कांग्रेस नेता पहले जानकारी जुटा लें कि इन्वेस्टर्स मीट के आयोजन से होगा हिमाचलवासियों को कितना फायदा, तब करें सरकार के प्रति टिप्पणी : सत्ती

प्रदेश सरकार का प्रदेश के विकास के प्रति ध्यान नहीं : सत्ती

शिमला: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार में इस कदर मस्त है कि उसे प्रदेश के विकास के प्रति ध्यान ही नहीं है। केन्द्र सरकार बार-बार आग्रह करके हिमाचल के विकास के लिए योजनाएं और डीपीआर मांग रही है परन्तु प्रदेश सरकार जानबूझ कर केन्द्र को डीपीआर नहीं भेज रही है। प्रदेश की जनता के साथ किए जा रहे इस अन्याय का भाजपा कड़ा विरोध करती है और नववर्ष से भाजपा विधायक व नेता अपने स्तर पर अपने विकास की योजनाओं की डीपीआर को केन्द्र को भेंजेंगे ताकि कांग्रेस सरकार की लापरवाही का खामियाजा प्रदेश की जनता को न उठाना पड़े। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मात्र डेढ़ वर्षों के शासनकाल में केन्द्र की भाजपा सरकार ने हिमाचल को जो सौगातें दी है वह प्रदेश कांग्रेस सरकार के तीन वर्षों के शासनकाल से कहीं अधिक है। उन्होंने कांग्रेस नेताओं को चुनौती देते हुए कहा कि वह प्रदेश के विकास के लिए ढेड वर्षों केन्द्र की भाजपा सरकार के कार्य और तीन वर्षों के प्रदेश कांग्रेस सरकार के कार्यों की तुलना के लिए सार्वजनिक मंचों पर बहस करें।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि डेढ वर्षों में 14वें वित आयोग के माध्यम से 40625 करोड़ रू. की आर्थिक सहायता के अतिरिक्त अन्य केन्द्रीय योजनाओं में 85 हजार करोड़ रू. से अधिक धन हिमाचल को अगले पांच वर्षों मिलेगा। एम्स सहित तीन मैडिकल कॉलेजों के लिए धन का प्रावधान, नैशनल हाईवे के लिए अरबों रू. का बजट, रेल विस्तार के लिए 353 करोड़ रू. का बजट, विदेशी सीमा क्षेत्रों में बेहतर संचार व सकड़ सुविधा के लिए करोड़ों रू. व पंचायती राज के लिए 18 सौ करोड़ रू. से अधिक का प्रावधान इस बात के द्योतक है कि हिमाचल का विकास केवल भाजपा ही कर सकती है, परन्तु यह निन्दनीय है कि स्वास्थ्य, सड़क व पीने व सिंचाई की विभिन्न योजनाओं के लिए जो डीपीआर बार-बार केन्द्र सरकार मांग रही है वह हिमाचल प्रदेश कांग्रेस सरकार नहीं भेज पा रही है। केन्द्रीय मंत्री जगत प्रकाश नडडा व विभिन्न केन्द्रीय मंत्रियों ने भी बार-बार प्रदेश सरकार से आग्रह किया है परन्तु कांग्रेस सरकार के निक्कमेपन के कारण हिमाचल की जनता का विकास अवरूद्ध हो रहा है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस सरकार तीन वर्ष पूरे होने के बाद भी खाली हाथ है और यह विडम्बना ही कही जाएगी कि जो डेढ वर्ष में केन्द्र ने हिमाचल को योजनाएं दी है उस को अपना बताकर कांग्रेसी नेता फूले नहीं समा रहे है।

पूर्व मंत्रियों ठाकुर गुलाब सिंह, रविन्द्र सिंह रवि, डा. राजीव बिन्दल, किशन कपूर व नरेन्द्र बरागटा ने वर्तमान मंत्रिमण्डल के सदस्यों द्वारा 13वें वित आयोग में कम धन के लिए पूर्व भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराए जाने पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि तेहरवें वित आयोग द्वारा हिमाचल को कम धन के लिए पूर्व कांग्रेस सरकार द्वारा भाजपा शासित राज्यों के साथ भेदभाव की नीति व केन्द्र में उस समय प्रदेश से दो केन्द्रीय मंत्रियों की बदनीयती जिम्मेवार है। वर्ष 2010 में कांग्रेसनीत यूपीए सरकार ने 13वें वित आयोग के माध्यम से कांग्रेस शासित प्रदेश को जहां 150 प्रतिशत से अधिक धन दिया वहीं हिमाचल सहित सभी भाजपा राज्यों को इसके मुकाबले मात्र 50 प्रतिशत वृद्धि ही दी थी। जबकि वर्तमान मोदी सरकार ने सारे भेदभाव खत्म करके हिमाचल को 232 प्रतिशत की वृद्धि दी, जो कि देशभर में सर्वाधिक वृद्धि थी। भाजपा नेताओं ने कहा कि ‘‘कांग्रेस नेता अगर गड़े मुद्दे उखाड़ेंगे तो उन्हें अपने ही दिए घाव नज़र आएंगे’’

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *