगा।

रोहतांग दर्रा में आज दोपहर बाद से भारी बर्फबारी शुरू हो गयी है। जानकारी अनुसार बर्फीली हवाएं  चलने से लाहौल की तरफ से भेजे गए कई वाहन फंस गए हैं। वहीं खराब  मौसम को देखते हुए मनाली की तरफ से वाहन गुलाबा में रोके गए और दोपहर बाद मनाली वापस भेज दिए गए। रोहतांग, कुंजुम और बारालाचा दर्रा समेत कोकसर, कुल्लू और लाहौल-स्पीति की चोटियों में बर्फबारी शुरू हो गई है।

मशोबरा कृषि प्रबंधन संस्थान में एक दिवसीय कृषि निर्यात नीति-2018 पर आधारित कार्यशाला

मशोबरा कृषि प्रबंधन संस्थान में एक दिवसीय कृषि निर्यात नीति-2018 पर आधारित कार्यशाला

  • कृषि मंत्री का विशेषज्ञों से किसान वर्ग को जागरूक करने व कृषि को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए आह्वान
  • प्रयोगशाला की तकनीकों को किसानों तक पहुंचाए, ताकि  लघु एवं सीमांत किसानों की आय में हो बढ़ोतरी : कृषि मंत्री

रीना ठाकुर/शिमला: मशोबरा कृषि प्रबंधन संस्थान के सभागार में एक दिवसीय कृषि निर्यात नीति-2018 पर आधारित कार्यशाला का कृषि, जनजातीय एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा ने आज शुभारंभ किया। कृषि निदेशक डॉ. राकेश कौंडल ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और उन्हें विभाग की समावेशी और किसान कल्याण की योजनाओं से अवगत करवाया। वहीं इस अवसर पर एपीईडीए की एजीएम रजनी अरोड़ा, कृषि प्रबंधन संस्थान मशोबरा के निदेशक डॉ. देशराज ठाकुर व कृषि विभाग के विशेषज्ञगण भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर कृषि विशेषज्ञों एवं कृषि उत्पादक संगठन के पदाधिकारी को संबोधित करते हुए मारकंडा ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है और प्रदेश की अर्थव्यवस्था में कृषि का सकल घरेलू उत्पाद में 20 प्रतिशत योगदान है। उन्होंने कृषि विशेषज्ञों से अनुरोध किया कि वे प्रयोगशाला की तकनीकों को किसानों तक पहुंचाए, ताकि ग्रामीण आर्थिकी को संबल प्रदान हो और लघु एवं सीमांत किसानों की आय में बढ़ोतरी दर्ज हो।

डॉ. मारकंडा ने बताया कि भारत सरकार 2022 तक कृषि निर्यात को 100 अरब डालर तक पहुंचाने के लिए कृत संकल्प है और नवीनतम तकनीक से किसानों को लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने किसानों की आय में इजाफा करने के लिए मूल्य संवर्धन के कार्य को गति देने पर बल दिया।

कृषि मंत्री ने रसायन युक्त खेती के दुष्प्रभावों पर प्रकाश डाला और विशेषज्ञों से गहन विचार विमर्श किया। उन्होंने स्वास्थ्य के लिए हानिकारक कीटनाशकों के जहर से लोगों को जागरूक करने के लिए समाज के जागरूक वर्ग का सहयोग मांगा। उन्होंने वैश्विक बाजार के युग में नवीन तकनीकों व प्रतिस्पर्धा के दौर में कार्यशाला से किसान वर्ग को जागरूक करने और कृषि को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए विशेषज्ञों से आह्वान किया ताकि ग्रामीण लोगों को वर्तमान प्रदेश सरकार की समावेशी नीतियों का लाभ मिल सके।

कृषि मंत्री ने रसायन मुक्त खेती के लाभ से किसान उत्पादक संगठनों को अवगत करवाया और इसकी कम लागत के महत्व पर विस्तृत चर्चा की।

शिमला: चलती कार में महिला ने जहर खाकर की आत्महत्या, आरोपी चालक गिरफ्तार

शिमला: चलती कार में महिला ने जहर खाकर की आत्महत्या

शिमला: चलती कार में महिला द्वारा जहर खाकर जान देने का एक मामला सामने आया है। बताया जार है कि महिला रोहड़ू की रहने वाली है और एक निजी अस्पताल में स्टाफ नर्स थी। मंगलवार रात सुन्नी पुलिस को अस्पताल से सूचना दी गई कि एक महिला मृत हालत में अस्पताल पहुंचाई गई है। इस पर पुलिस की टीम अस्पताल पहुंची और शव को कब्जे में लेकर गाड़ी चालक को गिरफ्तार किया।

बुधवार को पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया। वहीं, अदालत ने आरोपी चालक को पुलिस रिमांड पर भेजा है। पुलिस की प्रारंभिक जांच के मुताबिक महिला ने जहर खाकर आत्महत्या की है। पुलिस के मुताबिक रोहड़ू के एक निजी अस्पताल में महिला स्टाफ नर्स के तौर पर कार्यरत थी। वहीं,  आरोपी चालक के तौर पर काम करता है। दोनों के बीच करीब तीन साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। अदालत ने आरोपी को पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

कांगड़ा: पति ने पत्नी को कुल्हाड़ी से मार डाला, आरोपी गिरफ्तार

कांगड़ा: पति ने पत्नी को कुल्हाड़ी से मार डाला, आरोपी गिरफ्तार

कांगड़ा: प्रदेश के जिला कांगड़ा में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जानकारी अनुसार थाना ज्वाली के अंतर्गत ग्राम पंचायत हरनोटा में शराब के नशे में धुत बेरहम पति ने पत्नी को कुल्हाड़ी से काटकर मार डाला। है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक रणजीत सिंह (48) पुत्र जैसी राम गांव हरनोटा ने अपनी पत्नी स्नेहलता (45) को कुल्हाड़ी से काट कर मार डाला। रणजीत ने बुधवार देर रात वारदात को अंजाम दिया।

स्नेहलता आंगनबाड़ी में हेल्पर के पद पर तैनात थी। आरोपी रणजीत सिंह मजदूरी का काम करता है। वारदात के समय वह शराब के नशे में धुत था। कत्ल करने के बाद आरोपी स्थानीय पंचायत प्रधान जगदीश चंद के पास गया और कहने लगा कि उसकी पत्नी को मेरे भाई ने मार दिया है। ज्वाली पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में ले लिया। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। आगे जाँच चल रही है।

स्नेहलता की दो बेटियां व एक बेटा है। वारदात के समय घर पर कोई नहीं था। छोटी बहन किसी रिश्तेदार के यहां गई हुई थी। बेटा सेना भर्ती के लिए गया हुआ था। बड़ी बेटी की शादी इसी माह नौ नवंबर को हुई थी। बड़ी बेटी ने शादी के बाद पहली बार आज गुरुवार को अपने मायके आना था।

राज्यपाल ने छात्राओं को चश्में बाँट कर किया मेजर स्क्रीनिंग अभियान का शुभारम्भ

राज्यपाल ने छात्राओं को चश्में बाँट कर किया मेजर स्क्रीनिंग अभियान का शुभारम्भ

  • जिले के करीब 10 हजार बच्चे होंगे लाभान्वित

रीना ठाकुर/शिमला: बाल दिवस के अवसर पर आज राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, पोर्टमोर से राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने शिमला में मेजर स्क्रीनिंग अभियान का शुभारम्भ किया, जिससे जिले के करीब 10 हजार बच्चे लाभान्वित होंगे। यह अभियान इंडियन विज़न इंस्टीट्यूट और इस्सेलर विज़न फाउंडेशन के तत्वावधान में आयोजित किया गया। इस अवसर पर, राज्यपाल ने छात्राओं को चश्में वितरित कर अभियान का शुभारम्भ किया।
राज्यपाल ने इस अवसर पर कहा कि मौजूदा परिपे्रक्ष्य में हर व्यक्ति की दिनचर्या बदल गयी है। प्रतिस्पर्धा के इस दौर में हम आधुनिक तकनीक के साथ आगे बढ़ें लेकिन, अपनी संस्कृति, उच्च विचारों, संस्कारों को भी शिक्षा में शामिल करें। उन्होंने कहा कि योग हमारी संस्कृति का हिस्सा रहा है। उन्होंने छात्राओं से योगाभ्यास को जीवन का अभिन्न अंग बनाने की अपील की। दत्तात्रेय ने कहा कि 14 नवम्बर को हम भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिवस को बाल दिवस के रूप में मनाते हैं। उन्होंने बच्चों को बाल दिवस की बधाई दी। उन्होंने इंडियन विज़न इंस्टीट्यूट और इस्सेलर विज़न फाउंडेशन के प्रयासों की भी सराहना की तथा कहा कि वह पुनीत कार्य से जुड़े हैं और कमजोर दृष्टि के बच्चों को बेहतर अवसर देकर उनके जीवन में सचमुच का उजाला लाने का प्रयास कर रहे हैं।
उन्होंने आशा व्यक्त की कि यह अभियान बच्चों के सामने आने वाली कठिनाइयों को दूर करने की दिशा में कारगर सिद्ध होगा। चश्में के साथ उनकी दृष्टि में सुधार होगा जिससे उन्हें स्कूल और उनकी अन्य दैनिक गतिविधियों में सहायता मिलेगी।

ग्रैंड फिनाले ऑफ जूनियर मास्टरशेफ में 150 छात्रों ने लिया हिस्सा, मुख्य सचिव ने किया प्रतिभागियों को सम्मानित

ग्रैंड फिनाले ऑफ जूनियर मास्टरशेफ में 150 छात्रों ने लिया हिस्सा, मुख्य सचिव ने किया प्रतिभागियों को सम्मानित

  • मुख्य सचिव ने की ग्रैंड फिनाले ऑफ जूनियर मास्टरशेफ की अध्यक्षता

अंबिका/शिमला: बच्चों को व्यंजन बनाने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए पर्यटन निगम द्वारा आयोजित प्रतियोगिता अत्यंत सराहनीय है। ऐसे आयोजन न केवल हिमाचली व्यंजनों को पहचान दिलवाने में मददगार सिद्ध होंगे बल्कि बच्चों को घर में व्यंजन बनाने के लिए भी उत्साहित करेंगे। यह बात आज मुख्य सचिव डॉ. श्रीकांत बाल्दी ने पर्यटन निगम तथा हिम आंचल शेफ ऐसोसिऐशन द्वारा बाल दिवस पर आयोजित ग्रैंड फिनाले आफ जूनियर मास्टरशेफ की अध्यक्षता के उपरांत पुरस्कार वितरण समारोह में अपने सम्बोधन में कही। इस प्रतियोगिता में हिमाचल के सरकारी व निजी स्कूलों (वरिष्ठ तथा कनिष्ठ वर्ग) के 150 छात्रों ने भाग लिया। मुख्य अतिथि ने प्रतिभागियों को पुरस्कार भी वितरित किए।

मुख्य सचिव डॉ. श्रीकांत बाल्दी ने कहा कि हमारे देश व प्रदेश में अनेक किस्म के व्यंजन हैं। भारत के हर क्षेत्र के व्यंजन स्वास्थ्यवर्धक तथा यहां की भौगोलिक परिस्थितियों के अनुरूप हैं। उन्होंने इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले छात्रों व उनके अभिभावकों के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रत्येक माता-पिता को अपने बच्चों को भोजन बनाने के लिए प्रेरित करना चाहिए क्योंकि यह न केवल उन्हें अच्छा स्वास्थ्य देगा बल्कि उनके आने वाले जीवन के लिए लाभदायक सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजनों से बच्चे भोजन बनाने में स्वावलम्बी होंगे तथा इस व्यवसाय में रूचि रखने वालो को भी सहायता मिलेगी। उन्होंने पर्यटन विभाग द्वारा पहली बार हिमाचल में ऐसा आयोजन करने के लिए उनकी सराहना की।

इस अवसर पर देश के प्रतिष्ठित होटलों के अधिकारी, हिमाचल के विभिन्न स्कूलों के छात्र व अभिभावक भी उपस्थित थे। इस अवसर पर प्रबंधन निदेशक पर्यटन निगम कुमुद सिंह ने बताया कि यह प्रतियोगिता हिमाचल के चार क्षेत्रों बिलासपुर, मनाली, धर्मशाला और शिमला में आयोजित की गई, जिसमें प्रतिभावान छात्रों को होटल होली-डे होम शिमला में आयोजित प्रतियोगिता के फिनाले के लिए आमंत्रित किया गया।

मण्डी संसदीय क्षेत्र के 5 मण्डलों में से 3 मण्डल अध्यक्षों की नियुक्ति : रामस्वरूप

मण्डी संसदीय क्षेत्र के 5 मण्डलों में से 3 मण्डल अध्यक्षों की नियुक्ति : रामस्वरूप

मण्डी : भारतीय जनता पार्टी प्रदेश उपाध्यक्ष, मण्डी संसदीय क्षेत्र के सांसद व संगठनात्मक प्रदेश चुनाव अधिकारी रामस्वरूप शर्मा ने जारी एक प्रैस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि प्रदेश नेतृत्व से व्यापक चर्चा के उपरांत मण्डी संसदीय क्षेत्र के 5 मण्डलों में से 3 मण्डल अध्यक्षों की नियुक्ति कर दी गई है, जिनमें मनीष कपूर को मण्डी मण्डल, कुंदन ठाकुर को करसोग मण्डल तथा सोहन सिंह ठाकुर को नाचन मण्डल का अध्यक्ष बनाया गया है।

रामस्वरूप शर्मा ने बताया कि रामपुर मण्डल के संगठनात्मक चुनाव का जिम्मा मण्डल चुनाव अधिकारी बिहारी लाल शर्मा को सौंपा गया है जिन्हें सारी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद मण्डल अध्यक्ष की नियुक्ति करने के लिए कहा गया है।

ऊना में नशा विरोधी विशेष अभियान शुक्रवार सेः डीसी संदीप कुमार

ऊना में नशा विरोधी विशेष अभियान शुक्रवार सेः डीसी संदीप कुमार

  • नशे के विरुद्ध जिला की सभी ग्राम सभाएं पास करेंगी प्रस्ताव

ऊना: मादक पदार्थों के सेवन व मद्यता की प्रवृति की रोकथाम के लिए विशेष अभियान शुक्रवार से शुरू होने जा रहा है। यह जानकारी उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने आज यहां दी। उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय कार्यक्रम आईटीआई ऊना में आयोजित किया जाएगा। सुबह 6 बजे प्रभात फेरी निकली जाएगी जो उपायुक्त कार्यालय से शुरू होकर बाजार से होते हुए गुरुद्वारे तक जाएगी और फिर अरविंद मार्किट से वापस रोटरी चौक तक पहुंचेगी। प्रभात फेरी एमसी पार्क में संपन्न होगी।

डीसी ने बताया कि इसके बाद सुबह 10 बजे से आईटीआई ऊना में कार्यक्रम होगा। जिसमें युवाओं को नशे के प्रति जागरूक किया जाएगा और शपथ भी दिलाई जाएगी। इस कार्यक्रम में पुलिस विभाग, स्वास्थ्य तथा आयुर्वेद विभाग, शिक्षा तथा डाईट के मास्टर ट्रेनर शामिल होंगे। कार्यक्रम के दौरान विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा और युवाओं को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी। नशे पर जागरूकता के लिए सूचना एवं जन संपर्क विभाग के कलाकार नुक्कड़ नाटक तथा गीत संगीत का कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे।

संदीप कुमार ने कहा कि इसी तरह के कार्यक्रम उप मंडल स्तर पर भी आयोजित किए जाएंगे ताकि समाज के प्रत्येक वर्ग तक नशे के विरुद्ध संदेश पहुंचाया जा सके।

उपायुक्त ने कहा कि जिला की सभी पंचायतों में ग्राम सभाएं नशे के विरुद्ध प्रस्ताव भी पारित करेंगी। उन्होंने कहा कि ग्राम सभाओं में नशीली दवाओं के खतरे से लड़ने के लिए प्रस्ताव पारित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मादक पदार्थों के सेवन व मद्यता की प्रवृति की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे विशेष अभियान में विभिन्न विभागों, स्वयं सहायता समूहों, गैर सरकारी संगठनों के साथ-साथ पंचायतों का भी योगदान रहेगा।