1320 मेगावाट बक्सर ताप विद्युत संयंत्र की पहली इकाई के टरबाईन जनरेटर को परियोजना स्‍थल के लिए भेजने का महत्वपूर्ण माइलस्‍टोन प्राप्‍त

गुजरात में एलएंडटी हजीरा प्लांट से परियोजना स्थल पर भेजा गया प्रथम यूनिट का टरबाईन जनरेटर : सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा

टर्बाइन जनरेटर के मार्च 2022 के पहले सप्ताह तक परियोजना स्थल पर पहुंचने की संभावना

 शिमला:  एसजेवीएन लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली अधीनस्‍थ कंपनी एसजेवीएन थर्मल प्राइवेट लिमिटेड (एसटीपीएल) बिहार में (2X660) 1320 मेगावाट के बक्सर ताप विद्युत संयंत्र को कार्यान्वित कर रही है। एसजेवीएन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्द लाल शर्मा  ने वर्चुअली हजीरा, गुजरात से परियोजना स्थल तक टरबाइन जनरेटर को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर निदेशक (विद्युत) सुशील कुमार शर्मा,  एसजेवीएन हजीरा में एल एंड टी प्लांट में और संजीव सूद सीईओ, टीम एसटीपीएल के साथ वर्चुअली उपस्थित रहे।

नन्‍द लाल शर्मा ने बताया कि गुजरात में एलएंडटी हजीरा प्लांट से परियोजना स्थल पर प्रथम यूनिट का एक महत्वपूर्ण घटक – टरबाईन जनरेटर को भेजा गया है। 500 टन वजनी टरबाइन जनरेटर , समुद्र और गंगा के रास्ते परियोजना स्थल तक पहुंचाया जाएगा। टर्बाइन जनरेटर के मार्च 2022 के पहले सप्ताह तक परियोजना स्थल पर पहुंचने की संभावना है। इस जनरेटर का निर्धारित समयावधि पर प्रेषणबक्‍सर थर्मल परियोजना के पूरा होने की दिशा में एक महत्वपूर्ण माईलस्‍टोन है। परियोजना की पहली इकाई की कमीशनिंग जून, 2023 के लिए निर्धारित है।

इस अवसर पर संबोधित करते हुए एसजेवीएन के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक नन्‍द लाल शर्मा ने कहा कि एसजेवीएन के पास वर्तमान में अपने पोर्टफोलियो में 16000 मेगावाट से अधिक की विद्युत परियोजनाएं हैं और इस तरह की पहलों से कंपनी के लघु-मध्यम-दीर्घकालिक उद्देश्यों – 2023 तक 5000 मेगावाट, 2030 तक 12000 मेगावाट और 2040 तक 25000 मेगावाट विद्युत उत्‍पादन करने के अपने साझा विजन को प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

24  −    =  15