धर्मशाला विधानसभा शीत सत्र: दूसरे दिन गर्माया सदन, कांग्रेस विधायकों का सदन से वॉकआउट

हिमाचल: विधानसभा में पुलिस कर्मचारियों के मुद्दे पर गर्माया सदन, विपक्ष का वाकआउट

धर्मशाला: विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन इससे पहले कि प्रश्नकाल शुरू हो कांग्रेस नेता एवं नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने प्‍वाइंट आफ आर्डर के तहत पुलिस जवानों में असंतोष को लेकर चर्चा का विषय उठाया। इससे पहले कि विधानसभा अध्यक्ष द्वारा कोई निर्णय लिया जाता, सत्ता पक्ष और विपक्ष के सदस्य में गहमागहमी हो गई।

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री का कहना था कि पुलिस जवानों में असंतोष फैला हुआ है। यह बहुत संवेदनशील मामला है, इस पर चर्चा होनी चाहिए। इस पर विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने कहा कि मुझे आज प्रातः 9:58 पर नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, नंद लाल, मोहनलाल ब्राक्टा, जगत सिंह नेगी की ओर से नियम- 67  के तहत स्थगन प्रस्ताव प्राप्त हुआ है।

अध्यक्ष परमार का कहना है कि 13 दिसंबर को पुलिस बल से संबंधित संबंधित एक प्रश्न लगा हुआ है, जिस पर चर्चा हो सकती है। इसलिए इस समय इस मामले में चर्चा करने का कोई औचित्य नहीं है। जिसे देखते हुए प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा मैं इस प्रस्ताव को निरस्त करता हूं।

विधानसभा अध्यक्ष ने यह कहते हुए प्रस्ताव पर चर्चा की अनुमति न देते हुए इसे निरस्त कर दिया। इसके बाद विपक्षी सदस्य अपनी सीटों पर खड़े होकर नारेबाजी करने लगे और इस पर सत्तापक्ष के सदस्य भी नारेबाजी करने लगे। इससे सदन में माहौल गरमा गया और अध्यक्ष माहौल को शांत करने में लगे रहे। इस बीच, अध्यक्ष ने प्रश्नकाल शुरू कर दिया। इस पर विपक्षी सदस्य नारेबाजी करते हुए सदन के वैल में आ गए और वहां पर नारेबाजी करने लगे। विपक्षी सदस्यों ने कुछ देर वहां नारेबाजी की और फिर वे सदन से बाहर चले गए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

63  −  60  =