मुख्यमंत्री ने 3.72 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय डिग्री कालेज रिकांगपिओ के भवन की रखी आधारशिला

मुख्यमंत्री ने 3.72 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय डिग्री कालेज रिकांगपिओ के भवन की रखी आधारशिला

पुलिस लाईन में 1.09 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पुलिस बैरेकों का किया उद्घाटन

राज्य ने शिक्षा क्षेत्र में अभूतपूर्व उपलब्धियां हासिल की हैं और प्रति व्यक्ति आय में भी वृद्धि हुई है: मुख्यमंत्री

राज्य ने शिक्षा क्षेत्र में अभूतपूर्व उपलब्धियां हासिल की हैं और प्रति व्यक्ति आय में भी वृद्धि हुई है : मुख्यमंत्री

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के युवाओं को गुणात्मक शिक्षा उपलब्ध करवाने के लिए कृतसंकल्प है तथा इस उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए ग्रामीण एवं प्रदेश के दूरदराज क्षेत्रों में शिक्षा संस्थानों को आरम्भ करने पर विशेष बल दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री आज किन्नौर जिले के रिकांगपिओं में राज्य स्तरीय किन्नौर महोत्सव के समापन समारोह के अवसर पर बोल रहे थे।

मुख्यमंत्री ने 3.72 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय डिग्री कालेज रिकांगपिओ के भवन की आधारशिला रखी। उन्होंने रिकांगपिओ पुलिस लाईन में 1.09 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पुलिस बैरेकों का उद्घाटन भी किया, जिसमें 28 व्यक्तियों के रहने की क्षमता है।

वीरभद्र सिंह ने छितकुल एवं निगुलसेरी में आयुर्वेदिक औषधालय के स्थान पर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा यंगपा-दो में स्वास्थ्य उप-केन्द्र आरम्भ करने की घोषणाएं की। उन्होंने क्षेत्रीय अस्पताल, रिकांगपिओ में बिस्तरों की क्षमता को 100 से बढ़ाकर 200 करने, राजकीय उच्च पाठशाला, बरूआ को स्तरोन्नत कर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला करने तथा कल्पा में कृषि विभाग के नाम से खाली पड़ी भूमि को बागवानी विश्वविद्यालय, नौणी को स्थानान्तरित करने की भी घोषणाएं की। इस भूमि पर प्रदर्शनी उद्यान स्थापित किया जाएगा, जहां बागवानों को आधुनिक तकनीक के बारे में प्रशिक्षण उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे किसानों व बागवानों को नई बागवानी तकनीकों को अपनाने, फलों की नई प्रजातियों के उत्पादन में सहायता मिलेगी और उनकी आर्थिकी में भी वृद्धि होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस मैदान को स्टेडियम में परिवर्तित किया जाएगा, जिसके लिए मैदान के चारों पुराने ढांचों को गिराया जाएगा। उन्होंने पुलिस मैदान के रख-रखाव एवं सुधार के लिए एक करोड़ रुपये देने की घोषणा भी की। वीरभद्र सिंह ने कहा कि हिन्दुस्तान-तिब्बत मार्ग का कार्य प्रगति पर है तथा जिले में विभिन्न सम्पर्क मार्गों के सुधार एवं चौड़ा करने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिले में पर्यटन की अपार क्षमता मौजूद है तथा जैसे ही सड़कों में सुधार होता है, किन्नौर पर्यटकों के लिए सबसे पसंददीदा गणतव्य स्थल बनकर उभरेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य ने शिक्षा क्षेत्र में अभूतपूर्व उपलब्धियां हासिल की हैं और प्रति व्यक्ति आय में भी वृद्धि हुई है। हिमाचल प्रदेश देश के तेजी से विकसित हो रहे पहाड़ी राज्यों में एक है, जिसका श्रेय प्रदेश में अधिकांश समय तक रही कांग्रेस सरकारों को जाता है। उन्होंने कहा कि विकास के साथ-साथ हमें अपनी समृद्ध संस्कृति एवं रीति-रिवाजों तथा देव संस्कृति को भी सुरक्षित रखना है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार एकता एवं अखण्डता के साथ-साथ प्रदेश के हर क्षेत्र के समग्र एवं संतुलित विकास पर विश्वास रखती है।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि देश भर में दालों एवं सब्जियों के आसमान छूते दामों से आम आदमी का जीना दूभर हो गया है, जबकि केन्द्र सरकार ने बढ़ती कीमतों पर नियंत्रण के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठाए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के लोगों को सस्ती दरों पर दालें एवं खाद्य तेल उपलब्ध करवाने के लिए 250 से 300 करोड़ रुपये उपदान उपलब्ध करवा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह विपक्ष व इसके नेताओं के रहम-व-कर्म से प्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं बने हैं, बल्कि प्रदेशवासियों के प्रेम व सहयोग से वह छठी बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बने हैं। भाजपा प्रदेश के लोगों का विश्वास खो चुकी है तथा इसके नेता हमेशा घटिया राजनीति में शामिल रहते हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र में भाजपा नेतृत्व की एनडीए सरकार की नीतियों को सभी राज्यों में समान रूप से कार्यान्वित नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकारों को विशेष क्षेत्र एवं समुदाय के नाम पर पक्षपात नहीं करना चाहिए।

वीरभद्र सिंह ने किन्नौर जिला बॉक्सिंग एसोसिएशन द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय बॉक्सिंग प्रतिस्पर्धा के फाईनल में शिमला तथा किन्नौर के मध्य खेले गए मैच का आन्नद भी लिया। इस प्रतिस्पर्धा में शिमला, कुल्लू, मण्डी, सिरमौर तथा किन्नौर के 111 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया। उन्होंने लाईट फलाईवेट श्रेणी के विजेताओं को पुरस्कार भी वितरित किए।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर राज्य स्तरीय किन्नौर महोत्सव की स्मारिका का विमोचन भी किया। तथा विभिन्न प्रतिस्पर्धा के विजेताओं को पुरस्कृत किया। वीरभद्र सिंह ने रिकांगपिओ में जन समस्याएं भी सुनी। इससे पूर्व, वीरभद्र सिंह का रिकांगपिओ पहुंचने पर लोगों द्वारा पारम्परिक तौर पर भव्य स्वागत किया गया।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा के उपाध्यक्ष जगत सिंह नेगी ने मुख्यमंत्री के समक्ष क्षेत्र की विभिन्न मांगें रखी। उन्होंने मुख्यमंत्री का 5 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं के लोकार्पण के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों में शिक्षण संस्थान खोलने तथा जनजातीय क्षेत्रों में विकास को प्रमुखता देने के लिए भी मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

किन्नौर के उपायुक्त नरेश कुमार लट्ठ ने इस अवसर पर चार दिवसीय किन्नौर महोत्सव की विस्तृत जानकारी दी। इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *