शिमला: जंगल में मिले पांच साल के मासूम के अवशेष…

शिमला: राजधानी शिमला के पुराने बस स्टैंड के साथ लगते डाउनडेल इलाके से दिवाली रात गायब हुए पांच साल के मासूम के अवशेष तीसरे दिन साथ लगते जंगल में मिले हैं। दिवाली की रात तेंदुआ बच्चे को उठा ले गया था, जिसके अवशेष आज रामनगर जंगल में नाले के पास मिले हैं। हालांकिपुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही इस पर स्थिति स्पष्ट हो पाएगी कि क्या सभी अवशेष गायब बच्चे के हैं या किसी और के। योगराज पुत्र केदारनाथ डाउनडेल में मंदिर के पास बने एक कच्चे मकान में परिवार के साथ रहता था।

गुरुवार रात आठ बजे योगराज पड़ोसी के एक बच्चे के साथ घर के आंगन में खेल रहा था। दोनों फुलझड़ियां जला रहे थे कि अचानक किसी ने बच्चे को उठा लिया। मां ने आसपास के लोगों को बताया। पिता समेत आसपास के लोग तुरंत निचली ओर जंगल में दौड़े और बच्चे की तलाश शुरू की। घर से थोड़ी दूर बच्चे की पेंट मिली जो फटी हुई नहीं थी। वहीं, खून के धब्बे भी मिले। एक घंटे तक जब बच्चे का पता नहीं चला तो लोगों ने पुलिस को सूचना दी। रात करीब 10 बजे वन्यजीव विभाग को सूचना दी गई। पुलिस और वन्यजीव विभाग की टीमों ने रात को सर्च ऑपरेशन शुरू किया, लेकिन सुराग नहीं लगा। पुलिस ने एनएच किनारे चल रहे ढाबों में भी पूछताछ की। इसके बाद शुक्रवार को भी सर्च ऑपरेशन चला। अब तीसरे दिन बच्चे का शव जंगल से बरामद हुआ है। परिवार सोलन जिले के अर्की से संबंध रखता है। पिता चालक हैं। 

लोगों द्वारा ये कयास लगाए जा रहे थे कि बच्चे को तेंदुआ उठा ले गया है। हालांकि अभी यह पुष्टि नहीं हो पाई है कि बच्चे को तेंदुआ ले गया था। बहरहाल, बच्चे का शव जंगल से बरामद हुआ है पुलिस का कहना है कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाएगा और उसके बाद ही इस बात की पुष्टि हो सकेगी कि बच्चे को तेंदुआ उठा ले गया था या नहीं। 

 बता दें कि इससे पहले भी अगस्त महीने में भी शिमला के कनलाेग में एक तेंदुआ बच्ची को उठाकर ले गया था।   

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18  −    =  15