एसजेवीएन ने की एमएसएमई के लिए वेंडर डेवलपमेंट मीट आयोजित

वेंडर डेवलपमेंट मीट कार्यक्रमों का उद्देश्य सूक्ष्म, लघु एवं मध्‍यम उद्यमों (एमएसएमई) की क्षमता का निर्माण करना व सार्वजनिक प्रोक्‍यूरमेंट प्रक्रिया में उनकी सहभागिता को बढ़ाना : सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा 

सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा बोले: सतत विक्रेता विकास के माध्यम से इस महामारी के चुनौतीपूर्ण समय में एमएसएमई को मजबूत करना महत्वपूर्ण,यह न केवल भारत सरकार की पहल “मेक इन इंडिया”  को मजबूत करने में एक लंबा मार्ग प्रशस्‍त करेगा, अपितु राष्ट्र के विकास में भी देगा योगदान 

शिमला:  एसजेवीएन अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्‍द लाल शर्मा ने सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) के लिए एक वेंडर डेवलपमेंट मीट संबंधी बैठक का चंडीगढ़ में उद्घाटन किया। उद्घाटन समारोह निदेशक (कार्मिक)गीता कपूर,  . ए.के. सिंह, निदेशक (वित्त) तथा  सुशील कुमार शर्मा, निदेशक (विद्युत) की गरिमामयी उपस्थिति में आयोजित किया गया।  इस अवसर पर एसजेवीएन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहे।

 नन्‍द लाल शर्मा, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एसजेवीएन ने अपने उद्घाटन संबोधन में कहा कि वेंडर डेवलपमेंट मीट कार्यक्रमों का उद्देश्य सूक्ष्म, लघु एवं मध्‍यम उद्यमों (एमएसएमई) की क्षमता का निर्माण करना तथा सार्वजनिक प्रोक्‍यूरमेंट प्रक्रिया में उनकी सहभागिता को बढ़ाना है। एसजेवीएन अपनी विकास यात्रा में एमएसएमई के योगदान को सुदृढ़ करने के लिए इस तरह के कार्यक्रम आयोजित करता रहा है।

वेंडर डेवलपमेंट मीट कार्यक्रमों का उद्देश्य सूक्ष्म, लघु एवं मध्‍यम उद्यमों (एमएसएमई) की क्षमता का निर्माण करना व सार्वजनिक प्रोक्‍यूरमेंट प्रक्रिया में उनकी सहभागिता को बढ़ाना : सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा

शर्मा ने बताया कि इस प्रकार के कार्यक्रम उद्यमियों को विकसित करने तथा विक्रेताओं का एक ऐसा समूह तैयार करने के प्रति एसजेवीएन की प्रतिबद्धता पर बल देते हैं, जो समग्र रूप से समाज के लिए आर्थिक उपयोगिता निष्‍पादित कर सकते हैं।  सतत विक्रेता विकास के माध्यम से इस महामारी के चुनौतीपूर्ण समय में एमएसएमई को मजबूत करना महत्वपूर्ण है।  यह न केवल भारत सरकार की पहल “मेक इन इंडिया”  को मजबूत करने में एक लंबा मार्ग प्रशस्‍त करेगा, अपितु राष्ट्र के विकास में भी योगदान देगा। उन्होंने आगे कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य एमएसएमई हेतु सार्वजनिक क्रय नीति के अंतर्गत एसजेवीएन के लिए संभावित विक्रेताओं के रूप में विकसित होने के अवसर सृजित करना है।

एसजेवीएन में एमएसएमई के मध्‍य अधिकाधिक जागरूकता उत्‍पन्‍न करने के लिए एसजेवीएन तथा ई- प्रोक्‍यूरमेंट प्रक्रिया पर एक विस्तृत प्रेजेन्‍टेशन प्रस्‍तुत किया गया। अन्य प्रेजेन्‍टेशनों में ऑनलाइन पोर्टल पर बोलीदाताओं की पंजीकरण प्रक्रिया के संबंध में विस्‍तृत जानकारी दी गई। अंत में एक इंटरैक्टिव सत्र आयोजित किया गया जहां वेंडर क्‍वारिज पर चर्चा की गई।

बैठक के दौरान एसजेवीएन ने एनएसआईसी, जेम(GeM), उद्यम तथा ई- प्रोक्‍यूरमेंट प्लेटफॉर्म पर ऑन-बोर्डिंग ऑफ द वेंडर सुविधा भी प्रदान की। कार्यक्रम के दौरान एमएसएमई विकास संस्थान, सरकारी ई-मार्केट प्लेस जेम(GeM), राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम (एनएसआईसी), नेशनल एससी/एसटी हब (एनएसएसएच), एम1 एक्सचेंज तथा इनवॉयस मार्ट द्वारा भी प्रेजेन्‍टेशन दी गईं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  +  52  =  53