ब्लॉग

धर्मशाला : गणतंत्र दिवस समारोह में सम्मानित अधिकारी एवं कर्मचारी : डीसी संदीप कुमार

धर्मशाला : गणतंत्र दिवस समारोह में सम्मानित अधिकारी एवं कर्मचारी : डीसी संदीप कुमार

धर्मशाला :  अपने-अपने कार्यालयों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को उनकी सराहनीय सेवाओं के लिए 26 जनवरी को धर्मशाला के पुलिस मैदान में होने वाले जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में सम्मानित किया जाएगा। यह जानकारी उपायुक्त कांगड़ा संदीप कुमार ने मंगलवार को धर्मशाला में गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों का जायजा लेने के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।

बैठक में उपायुक्त ने गणतंत्र दिवस समारोह के बेहतर आयोजन के लिए संबंधित विभागों को सभी तैयारियां समय रहते पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने संबंधित विभागों को समारोह के दृष्टिगत शहर की साफ सफाई सुनिश्चित बनाने और शहर में स्थित विभिन्न स्मारकों की स्वच्छता हेतु भी विशेष प्रबन्ध करने के अलावा गणतंत्र दिवस पर इन स्मारकों में स्थापित प्रतिताओं पर माल्यर्पण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस पर स्वतंत्रता सेनानियों एवं उनके परिजनों के साथ ही शहीदों के परिजनों को आमंत्रित किया जायेगा।

उपायुक्त ने कहा कि 26 जनवरी को प्रातः 10ः30 बजे शहीद स्मारक में माल्यार्पण के उपरांत प्रातः 11 बजे समारोह के मुख्यातिथि पुलिस मैदान धर्मशाला में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। इस दौरान पुलिस, होमगार्ड, एनएसएस, एनसीसी कैडेट्स की प्लाटूनों द्वारा शानदार मार्च पास्ट निकाला जाएगा। मुख्यातिथि के जनता के नाम संदेश के उपरांत विभिन्न सांस्कृतिक दलों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। इस मौके सेना के जवानों की टुकड़ी मार्शल आर्ट कार्यक्रम ‘गतका’ प्रस्तुत करेगी।

धर्मशाला : तहसील चौक देहरा से शहीद भुवनेश्वर डोगरा स्टेडियम तक नहीं चलेंगे बड़े वाहन

धर्मशाला : तहसील चौक देहरा से शहीद भुवनेश्वर डोगरा स्टेडियम तक नहीं चलेंगे बड़े वाहन

धर्मशाला: देहरा में यातायात की सुचारू व्यवस्था बनाए रखने एवं लोगों की सुविधा व सुरक्षा के दृष्टिगत उपायुक्त कांगड़ा संदीप कुमार ने तहसील चौक देहरा से शहीद भुवनेश्वर डोगरा स्टेडियम तक सड़क मार्ग को बड़े वाहनों के लिए प्रातः 9 बजे से सायं 6 बजे तक प्रतिबंधित किया है।

उपायुक्त ने मोटर वाहन अधिनियम, 1988 में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए इस संदर्भ में अधिसूचना जारी की है।

उपायुक्त ने कहा कि तहसील चौक देहरा से शहीद भुवनेश्वर डोगरा स्टेडियम तक वाहनों के बढ़ते दबाव के चलते ट्रैफिक जाम की नियमित समस्या और स्थानीय लोगों की समस्याओं के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि यह प्रतिबंध एम्बुलेंस सेवा पर लागू नहीं होगा

सोलन: 19 व 20 जनवरी को भूमती में स्वास्थ्य मेला

सोलन: 19 व 20 जनवरी को भूमती में स्वास्थ्य मेला

सोलन: सोलन जिला के अर्की उपमण्डल के भूमति में 19 तथा 20 जनवरी को स्वास्थ्य मेला आयोजित किया जाएगा। यह जानकारी गत सांय यहां उपायुक्त सोलन विनोद कुमार ने दी। मेले का शुभारंभ शिमला लोकसभा क्षेत्र के सांसद प्रो. वीरेंद्र कश्यप करेंगे।स्वास्थ्य मेला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भूमती में आयोजित किया जाएगा।

विनोद कुमार ने कहा कि स्वास्थ्य मेले का मुख्य उद्देश्य लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक बनाना, विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं के लाभार्थियों को प्रोत्साहित करना विभिन्न बीमारियों का शीघ्र परीक्षण एवं निदान करना तथा दवाओं एवं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की योजनाओं के विषय में लोगों को जागरूक करना है।

उपायुक्त ने कहा कि स्वास्थ्य मेले में इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान महाविद्यालय एवं चिकित्सालय शिमला, क्षेत्रीय अस्पताल सोलन तथा जिला आयुर्वेदिक अस्पताल सोलन के विशेषज्ञ चिकित्सक लोगों को अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मेले में आईजीएमसी शिमला के प्रख्यात हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. राजीव भारद्वाज विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे। वे रोगियों का परीक्षण करने के साथ-साथ इको-कार्डियोग्राफी भी करेंगे।

मेले में विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं का प्रसव पूर्व टीकाकरण, रक्ताल्पता, ब्लड प्रेशर, हीमोग्लोबिन आदि की जांच की जाएगी। मेले में गर्भवती महिलाओं को चिह्नित कर उन्हें विशेष उपचार के साथ-साथ संस्थागत प्रसव के लिए भी प्रेरित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मेले में हृदय रोग, शल्य चिकित्सा, नेत्र जांच, स्त्री रोग सहित परिवार नियोजन, लघु शल्य क्रिया, टीकाकरण परामर्श इत्यादि सेवाएं प्रदान की जाएंगी।

मण्डी: पड्डल ग्राउंड में 21 से 24 जुलाई तक भर्ती रैली

21 से 24 जुलाई तक मंडी में भर्ती रैली का आयोजन

मण्डी : भर्ती निदेशक, सेना भर्ती कार्यालय, मंडी ने सूचित किया है कि जिला मंडी, कुल्लू तथा लाहौल-स्पिति के युवाओं के लिए 21 जुलाई से 24 जुलाई, 2019 तक पड्डल ग्राउंड मंडी में भर्ती रैली का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यह भर्ती सैनिक सामान्य ड्यूटी और सैनिक लिपिक/स्टोर कीपर तकनीकी पद के लिए होगी। उन्होंने बताया कि लिखित परीक्षा का आयोजन 20 अक्तूबर, 2019 को किया जायेगा।

HAS के लिए करें आवेदन, 14 पदों पर होगी भर्ती

HAS के लिए करें आवेदन, 14 पदों पर होगी भर्ती

शिमला: हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग ने एचएएस 2018 के विभिन्न 14 पदों के लिए आवेदन मांगे हैं। चार पद एचएएस, एक पद तहसीलदार, खंड विकास अधिकारी के 8 पद और असिस्टेंट रजिस्ट्रार का एक पद भरा जाएगा। इन पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तारीख 6 फरवरी है।

आयु सीमा 21 से 35 वर्ष रखी गई है। आरक्षित वर्ग को नियमानुसार आयु सीमा में छूट प्रदान की जाएगी। सामान्य वर्ग के आवेदकों को 400 रुपये जबकि आरक्षित वर्ग को 100 रुपये शुल्क देना होगा। शैक्षणिक योग्यता के तौर पर आवेदक के पास ग्रेजुएशन की डिग्री होना अनिवार्य है।

वीरवार और शुक्रवार को प्रदेश में मौसम साफ, 19 जनवरी से पश्चिमी विक्षोभ होगा सक्रिय

वीरवार व शुक्रवार को प्रदेश में मौसम साफ, 19 जनवरी से पश्चिमी विक्षोभ होगा सक्रिय

शिमला : वीरवार और शुक्रवार को पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहेगा। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान लगाया है। साथ ही 19 जनवरी की रात से प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने की आशंका भी जताई है। 20 से 23 जनवरी तक पूरे प्रदेश में बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह ने बताया है कि 20 से 23 जनवरी तक कई क्षेत्रों में भारी बारिश-बर्फबारी होने के आसार हैं।

17, 18 व 19 जनवरी को राजकीय महाविद्यालय संजौली में साक्षात्कार

17, 18 व 19 जनवरी को राजकीय महाविद्यालय संजौली में साक्षात्कार

शिमला : जिला युवा समन्वयक, नेहरू युवा केंद्र शिमला प्रभात कुमार ने आज यहां बताया कि युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आयोजित जिला स्तरीय युवा संसद प्रतियोगिता हेतु इच्छुक प्रतिभागियों का 17, 18 तथा 19 जनवरी को प्रातः 10 बजे राजकीय महाविद्यालय संजौली शिमला में साक्षात्कार होगा।

उन्होंने बताया कि पंजीकृत इच्छुक प्रतिभागियों के लिए चार विषय सम्भाषण के लिए दिए गए हैं। प्रथम विषय ‘सामाजिक एवं आर्थिक सशक्तीकरण के द्वारा हाशिए के लोगों को समाज की मुख्य धारा में लाना, दूसरा विषय बेटी बचाओ, सुकन्या समृद्धि एवं मुद्रा योजना द्वारा महिला सशक्तीकरण प्रक्रिया में तीव्रता लाना है। तीसरा विषय ‘नागरिकों के लिए ईज ऑफ लिविंग’ तथा चौथा विषय ‘शून्य सहनशक्ति नीति द्वारा भ्रष्टाचार पर रोक’ है।

एन.एस.एस.अधिकारी विक्रम भारद्वाज ने बताया कि इच्छुक प्रतिभागी को किसी एक विषय पर राजकीय महाविद्यालय संजौली में निर्णायक मंडल के समक्ष 2 से 3 मिनट का सम्भाषण देना होगा। इस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी के लिए मोबाईल नम्बर 70182-33727 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

शिमला में राज्यपाल करेंगे राज्य स्तरीय गणतन्त्र दिवस समारोह की अध्यक्षता

शिमला में राज्यपाल करेंगे राज्य स्तरीय गणतन्त्र दिवस समारोह की अध्यक्षता

शिमला : राज्यपाल आचार्य देवव्रत शिमला के रिज मैदान पर 26 जनवरी को राज्य स्तरीय गणतन्त्र दिवस समारोह की अध्यक्षता करेंगे। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर व शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज भी समारोह में सम्मिलित होंगे। गणतन्त्र दिवस के उपलक्ष्य पर जिला स्तर पर भी समारोह आयोजित किए जाएंगे।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिन्दल जिला स्तरीय समारोह की अध्यक्षता मण्डी में, सिंचाई एंव जन स्वास्थ्य मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ऊना में, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री किशन कपूर कुल्लू में, बहुद्देशीय परियोजना एवं ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा किन्नौर में, शहरी विकास मंत्री सरवीन चौधरी चम्बा में, कृषि मंत्री डॉ. रामलाल मारकण्डा सोलन में, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन परमार बिलासपुर में, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेन्द्र कंवर हमीरपुर में, वन मंत्री गोविन्द ठाकुर कांगड़ा जिले के धर्मशाला में तथा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल सिरमौर जिला के नाहन में, विधानसभा के उपाध्यक्ष चम्बा में शहरी विकास मंत्री के साथ समारोह में शामिल होंगे। उपायुक्त लाहौल-स्पिति केलंग में जिला स्तरीय कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे।

नौणी विश्वविद्यालय की वैज्ञानिक ने जीता “बेस्ट ओरल पोस्टर अवार्ड”

नौणी विश्वविद्यालय की वैज्ञानिक ने जीता “बेस्ट ओरल पोस्टर अवार्ड”

सोलन : डॉ. वाईएस परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी के फ्लोरीकल्चर और लैंडस्केप आर्किटेक्चर विभाग में सहायक प्रोफेसर डॉ. पूजा शर्मा ने हाल ही में उदयपुर में आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन में सर्वश्रेष्ठ मौखिक प्रस्तुति पुरस्कार अपने नाम किया। ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए सजावटी बागवानी विषय पर आधारित इस राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन महाराणा प्रताप यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी,उदयपुर और इंडियन सोसाइटी ऑफ ओर्नामेंटल हॉर्टिकल्चर ने संयुक्त रूप से किया।

इस सम्मेलन में डॉ. पूजा को औषधीय रूप से महत्वपूर्ण घिंगारू के सामूहिक गुणन और एक व्यावसायिक लैंडस्केप प्लांट के रूप में इसके शोषण पर अपनी प्रस्तुति के लिए सर्वश्रेष्ठ मौखिक प्रस्तुति पुरस्कार से नवाजा गया। इस क्षोद पत्र को डॉ. पूजा, डॉ. भारती कश्यप, डॉ. एसआर धीमान, डॉ. वाईसी गुप्ता और संगीता कुमारी ने लिखा है।

सम्मेलन के दौरान डॉ. पूजा, डॉ. एसआर धीमान, डॉ. वाईसी गुप्ता, प्रियंका शर्मा और रिशु डोड द्वारा लिखे रिसर्च पेपर ‘इन-विट्रो म्यूटेशन ब्रीडिंग तकनीकों और उनके रखरखाव के माध्यम से नए रंग के कार्नेशन फूल’ को भी डॉ. पूजा ने प्रस्तुत किया। इस प्रस्तुति को भी सर्वश्रेष्ठ मौखिक पुरस्कार की श्रेणी में तीसरा पुरस्कार मिला। विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा ‘कार्नेशन जीनोटाइप्स के मूल्यांकन और परिवर्तनशीलता अध्ययन’ पर लिखे गए एक अन्य शोध पत्र को भी सम्मेलन के दौरान सर्वश्रेष्ठ शोध पुरस्कार दिया गया। राष्ट्रीय सम्मेलन में शानदार प्रदर्शन के लिए विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एचसी शर्मा, औद्यानिकी महाविद्यालय के डीन डॉ. राकेश गुप्ता और अन्य संकाय ने सभी वैज्ञानिकों को बधाई दी।

राज्य के विकास कार्यों पर इस वर्ष खर्च होंगे 7100 करोड़ रुपये

राज्य के विकास कार्यों पर इस वर्ष खर्च होंगे 7100 करोड़ रुपये

  • राज्य योजना बोर्ड ने 7100 करोड़ रुपये की वार्षिक योजना को दी स्वीकृति
  • 1788.49 करोड़ रुपये अनुसूचित जाति उप-योजना, 133.65 करोड़ रुपये ग्रामीण विकास के लिए किए जाएंगे व्यय
  • सामाजिक सेवा क्षेत्र के लिए 3048.15 करोड़ रुपये का प्रावधान

शिमला : राज्य योजना बोर्ड की बैठक में आज यहां मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में वर्ष 2019-20 के लिए 7100 करोड़ रुपये की वार्षिक योजना को स्वीकृति प्रदान की गई, जो गत वर्ष की वार्षिक योजना पिछले वर्ष की वार्षिक योजना 6300 करोड़ रुपये से 800 करोड़ रुपये अधिक है। इस प्रकार वार्षिक योजना में 12.70 प्रतिशत की बढ़ौतरी हुई है। सामाजिक सेवा क्षेत्र, परिवहन और संचार, कृषि और सम्बन्धित गतिविधियों, ऊर्जा, सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण आदि को इस वार्षिक योजना में अतिरिक्त प्राथमिकता प्रदान की गई है। सामाजिक सेवा क्षेत्र के लिए 3048.15 करोड़ रुपये का प्रावधान प्रस्तावित है, जो कुल व्यय का 42.93 प्रतिशत है। शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए आवंटित धन से मानव विकास के सूचकों तथा राज्य की विकास प्रक्रिया को अधिक समान्वेशी बनाने में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि परिवहन एवं संचार क्षेत्रों को द्वितीय प्राथमिकता में रखा गया है, जिसके लिए 1241.98 करोड़ रुपये प्रस्तावित है, जो कुल व्यय का 14.49 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि गांवों को यातायात योग्य सड़कों के निर्माण तथा पहले से मौजूद अधोसंरचना के रख-रखाव के लिए ऐसा किया गया है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि तीसरी प्राथमिकता कृषि और इससे सम्बन्धित गतिविधियों को दी गई है, जिसके लिए 877.25 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इसका मुख्य उद्देश्य यह है कि प्रदेश की कुल कार्य करने वाली जनसंख्या का लगभग 62 प्रतिशत को सीधे तौर पर कृषि क्षेत्र से रोज़गार प्राप्त है। ऊर्जा क्षेत्र के लिए 711.06 करोड़ रुपये, सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण के लिए 457.48 करोड़ रुपये और सामान्य आर्थिक सेवाओं के लिए 335.15 करोड़ रुपये जबकि सामान्य सेवा क्षेत्र के लिए 133.89 करोड़ रुपये प्रस्तावित है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास के लिए 133.65 करोड़ रुपये, उद्योग और खनिज के लिए 95.59 करोड़ रुपये, विज्ञान प्रौद्योगिकी और पर्यावरण के लिए 38.02 करोड़ रुपये और विशेष क्षेत्र कार्यक्रम के तहत 27.78 करोड़ रुपये प्रस्तावित है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 7100 करोड़ रुपये की वार्षिक योजना में से 1788.49 करोड़ रुपये अनुसूचित जाति उप-योजना के तहत व्यय किए जाएंगे, जिसमें अधिकतर अनुसूचित जाति की जनसंख्या के कल्याण के लिए कार्य किए जाएंगे। इसी प्रकार 639 करोड़ रुपये की 9 प्रतिशत राशि जनजातिय क्षेत्र उप-योजना के लिए रखी गई है, जिसका उद्देश्य राज्य के जनजातीय क्षेत्रों का विकास करना है। उन्होंने कहा कि 80 करोड़ रुपये की राशि पिछड़ा क्षेत्र उप-योजना के तहत पिछड़े क्षेत्रों के विकास के लिए रखी गई है। जय राम ठाकुर ने कहा कि 1217.82 करोड़ रुपये के बाह्य सहायता प्राप्त योजनाएं कृषि, बागवानी, वन, छोटी सिंचाई योजनाएं, ऊर्जा, सड़कें, पर्यटन, तकनीकी शिक्षा, ग्रामीण जलापूर्ति योजनाएं और शहर विकास के क्षेत्रों में विश्व बैंक, एशियाई विकास बैंक, केएफडब्ल्यू और जापान अन्तरराष्ट्रीय सहयोग एजेंसी (जिका) द्वारा प्रस्तावित है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने एक वर्ष की छोटी सी अवधि में शिक्षा, स्वास्थ्य, बागवानी और सामाजिक कल्याण के क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति की है। उन्होंने कहा कि वर्तमान मूल्य दरों के आधार पर प्रति व्यक्ति आय में 8.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई है, जो वर्ष 2016-17 में 1,46,294 रुपये से बढ़कर वर्ष 2017-18 में 1,58,462 रुपये हो गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण अधोसंरचना विकास निधि के लिए नाबार्ड के तहत 735 करोड़ रुपये का प्रस्तावित है। उन्होंने कहा कि इसके अन्तर्गत 427 करोड़ रुपये सड़कों एवं पुलों के लिए, 143 करोड़ रुपये ग्रामीण जलापूर्ति योजनाओं, 125 करोड़ रुपये छोटी सिंचाई योजना, 40 करोड़ रुपये मृदा संरक्षण और बाढ़ नियंत्रण आदि कार्यों के लिए प्रस्तावित है।

राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश धवाला ने मुख्यमंत्री, मंत्रियों और राज्य योजना बोर्ड के अन्य सदस्यों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि योजना बोर्ड की यह बैठक वर्ष 2019-20 के लिए वांच्छित विकासात्मक लक्ष्यों को हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण है। सिंचाई एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त अनिल कुमार खाची ने कहा कि वर्ष 2018-19 में सरकार द्वारा की गई विभिन्न पहलों का राज्य में प्रभावी कार्यान्यवन सुनिश्चित बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विभाग का वांच्छित लक्ष्यों का अक्षरशः हासिल करने के लिए प्रयासरत है।