प्रदेश में RTPCR रिपोर्ट की अनिवार्यता खत्म, राठौर बोले: प्रदेश के लिए हो सकता है बड़ा खतरा साबित

प्रदेश में उप चुनावों में भाजपा को मिली करारी हार के बाद मुख्यमंत्री जल्दबाजी में : राठौर

… अधिकारियों पर दबाव बना कर उन्हें डराने की कोशिश की जा रही है  

कहा-कोविड वैक्सीन के लिए सरकार नहीं गंभीर, आंकड़े जुटाने के लिए कर रही टीकाकरण

शिमला: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा है कि कांग्रेस प्रदेश में अपना सदस्यता अभियान मार्च के अंत तक पूरा कर लेगी।उन्होंने कहा है कि पहले चरण में प्रत्येक ब्लॉक को  एक एक हजार सदस्य फॉर्म दिए गए है।उन्होंने कहा है पार्टी में सच्चे और निष्ठावान लोगों शामिल हो,यह सुनिश्चित किया जाएगा।

आज यहां राजीव भवन में पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में राठौर ने कहा कि प्रदेश में जन जागरण अभियान सफलता से आगे बढ़ रहा है।उन्होंने कहा कि अभी तक उन्होंने 6 जिलों में इस अभियान के तहत उन विधानसभा क्षेत्रों में पद यात्रा की है जहां पिछले कई सालों से पार्टी जीत नहीं रही है।उन्होंने कहा कि इस बार इन क्षेत्रों में बड़ी मजबूती के साथ इन क्षेत्रों में चुनाव जीतेगी।

राठौर ने कहा कि अब वह दूसरे चरण में मंडी कुल्लू व हमीरपुर जिलों के उन क्षेत्रों में पद यात्राएं करेंगे,जहां कांग्रेस हारी है।प्रदेश में ऐसे 22 चुनाव क्षेत्रों की ओर उनका मुख्य फोकस है।

राठौर ने कहा कि प्रदेश में चार उप चुनावों में भाजपा को मिली करारी हार के बाद मुख्यमंत्री जल्दबाजी में है।उन्होंने कहा कि अपने इस कार्यकाल में चार सालों तक उन्होंने कुछ नहीं किया,अब एकाएक अधिकारियों पर दबाव बना कर उन्हें डराने की कोशिश की जा रही है।

राठौर ने कहा कि भाजपा के अंदर खाते बहुत उथल पुथल चल रही है। इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है।उनके वरिष्ठ नेता जो कल तक पार्टी का गुणगान करते नहीं थकते थे, अब खुल कर अपनी घुटन बयां करने लगे हैं।

राठौर ने आरोप लगाया कि भाजपा हमेशा ही किसान बागवान विरोधी रही है।उन्होंने कहा कि किसानों ने मोदी सरकार को झुकने पर मजबूर कर दिया।उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसानों बागवानों को खाद नहीं मिल रही है।बागवानों को न तो कीट नाशक ही मिल रहे है और न ही फफूंद नाशक।बागवानों का  बकाया भुगतान भी यह सरकार नही कर रही है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन को लेकर फर्जी आंकड़े जुटाए जा रहें है,जबकि देश मे बहुत बड़ी आबादी अभी भी वैक्सीन से महरूम है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *