देव संग्रहालय में प्राचीन धरोहरों की मिलेगी जानकारी: उपायुक्त

देव संग्रहालय में प्राचीन धरोहरों की मिलेगी जानकारी: उपायुक्त

शिमला: उपायुक्त कुल्लू राकेश कंवर ने बताया कि देव सदन कुल्लू में दशहरे के दौरान नव निर्मित ‘‘देव संग्रहालय’’ का लोकार्पण मुख्यमन्त्री हिमाचल प्रदेश द्वारा किया जायेगा। कुल्लू की संस्कृति को दर्शाने वाला यह संग्रहालय सभी पर्यटकों और स्थानीय लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र होगा। इस संग्रहालय में देव रथ, मोहरे, दुर्लभ कलाकृतियां, मूर्तियां, पाण्डुलिपियां तथा देव संस्कृति से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी उपलब्ध होगी।

उन्होंने बताया कि मुख्य कला दीर्घा में कुल्लू जिले के सभी देवी देवताओं के मन्दिरों के बारे में जानकारी जैसे देव-स्थान, कुल्लू से दूरी, वहां मनाए जाने वाले मेले और त्यौहार तथा देवतओं के इतिहास एवं चमत्कार से जुड़ी कथाएं एवं लोक आस्थाओं से जुड़ी जानकारी डिजीटल फारमेट में कम्प्यूटर के माध्यम से उपलब्ध होगी। इस संग्रहालय में देव संस्कृति से जुड़ी लघु फिल्में, तथा वृत चित्र दिखाए जाने की सुविधा भी होगी।

उपायुक्त ने बताया कि इस संग्रहालय में कुल्लू के जन-जीवन को दिखाने वाली झांकियां भी प्रदर्शित की जायेगी जिनमें कुल्लू के जन-जीवन की झलक दिखाई देगी। कुल्लू की ‘‘शांगरी रामायण’’ पर आधारित पहाड़ी शैली में बने चित्र, प्राचीन मन्दिरों के चित्र तथा लोगों के रोजमर्रा के काम में आने वाली प्राचीन वस्तुएं भी प्रदर्शित होंगी। इस संग्रहालय के बनने से कुल्लू वासियों की एक लम्बे समय से चली आ रही मांग पूरी होगी।

उन्होंने सभी लोगों का अभार प्रकट किया है जिन्होंने संग्रहालय के लिए सामग्री दान में दी है। साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की है कि इस संग्रहालय को निखारने और संवारने के लिए तथा प्राचीन धरोहरों को सुरक्षित रखने के लिए मुर्तियां, पुराने अभिलेख, पाण्डुलिपियां, पुराने छायाचित्र आदि उपलब्ध कराएं जिससे कि संग्रहालय को और भी अच्छा बनाया जा सके। इच्छुक व्यक्ति जो भी संगहालय के लिये पुरातत्व एवं संस्कृतिक महत्व की वस्तुएंें दान देना चाहते हैं वे सभी उपमण्डल दण्डाधिकारी, कुल्लू से सम्पर्क कर सकते हैं। दानी सज्जनों से प्राप्त सामग्री उनके नाम सहित प्रदर्शित की जायेगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *